Bhilai Times

VIDEO: अमेरिका में हिन्दी USA सेंट लुईस हिन्दी पाठशाला में सेलिब्रेट किया गया 75वां गणतंत्र दिवस; ‘ऐ मेरे प्यारे वतन’ से गूंज उठा हॉल… तिरंगा झंडा फहराने के बाद बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति भी दी, भारतीय स्कूल की तरह बच्चों को बांटे गए स्नैक्स

VIDEO: अमेरिका में हिन्दी USA सेंट लुईस हिन्दी पाठशाला में सेलिब्रेट किया गया 75वां गणतंत्र दिवस; ‘ऐ मेरे प्यारे वतन’ से गूंज उठा हॉल… तिरंगा झंडा फहराने के बाद बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति भी दी, भारतीय स्कूल की तरह बच्चों को बांटे गए स्नैक्स

सेंट लुईस, USA। हिन्दी यूएसए सेंट लुईस हिन्दी पाठशाला के लगभग 200 सदस्यों ने भारत के 75वें गणतंत्र दिवस को बहुत उत्साह और देशभक्ति की भावना के साथ मनाया। सदस्यों मे विद्यार्थी, शिक्षक और अभिभावक जुड़े। कार्यक्रम की शुरुआत तिरंगा झंडा फहराने से हुई, तिरंगा झंडा फहराने के उपरान्त S1 के छोटे-छोटे छात्रों ने देशभक्ति के गीत पर नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं दूसरी और S2 के छात्रों ने ‘सारे जहां से अच्छा’, ‘हम होंगे कामयाब’, और ‘नन्हा मुना रहू हूं’ जैसे राष्ट्रभक्ति गीत सुना कर मंत्र मुग्ध कर दिया। इसी क्रम में हिन्दी पाठशाला की अध्यापिका रितु महेश्वरी ने अपने राष्ट्रभक्ति गीत ‘ऐ मेरे प्यारे वतन’ गा कर समा बांधा। यह कार्यक्रम फेसबुक पर भी लाइव स्ट्रीम किया गया था, जिससे ऑनलाइन दर्शक भी इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का हिस्सा बन सके।

कार्यक्रम का संचालन पाठशाला की सहसंचालिका डॉ.अंशु जैन और विशेष संबोधन मयंक जैन द्वारा किया गया। अपने संबोधन में उन्होंने निम्न बिन्दुओ पर प्रकाश डाला, हिंदी यूएसए सेंट लुइस 2018 से समुदाय की सेवा कर रहा है लेकिन गत वर्ष हमें बहुत कुछ पहली बार करने का मौका मिला। जैसे पहली बार हमने दीपावली और नवरात्रि का उत्सव मनाया, पहली बार हिन्दी पाठशाला ने भारतीय समुदाय के बाहर बहु-जातीय चैम्बर ऑफ कॉमर्स में भाग लेकर और लाड्यू हॉर्टन हाई स्कूल में एक स्टॉल लगाकर हिंदी स्कूल, भाषा, और संस्कृति को प्रदर्शित किया, सेंट लुईस पब्लिक रेडियो पर स्कूल के बारे में बात करने के लिए पहली बार हिन्दी यूएसए सेंट लुईस हिन्दी पाठशाला के संस्थापक मयंक को आमंत्रित किया गया था।

मयंक का दृष्टिकोण है कि सेंट लुइस के विद्यालयो में हिंदी भाषा को एक विषय रूप में शामिल किया/शिक्षण किया जाए जिसके लिए पहली बार हम पार्कवे स्कूल के सुपरइंटेंडेंट डॉ.मार्टी के साथ जुड़ सके। पहली बार, पिछले वर्ष (2023) से छात्रों की संख्या 128 से बढ़ाकर 176 हो गयी साथ ही साथ, इस वर्ष सैंट लुईस पाठशाला ने घोषणा की है कि हिंदी स्कूल ने सेंट लुईस मोजैक प्रोजेक्ट (https://www.stlmosaicproject.org) के साथ साझेदारी की है, जो सेंट लुईस आर्थिक विकास और विश्व व्यापार केंद्र ( World Trade Center) का हिस्सा है।

कार्यक्रम में छात्रों ने अपने रचनात्मक परियोजनाओं और उनके रंगीन कलात्मक कौशलों को प्रदर्शित किया। भारतीय विद्यालयों की परंपरा को कायम रखते हुए सभी छात्रों को स्नैक्स (नाश्ता) वितरित किये गये।हाथ में तिरंगा लिए बच्चे देश भक्ति की भावना का अनुभव कर रहे थे। प्रतीक बच्चे के हाथ में तिरंगा अपने गौरवशाली इतिहास को दोहरा रहा था। कार्यक्रम के प्रमुख कार्यकर्ता रहे वीनिता सिंह, सारिका गौबा, क्राति अग्रवाल, कपिल खत्री, नेहा विजय, शालिनी शर्मा, शुचि खंडेलवाल, चेतन शाह, अंजना किनी, केसी पाठक, आकाश जैन, पायल जैन, सुगंध सिंघवी, और हर्षा अग्रवाल।

हिंदी-यूएसए सेंट लुइस मध्यवर्ती अमेरिका की सबसे बड़ी पंजीकृत गैर-लाभकारी हिंदी-पाठशाला है जिसमे 176 बच्चे हिन्दी पढ़ना, लिखना, और बोलना सीखते हैं और इसका उद्देश्य अमेरिका में हिंदी भाषा और भारतीय सांस्कृतिक के ज्ञान का प्रसार करना है। अधिक जानकारी के लिए आप इनके यूट्यूब चैनल https://youtube.com/@HindiUSA-SaintLouis?feature=shared और फ़ेसबुक पेज www.Facebook.com/HindiUSASTL को सब्सक्राइब/फॉलो कर सकते है। इसके अलावा आप इनके इंस्टाग्राम से भी जुड़ सकते हैं।


Related Articles