कांग्रेस नेत्री और जामुल पालिका अध्यक्ष का ऑडियो वायरल...बिल्डिंग परमिशन के लिए पैसे मांगने का लगाया आरोप, जोगी कांग्रेस ने धरना दिया, पढ़िए पालिका अध्यक्ष ने क्या कहा...

कांग्रेस नेत्री और जामुल पालिका अध्यक्ष का ऑडियो वायरल...बिल्डिंग परमिशन के लिए पैसे मांगने का लगाया आरोप, जोगी कांग्रेस ने धरना दिया, पढ़िए पालिका अध्यक्ष ने क्या कहा...  

October 15, 2020

जामुल। नगर पालिका परिषद जामुल में आज जोगी कांग्रेस ने प्रदर्शन किया। जोगी कांग्रेस के नेताओं का आरोप है कि कथित ऑडियो में पालिका अध्यक्ष सरोजनी चंद्राकर की आवाज है। जिसमें वो एक आवेदक से बिल्डिंग परमिशन के नाम पर पैसे मांग रही है। हालांकि इस ऑडियो की पुष्टि हम नहीं करते। लेकिन इसे लेकर आज एक घटनाक्रम हुआ। नगर पालिका परिषद जामुल के वार्ड-17 के पार्षद युवराज वैष्णव ने मोर्चा खोल दिया है।

युवराज ने कहा है नगर पालिका अध्यक्ष सरोजनी चंद्राकर के खिलाफ एफ.आई.आर करवाने की मांग की मुख्यमंत्री के पुराने विधायकी क्षेत्र व वर्तमान उनके निवास से लगे नगर पालिका में इस प्रकार का भ्रष्टाचार लगातर उनकी नाक के नीचे हो रहा है। एक ओर कांग्रेस पार्टी के राहुल गाँधी न्याय योजना की बात करते है और उनके ही पार्टी की नगर पालिका अध्यक्ष यहां लोगों के साथ अन्याय कर रही है....
युवराज ने कहा यदि कांग्रेस पार्टी वास्तव में न्याय का साथ देती है तो तुरंत ऐसी भ्रष्टाचारी महिला को पार्टी से व पद से बर्खास्त करें। मांग पूरी न होने की स्थिति में कल कलेक्ट्रेट दुर्ग में वे उसके बाद मुख्यमंत्री आवास के बाहर नगर वासियों द्वारा धरना प्रदर्शन करेंगे।

जोगी कांग्रेस के युवराज और ईश्वर उपाध्याय ने कहा नगर पालिका परिषद जामुल की अध्यक्ष द्वारा पुनीत साहू नामक नगरवासी के साथ बिल्डिंग परमिशन के नाम पर 23000 रुपये के लेन-देन व रुपये लेकर भी लगातर घूमाने और काम न करवा पाने के कारण पैसे वापस मांगने पर कैसे काम करवाओगे कौन करेगा आप का काम इस प्रकार की धमकी देने का ऑडियो क्लिप होने के कारण अब पुनीत साहू द्वारा एफ.आई.आर करवाने की माँग की गयी।

नगर पालिका परिषद जामुल के नागरिकों द्वारा पार्षद युवराज वैष्णव के नेतृत्व में युवा जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ जे के संभाग अध्यक्ष ईश्वर उपाध्याय , विनय साहू, अभिषेक शर्मा, छात्रसंगठन के विधानसभा अध्यक्ष संजय गुरूपंच, शक्ति कुमार, अमन नारंग, दीपक मिश्रा, रूपेश यादव, अंकित की मौजूदगी में नगर पालिका परिषद जामुल के मुख्य नगर अधिकारी व जामुल थाना के उप निरक्षक धरम सिंग मंडावी को कलेक्टर दुर्ग के नाम पर ज्ञापन सौंप जल्द से जल्द एफ.आई.आर करने और निष्पक्ष जाँच की मांग की।

इस मामले में पालिका अध्यक्ष सरोजनी चंद्राकर ने कहा कि -

"मैंने कोई रिश्वत नहीं ली है। वह सरकारी शुल्क का पैसा है। बिल्डिंग परमिशन का जो शुल्क पालिका में लगता है। वही शुल्क उसने मुझे दे दिया था कि पालिका में जमा करने। मैंने अपने घर के लिए पैसे नहीं मांगे। दफ्तर नहीं खुलने के कारण लेट हुआ था। पालिका से उसे रशीद भी दी जाती। सरोजनी ने कहा कि राजनीतिक द्वेश में आकर इस तरह का आरोप लगाना ठीक नहीं है। " 



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...