भिलाई और रायपुर से पकड़े गए ड्रग्स पैडलर्स के कनेक्शन मुंबई-गोवा से...वाट्सएप चैट से कई खुलासा

भिलाई और रायपुर से पकड़े गए ड्रग्स पैडलर्स के कनेक्शन मुंबई-गोवा से...वाट्सएप चैट से कई खुलासा  

October 17, 2020

रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस ड्रग्स और नशे का गोरखधंधा करने वालों पर लगातार कार्रवाई कर रही है। रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब इनका कनेक्शन मुंबई और गोवा के पैडलर्स से जुड़ गए हैं। यहां गिरफ्तार पैडलर्स के छह माह काॅल और चैट डीटेल्स की पड़ताल में पुलिस को मुंबई-गोवा के 3 बड़े पैडलर के नंबर मिल गए हैं, जो यहां ड्रग्स सप्लाई करनेवालों के लगातार संपर्क में थे। यह सारी काॅल और चैटिंग 28 सितंबर के बाद से बंद है। बातचीत इंटरनेट काॅल पर भी हुई है।

रायपुर पुलिस ने अब इन तीनों नंबरों पर फोकस कर लिया है। इस मामले में पुलिस नशे के मूल कारोबार के स्त्रोत तक जाने की तैयारी कर रही है। एसएसपी अजय यादव ने बताया कि ड्रग्स मामले की जांच के लिए प्रशिक्षु आईपीएस अंकिता शर्मा के नेतृत्व में टीम बनाई गई है। यह टीम आधा दर्जन बिंदुओं पर काम कर रही है।

तकनीकी जांच में लगाई गई टीम आरोपियों के मोबाइल फोन की जांच कर रही है। दूसरी टीम सीधे जांच और गिरफ्तारियों पर फोकस है। यही टीम पकड़े गए पैडलर्स और ड्रग्स का इस्तेमाल करनेवालों से पूछताछ भी कर रही है और मिली जानकारियों पर छापे मार रही है। यही टीम कार्रवाई के लिए जल्द ही मुंबई और गोवा भेजी जा सकती है। इसके अलावा लोकल कनेक्शन पर एक और टीम लगी है, जो रोजाना तीन-चार लोगों से पूछताछ कर रही है, जो गिरफ्तार पैडलर्स के संपर्क में थे।



तीन पैडलर की पुलिस को तलाश: पुलिस रायपुर के तीन पैडलर की तलाश कर रही हैं, जिनका श्रेयांस और विकास से सीधा कनेक्शन हैं। तीनों युवक फरार है। पुलिस ने उनकी तलाश में कई जगह छापे भी मारे गए, लेकिन तीनों नहीं मिले। पुलिस को रायपुर-भिलाई की दो युवतियों का ड्रग्स मामले में सीधा कनेक्शन मिला है। सोशल मीडिया में आरोपियों के साथ फोटो भी वायरल हो रही है। पुलिस दोनों युवतियों के खिलाफ सबूत जुटा रही है। पुख्ता सबूत मिलने पर पुलिस दोनों युवतियों पर कार्रवाई करेगी। इस मामले में 40 से ज्यादा लोगों की भूमिका की जांच की जा रही हैं।


गोवा पुलिस ने नहीं किया संपर्क

इस मामले में दैनिक भास्कर ने गोवा पुलिस के एक अधिकारी से बातचीत की। उन्होंने बताया कि गोवा में ड्रग्स की स्मगलिंग विदेशी ही कर रहे हैं। लोकल लोग एजेंट या पैडलर के रूप में ही काम करते हैं। गोवा पुलिस हर साल 15 करोड़ से ज्यादा का ड्रग्स पकड़ रही है। जो लोग बाहर से ड्रग्स खरीदने आते हैं, वह भी गिरफ्तार होते हैं। हालांकि गोवा पुलिस का कहना है कि अभी रायपुर पुलिस ने उनसे संपर्क नहीं किया है। गोवा के अफसरों ने बताया कि नाइजीरियन समेत कई विदेशी गिरोह ड्रग्स के काम में लगे हैं। ये गिरोह होटल-रेस्टोरेंट में सक्रिय हैं और बाहरी लोगों को ही पावडर बेचते हैं।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...