Click to Get Latest Covid Updates

BSP अपने फिल्टर प्लांट को करेगा अपग्रेड, काम करने के लिए एजेंसी को करेगा आमंत्रित...टाउनशिप की दुकानों और बिजली व्यवस्था को लेकर भी कई निर्देश

BSP अपने फिल्टर प्लांट को करेगा अपग्रेड, काम करने के लिए एजेंसी को करेगा आमंत्रित...टाउनशिप की दुकानों और बिजली व्यवस्था को लेकर भी कई निर्देश  

July 15, 2021

भिलाई। आज भिलाई निगम परिसर में कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे की अध्यक्षता में जिला प्रशासन एवं बीएसपी प्रबंधन के अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में कलेक्टर ने बीएसपी टाउनशिप में शुद्ध पेयजल के लिए फिल्टर प्लांट को अपग्रेड करने संबंधी कोशिशों के बारे में बीएसपी प्रबंधन से पूछा।


प्रबंधन ने बताया कि फिल्टर प्लांट को अपग्रेड करने एवं इसके आधुनिकीकरण के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। पुराने फिल्टर की जगह के पास ही इसे विस्तारित किया जाएगा।

इसके लिए ईओआई( एक्सप्रेशन आफ इंटरेस्ट) दो-तीन दिनों में जारी हो जाएगा। इसके पश्चात जल्द ही इस पर कार्य आरंभ हो जाएगा।

आज की बैठक में नगर निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी तथा जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता सुरेश पांडेय भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि कल ही उन्होंने मरोदा टैंक का भ्रमण किया है। मरोदा टैंक में जलभराव अभी जरूरतों के मुताबिक पर्याप्त है तथा पानी भी काफी साफ है।

कलेक्टर ने कहा कि फिल्टर प्लांट के अपग्रेडेशन के दीर्घकालीन प्रोजेक्ट के साथ ही वर्तमान के लिए भी ऐसे त्वरित कार्य करें ताकि लोगों को शुद्ध पेयजल में किसी तरह  की परेशानी न आए। बैठक में अपर कलेक्टर सुश्री नूपुर राशि पन्ना भी मौजूद थीं।


टाउनशिप की बिजली व्यवस्था और दुकानों की हाइट बढ़ाने पर भी हुई चर्चा
कलेक्टर ने टाउनशिप में बिजली आपूर्ति के संबंध में भी प्रबंधन से चर्चा की। इस संबंध में आपूर्ति भविष्य में सीएसपीडीसीएल से किये जाने के संबंध में चर्चा हुई। साथ ही दुकानों की ऊंचाई 14 फ़ीट से 28 फ़ीट किये जाने के विषय पर भी चर्चा हुई।

डेंगू नियंत्रण पर क्या कर रहे
कलेक्टर ने बीएसपी प्रबंधन से डेंगू नियंत्रण के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी भी ली। प्रबंधन ने बताया कि इसके लिए 120 सदस्यों की टीम बनाई गई है जो घर-घर जाकर डेंगू के लारवा की जांच कर रही है।

अभी तक 56 हजार घरों में जाँच की जा चुकी है। इसमें से कुछ घरों में लार्वा निकला है। इन्हें नष्ट करने की कार्रवाई मौके पर ही की जा रही है। सभी घरों में टैमीफास वितरित किया गया है। कलेक्टर ने कहा कि डेंगू पर नियंत्रण सर्वोच्च प्राथमिकता है।


विकास कार्यों के लिए स्थल पर चर्चा
कलेक्टर ने विभिन्न विकास योजनाओं के लिए जमीन और भवन के संबंध में भी प्रबंधन से चर्चा की। इसमें सेक्टर-4 में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के लिए चर्चा हुई। साथ ही पौनी पसारी योजना के लिए जगह उपलब्ध कराने एवं शहरी गौठान के लिए आवश्यक भूमि उपलब्ध कराने के संबंध में चर्चा हुई।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...