छत्तीसगढ़ के पहले मदर्स मार्किट का मुख्यमंत्री भूपेश ने किया लोकार्पण: भिलाई के सी-मार्ट में ठेठरी खुरमी खरीदकर पहले ग्राहक बने सीएम… सेफ ड्रिंकिंग वॉटर क्लीनिक का लोकार्पण भी किया

भिलाई। राज्य में उत्पादित बेहतरीन और अनूठी सामग्रियों के एक ही स्थान पर विक्रय की उपलब्धता की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप दुर्ग जिले में सीमार्ट स्थापित हो गया है। आज भिलाई में इसका लोकार्पण मुख्यमंत्री ने किया। इस मौके पर उन्होंने सी-मार्ट का अवलोकन किया। यहां स्वसहायता समूहों की महिलाओं के उत्पाद देखे और उनसे चर्चा की। उन्होंने कहा कि आप लोग अच्छी सामग्री बनाते हैं गुणवत्ता का ध्यान रखते हैं। अब आपको अपने उत्पादों के लिए बड़ा बाजार मिल गया है। आपको इसके अच्छे दाम भी मिलेंगे। इस मौके पर प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर भी उपस्थित थे।

विधायक देवेंद्र यादव और महापौर नीरज पाल ने मुख्यमंत्री को बताया कि सी-मार्ट का लोकेशन शानदार होने की वजह से और यहां विविध वैरायटी होने की वजह से लोगों को गुणवत्तायुक्त सामग्री सस्ते दामों पर मिल सकेगी। विधायक यादव ने बताया कि प्रदेश भर से सबसे अच्छा काम कर रही एसएचजी के उत्पादों को चुना गया है। अभी 719 प्रकार की सामग्री यहां उपलब्ध है। कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने विस्तार से मुख्यमंत्री को सी-मार्ट परिसर की जानकारी दी।

बस्तर का जैविक चावल देखा मुख्यमंत्री ने- मुख्यमंत्री ने सी-मार्ट परिसर में विक्रय के लिए रखी गई सामग्री को देखा। उन्होंने जैविक सुगंधित चावल पर विशेष रूप से प्रसन्नता जताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर क्षेत्र के सुगंधित चावल की डिमांड बहुत होती है। अब चूंकि यह जैविक चावल भी है अतएव इसका अच्छे रेट उत्पादकों को मिलेगा। मुख्यमंत्री को चावल की अनेक प्रजातियां दिखाई गईं जिनका जैविक तरीके से उत्पादन होता है। इनमें देवभोग, बबईबूटा, दूबराज, रेड राइस आदि प्रमुख हैं। मुख्यमंत्री ने कोंडागांव की कूकीज भी देखी। इसमें कोकोनट कूकीज, रागी कूकीज, तिखूर ड्राईफ्रूट आदि उन्होंने देखा।

हथकरघा और शबरी के उत्पाद भी- छत्तीसगढ़ का हस्तशिल्प शहरों में काफी बिकता है। सी-मार्ट में विविध वैरायटी के हथकरघा शामिल हैं। इसमें चांपा की कोसा साड़ी की अनेक वैरायटी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हथकरघा का संकलन बहुत अच्छा है। उत्पादकों को सी-मार्ट के रूप में अच्छा बाजार मिल जाएगा।

सीधे बाजार तक मिली पहुंच- मुख्यमंत्री ने पूरे परिसर का निरीक्षण करने के बाद कहा कि हमारी एसएचजी समूह की महिलाओं का काम बहुत अच्छा है। इसकी झलक इस पूरे परिसर में दिख रही है। सी-मार्ट की स्थापना से अब इनकी पहुंच सीधे बाजार तक हो सकेगी। गुणवत्तायुक्त सामग्री किफायती दामों में मिलने से यहां बिक्री बढ़िया होगी।

वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के भिलाई में सेफ ड्रिंकिंग वाटर क्लीनिक का लोकार्पण किया। वॉटर क्लीनिक के माध्यम से भिलाई की 10 हजार की आबादी को आर ओ युक्त वाटर की सुविधा मिल सकेगी। इस क्लीनिक की क्षमता 25000 लीटर प्रतिदिन की है और प्रत्येक घंटे 5000 लीटर वाटर फिल्टर किया जा सकता है। इसके लिए रिवर्स ऑस्मोसिस टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा। टीडीएस को मेंटेन करने के लिए हाईटेक टेक्नोलॉजी का भी उपयोग होगा। जो व्यर्थ का पानी होगा वह गार्डन में यूज हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि शुद्ध पेयजल लोगों की बुनियादी आवश्यकता है। इस संबंध में नगरीय क्षेत्रों में सतत इंफ्रास्ट्रक्चर खड़े किए जा रहे हैं और इस दिशा में सेफ ड्रिंकिंग वॉटर क्लीनिक जैसी पहल महत्वपूर्ण साबित होगी। उल्लेखनीय है कि इसका संचालन भारत सेवाश्रम संघ के द्वारा किया जा रहा है। इस दौरान विधायक देवेंद्र यादव ने प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से मुख्यमंत्री को जानकारी दी। इस अवसर पर महापौर नीरज पाल सहित अन्य अतिथिगण, स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में सरेराह चौक में मर्डर: गैंगस्टर मंत्री यादव...

दुर्ग। दुर्ग में एक बार फिर से हत्या का मामला सामने आया है। ये मामला गैंगवार का लग रहा है। कल रात दुर्ग शहर...

भीषण गर्मी में पक्षियों के लिए ये पहल अच्छी…...

भिलाई। ऊर्जा फाउंडेशन भिलाई द्वारा भीषण गर्मी में पक्षियों की फिक्र करते हुए मिट्टी के सकोरा का वितरण किया जा रहा है। चेयरमैन सरिता...

दुर्ग में ट्रैक्टर से अलग हुई ट्रॉली… हादसे में...

दुर्ग। दुर्ग जिले में हादसों का दौर जारी है। अहिवारा में मॉर्निंग वॉक पर निकले बुजुर्ग दंपति को ट्रैक्टर ने अपने चपेट में ले...

4 को लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती: छत्तीसगढ़...

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रत्याशियों एवं निर्वाचन अभिकर्ताओं को उपलब्ध कराया जाएगा कैल्कुलेटर रायपुर। 4 जून को लोकसभा चुनाव का मतगणना होना है। इसी कड़ी...

ट्रेंडिंग