‘हाथ जोड़ो अभियान’ के दिल्ली प्रभारी का छत्तीसगढ़ आगमन: मदन झा बोले – पदयात्रा के बाद राहुल गांधी को पूरे देश ने स्वीकार कर लिया है… कांग्रेस नेता के.के. झा के निवास पर पत्रकारों से चर्चा

भिलाई नगर। कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे ‘हाथ जोड़ो अभियान’ के दिल्ली प्रभारी एवं बिहार के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व मंत्री डॉ. मदन मोहन झा ने कहा है कि 2024 के लोकसभा चुनाव में बदलाव के लिए इस देश की जनता मन बना चुकी है। जहां तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबले की बात है तो आज की तारीख में राहुल गांधी की ऊंचाई वाला नेता कोई नहीं है। वे न केवल कांग्रेस के सर्वमान्य नेता है बल्कि पूरे देश ने उन्हें स्वीकार कर लिया है।

कांग्रेस के 85 वें राष्ट्रीय अधिवेशन में भाग लेने आए डॉ. झा शनिवार को उद्योगपति एवं कांग्रेस नेता के.के. झा के नेहरू नगर स्थित निवास पर पारिवारिक दौरे पर पहुंचे थे। यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने राहुल गांधी की छवि को बिगाड़ने के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च किए। लेकिन राहुल गांधी ने देश की 38 सौ किलोमीटर यात्रा कर अपना जवाब दे दिया है। अब जनता उनके खिलाफ कोई भी बात सुनने को तैयार नहीं है।

विपक्ष में तालमेल के अभाव का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कहीं कोई मतभेद नहीं है। सभी लोग एक साथ बैठेंगे विचार-विमर्श करेंगे तो जरूर कोई अच्छा निर्णय आएगा। जहां तक प्रधानमंत्री की बात है तो न ही राहुल गांधी ने कभी प्रधानमंत्री की दावेदारी की है और न ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने। नीतीश कुमार ने तो स्पष्ट कहा है कि उन्हें प्रधानमंत्री पद में कोई दिलचस्पी नहीं है। वे तो बस भाजपा को देश की सत्ता से हटाना चाहते हैं।

राजधानी रायपुर में चल रहे अधिवेशन का आने वाले चुनाव में क्या असर होगा इस प्रश्न पर उनका कहना था कि कई संविधान संशोधन होने हैं। राहुल गांधी ने यात्रा में लाखों लोगों से मुलाकात की है और उन्होंने जमीनी स्तर पर लोगों की समस्याओं को देखा है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि अधिवेशन के अंतिम दिन संविधान में कई संशोधन होंगे। साथ ही कई नई योजनाओं को रूप दिया जाएगा। जहां तक पदयात्रा का सवाल है आने वाले समय में इस तरह की यात्राएं चलती रहेंगी। राहुल गांधी ने कहा है कि इससे भी बड़ी-बड़ी योजनाएं उनके पास है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि जो देखा उससे स्पष्ट है कि भूपेश बघेल जमीनी स्तर के नेता है। काफी सरल है और जमीनी स्तर के लोगों से सीधे बात करते हैं। इसके अलावा उन्होंने पिछले 4 वर्षों में जो काम किए हैं उसे देखते हुए यह कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं कि पूरे देश में छत्तीसगढ़ राज्य अव्वल है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

छत्तीसगढ़ में साय कैबिनेट के अहम फैसले: छत्तीसगढ़ बेवरेज...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय महानदी भवन में कैबिनेट की बैठक आयोजित की गई। बैठक में...

सीनियर IPS ऑफिसर रतन लाल डांगी बने डॉक्टर: हेमचंद...

रायपुर, दुर्ग। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग के शोधार्थी स्तन लाल डांगी (वरिष्ठ आई. पी. एस) ने आज विश्वविद्यालय के टैगोर हॉल में अपने शोध-प्रबंध...

कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्री पद से बृजमोहन अग्रवाल...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है। साय कैबिनेट की बैठक चल रही थी इसी दौरान्बृजमोहन...

नई दिल्ली में रिपब्लिक डे परेड में शामिल कैडेट्स...

अनुशासन, साहस और निस्वार्थ भाव से सेवा के लिए प्रेरित करता है एनसीसी: मुख्यमंत्री विष्णु देव साय रायपुर। नई दिल्ली में रिपब्लिक डे परेड में...

ट्रेंडिंग