आने वाले 100 दिन दुर्ग जिले को कोरोनामुक्त बनाने अहम...कलेक्टर डॉ. भुरे ने जारी किया महत्वपूर्ण आदेश, अगर इसका पालन नहीं किया तो FIR भी होगी, 15 दिनों के लिए दुकान होंगे सील, पढ़िए आज का आदेश

आने वाले 100 दिन दुर्ग जिले को कोरोनामुक्त बनाने अहम...कलेक्टर डॉ. भुरे ने जारी किया महत्वपूर्ण आदेश, अगर इसका पालन नहीं किया तो FIR भी होगी, 15 दिनों के लिए दुकान होंगे सील, पढ़िए आज का आदेश  

October 13, 2020

भिलाई। दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने मंगलवार को एक महत्वपूर्ण आदेश जारी किया है। आदेश में मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग व प्रोटोकाल का पालन कड़ाई से पालन कराने के संबंध में निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा है कि बार-बार नियमों का उल्लंघन होने पर एफआईआर भी हो सकती है। वहीं व्यापारी अगर बार-बार नियमों को तोड़ता है तो दुकान सील करने की कार्रवाई भी होगी। 13 अक्टूबर को जारी अपने आदेश में कलेक्टर ने कहा,
नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को देखते हुये स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्रालय महानदी भवन, नवा रायपुर अटल नगर के द्वारा दिनांक 17.07.2020 को अधिसूचना जारी कर चित्र निर्देश जारी किये गये हैं। राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किये जाने की दशा में महामारी रोग अधिनियम 1897 के अधीन निर्मित विनियम के तहत जुर्माना अधिरोपित किये जाने, जुर्माने की राशि की वसूली एवं जुर्माना अदा न करने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति के विरूद्ध महामारी रोग अधिनियम 1897 के अधीन निर्मित विनियम 2020 के विनियम 14 एवं भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 के अंतर्गत दण्डात्मक कार्यवाही किया जाना प्रावधानित किया गया है। अधिसूचना के परिपेक्ष्य में महामारी रोग अधिनियम 1897 के प्रावधानों के अधीन कोविड-19 के संक्रमण व प्रसार को रोकने के लिए मास्क अभियान चलाया जाना आवश्यक है। अगले 100 दिन जिले के लिये संवेदनशील है। पर्व और त्यौहार का समय होने के कारण भीड़ भाड़ बढ़ने तथा मास्क उपयोग न किये जाने की दशा में कोविड-19 पॉजीटिव मरीजों की संख्या में पुन गुणात्मक वृद्धि की आशंका है, जो कि वांछित नहीं है।

अतः आयुक्त नगर निगम, एस.डी.एम, एस.डी.ओ.पी. टीम गठित कर नियमानुसार चालानी कार्यवाही करें तथा मास्क न लगाने वालों से चालान लेकर उन्हे मास्क भी वितरित किया जाये। निगम क्षेत्र में स्व सहायता समूहों से उक्त कार्य हेतु मास्क कय किये जा सकता है। चालान से वसूल की गई राशि में से उन्हें मास्क क्या की राशि भुगतान की जावे। शेष राशि निगम चालान के माध्यम से निर्धारित मद में जमा कराएंगे। जुर्माने की राशि वसूली किये जाने हेतु अपने क्षेत्राधिकार अंतर्गत सर्व निगम आयुक्त, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी, उप पुलिस अधीक्षक, सर्व तहसीलदार/सर्व नायब तहसीलदार सर्व नगर पुलिस अधीक्षक, सर्व पुलिस निरीक्षक को प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया जाता है।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...