Click to Get Latest Covid Updates

दुर्ग कोरोना अपडेट: आज जिले में सबसे ज्यादा सैंपल की जांच...बावजूद नए मरीजों की संख्या कल से कम, एक ही दिन में 11% कम हुआ पॉजिटिविटी रेट

दुर्ग कोरोना अपडेट: आज जिले में सबसे ज्यादा सैंपल की जांच...बावजूद नए मरीजों की संख्या कल से कम, एक ही दिन में 11% कम हुआ पॉजिटिविटी रेट  

April 20, 2021

भिलाई। दुर्ग जिले में आज छह हजार के करीब कोरोना सैंपल की जांच हुई। राहत की बात ये है कि नए मरीजों के आंकड़े में कल से कमी है। वहीं पॉजिटिविटी रेट भी एकदम से कम हुआ है। मेडिकल बुलेटिन की माने तो एक ही दिन में 5736 कोरोना सैंपल की जांच की गई। इनमें से 1680 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पॉजिटिविटी रेट 29.28% के आसपास है। कल 40% पॉजिटिविटी रेट था। एक ही दिन में 11% पॉजिटिविटी रेट कम होने से प्रशासन ने थोड़ी राहत की सास ली है। चिंता की बात ये है कि कोरोना से 23 लोगों की मौत हुई है।



पहली बार 29% पॉजिटिविटी रेट
जिले के लिए आज के कोरोना आंकड़े संक्रमण के रोकथाम को लेकर सकारात्मक संदेश दे रहे हैं। आज रिकॉर्ड 5736 मरीजों के सैंपल लिए गए इनमें 1680 मरीजों का पॉजिटिव आया है। इनमें इस तरह संक्रमण की दर 29 फीसदी दर्ज की गई है उल्लेखनीय है कि संक्रमण की दर 10 अप्रैल को 56 फीसदी तक पहुंच गई थी।

इस लिहाज से आज के आंकड़े काफी महत्वपूर्ण है। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन लगने के बाद हर दिन लगभग 4000 सैंपल लिए जा रहे हैं। आज साढ़े पांच हजार से अधिक सैंपल लिए गए और इसमें 1680 मरीज पॉजिटिव आए हैं।


पॉजिटिव मरीजों की संख्या में गिरावट इस बात का संकेत है कि जिले में लॉकडाउन का असर संक्रमण पर हो रहा है। लॉक डाउन की वजह से कोरोना की गतिशीलता थमी है और धीरे-धीरे संक्रमण घट रहा है उल्लेखनीय है कि एंटीजन रिपोर्ट में भी इस बात के संकेत मिले हैं पहले एंटीजन रिपोर्ट में 48% तक पॉजिटिविटी दर्ज की गई थी जो कि काफी नीचे आ चुकी है।


सर्दी-खांसी, बुखार जैसे लक्षण उभरते ही टेस्ट कराएं ग्रामीणजन, सभी पंचायतों में उपलब्ध कराये गये हैं पल्स आक्सीमीटर
जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों को भी विशेष रूप से अलर्ट किया गया है। यहाँ स्थानीय अमले द्वारा कोरोना मरीजों के चिन्हांकन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में मुनादी की जा रही है कि सर्दी-खांसी, बुखार जैसे लक्षण कोरोना के हो सकते हैं ऐसी स्थिति में तुरंत नजदीकी फीवर क्लीनिक पहुँचकर टेस्ट कराएं।


टेस्ट करने पर पाजिटिव आते ही चिकित्सक के परामर्श पर हास्पिटल रिफर करने या होम आइसोलेशन की सलाह दी जाएगी, इसके साथ ही मरीज को रोग निरोधी किट भी दी जाएगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में सलाह दी गई है कि कोरोना के लक्षणों को गंभीरता से लें और ऐसे लक्षण उभरते ही तुरंत टेस्ट कराएं। इसके साथ ही ग्रामीणों को यह भी सलाह दी गई है कि यदि कोरोना मरीज के निकट संपर्क में रहे हों तो भी टेस्ट करा लें।


नए मरीजों की रफ्तार कम
15 अप्रैल 1778
16 अप्रैल 1995
17 अप्रैल 1887
18 अप्रैल 1282
19 अप्रैल 1761   
20 अप्रैल 1680



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...