रायपुर में ढेबर फैमिली की मुश्किलें बढ़ीं: पिता अनवर ढेबर और उनके दोनों बेटे समेत 8 लोगों पर FIR… कर्मचारी के घर में चोरी और युवती का साइबर स्टॉकिंग का आरोप

फोटो सोर्स – जुनैद ढेबर (इंस्टाग्राम)

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बहुचर्चित आबकारी (शराब) घोटाला मामले में रायपुर महापौर एजाज ढेबर के भाई अनवर ढेबर और अनवर के दोनों बेटों की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है। दरहसल जेल में बंद अनवर ढेबर और उसके बेटे शोएब ढेबर और जुनैद ढेबर समेत 8 लोगों के खिलाफ रायपुर के दो अलग-अलग थानों में FIR दर्ज की गई है। मिली जानकारी के अनुसार सिविल लाइन थाने में पिता-पुत्रों पर युवती से साइबर स्टॉकिंग और पुरानी बस्ती थाने में अपने ही कर्मचारी के घर का ताला तोड़कर कैश और डॉक्यूमेंट चोरी का मामला है। दोनों मामलों में फिलहाल किसी आरोपी की गिरफ्तारी नही हुई है। अनवर ढेबर के बेटे को EOW ने दफ्तर में तलब किया। उससे करीब 5 घंटे तक पूछताछ की गई। वहीं इसी मामले में ED ने भी कारोबारी गुरुचरण सिंह होरा को समन देकर पूछताछ के लिए बुलाया था। उनसे ED ने करीब 8 घंटे तक पूछताछ की।

कारोबारी गुरुचरण सिंह होरा

DB डिजिटल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, “रायपुर शहर के पुरानी बस्ती थाने में मुंबई निवासी इरफान मेघजी ने FIR दर्ज कराई है। इसमें आरोप लगाया है कि वह 2016 में अनवर ढेबर के प्रोजेक्ट ढेबर बिल्डकॉन में काम करने के लिए आया था। उसे 2018 में भाठागांव स्थित ढेबर सिटी लोटस टावर में परिवार सहित रहने के लिए फ्लैट दिया गया था। दिसंबर 2023 में इमरान काम छोड़कर मुंबई चला गया, लेकिन मेरा सामान फ्लैट में ही रखा था। इमरान ने पुलिस को बताया कि 30 मार्च की दोपहर ढेबर सिटी से एक स्टाफ ने उसे कॉल किया। जानकारी मिली कि मेरे घर में 3-4 लोग ताला तोड़कर घुसे हैं। पूछने पर पता चला कि सोहेल, पापा, निखिल खत्री मौजूद हैं। जबकि अनवर ढेबर वीडियो कॉल पर है। आरोप है कि अनवर ने कॉल पर कहा कि घर में किसी भी हाल में घुसो, ताला तोड़ना पड़े तो तोड़ दो और जो भी सामान हो ले आओ। इसके बाद इमरान 15 अप्रैल को फ्लैट पर लौटा तो पता चला कि उसकी पत्नी की 6 सोने की नथनी, 18-20 हजार रुपए कैश, उसके निजी दस्तावेज, बच्चों के स्कूल सर्टिफिकेट गायब थे।”

रिपोर्ट में आगे जिक्र है कि, “इमरान ने दूसरी FIR सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई है। इसमें अनवर ढेबर के साथ ही उसके बेटों शोएब ढेबर और जुनैद ढेबर व एक अन्य को आरोपी बनाया गया है। इमरान ने बताया कि वह ढेबर के प्रोजेक्ट में सुपरवाइज़र के तौर पर काम करता था। जब वह काम छोड़कर चला गया तो उसे डरा-धमकाकर बुलाया गया। चारों आरोपियों ने उससे मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। इमरान ने यह भी आरोप लगाया है कि धमकी देकर उससे किसी लड़की की साइबर स्टॉकिंग कराई गई। आरोप है कि लड़की के मोबाइल से जानकारी निकलवाने के लिए छेड़छाड़ की गई।” इस मामले मने रायपुर सिटी ASP लखन पटले ने कहा कि पुरानी बस्ती में चोरी के मामले में चार आरोपी शामिल हैं। वहीं सिविल लाइन थाने में साइबर स्टॉकिंग के मामले में करीब 4 आरोपी है। पुलिस दोनों ही मामलों में जांच पड़ताल कर रही है, जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में खौफनाक वारदात: पहले पत्नी ने अपनी पत्नी...

दुर्ग। दुर्ग जिले के उतई के पास खोपली गांव में शुक्रवार रात बड़ा कांड हो गया है। खोपली गांव के रहने वाले हेंगल बंजारे...

वर्ल्ड ब्लड डोनर डे पर सन्ना ब्लड सेंटर ने...

भिलाई। वर्ल्ड ब्लड डोनर डे 14, जून के उपलक्ष्य में सन्ना ब्लड बैंक के द्वारा मेगा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन 14 जून दिन...

छत्तीसगढ़ में पुलिस और नक्सलियों के बीच एनकाउंटर: 8...

File Photo नारायणपुर। छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर सामने आ रही है। मिली जानकारी के अनुसार, छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र राज्य की सीमा...

नेशनल आर्म रेसलिंग में छत्तीसगढ़ के खिलाडियों का दबदबा:...

भिलाई। नेशनल आर्म रेसलिंग में छत्तीसगढ़ के खिलाडियों ने कमाल प्रदर्शन किया है। 21 पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन...

ट्रेंडिंग