ब्रेकिंग: कल पाटन में होंगे भाजपा के दिग्गज नेता...सांसद विजय बघेल के अनशन को समर्थन देने पाटन आ रहे पूर्व सीएम डा. रमन सिंह और बृजमोहन अग्रवाल, आज भाजपाइयों ने भिलाई में भी दिया धरना

ब्रेकिंग: कल पाटन में होंगे भाजपा के दिग्गज नेता...सांसद विजय बघेल के अनशन को समर्थन देने पाटन आ रहे पूर्व सीएम डा. रमन सिंह और बृजमोहन अग्रवाल, आज भाजपाइयों ने भिलाई में भी दिया धरना  

October 17, 2020

भिलाई। कार्यकर्ताओं की निशर्त रिहाई सहित विभिन्न मांगों को लेकर आमरण अनशन पर बैठे सांसद विजय बघेल को मिल रहे प्रदेश व्यापी समर्थन का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। तमाम पूर्व मंत्री, भाजपा के वरिष्ठ नेता, पाटन पहुंचकर धरना प्रदर्शन में लगातार शामिल हो रहे हैं और आमरण अनशन को पूर्ण समर्थन दिया है। अब प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का आज 18 अक्टूबर को पाटन आगमन हो रहा है। वे भी यहां धरने में साथ देंगे और कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

जिले का राजनीतिक माहौल लगातार गर्म होता जा रहा है। शराब दुकान बंद करने की मांग  को लेकर शुरू प्रदर्शन से यहां जो राजनीतिक माहौल गरमाया है उसकी तपन लगातार बढ़ती जा रही है। सांसद विजय बघेल लगातार आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं। उन्होंने चौथे दिन अन्न ग्रहण नहीं किया है। वे सिर्फ पानी पर निर्भर हैं। बीच में उनके स्वास्थ्य में गिरावट भी दर्ज की गई। लेकिन उन्होंने मांग पूरी नहीं होने तक आमरण अनशन पर बैठे रहने का संकल्प दोहराया है। पिछले 3 दिनों के दौरान ढेर सारे पूर्व मंत्री तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता यहां पहुंच चुके हैं और सभी ने इस आमरण अनशन प्रदर्शन को समर्थन दिया है।

अब पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह, सांसद विजय बघेल के आमरण अनशन, धरना को समर्थन देने यहां पहुंच रहे हैं। जानकारी के अनुसार वे अट्ठारह अक्टूबर को रायपुर से दोपहर 12:32 बजे यहां पहुंचेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री के आगमन की खबर फैलने के बाद से भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह काफी बढ़ता नजर आ रहा है। यह भी जानकारी मिली है कि दुर्ग, बेमेतरा  तथा रायपुर  जिले से इस दौरान हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भी यहां पहुंचेंगे।

जानकारी के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के साथ पूर्व वरिष्ठ मंत्री बृजमोहन अग्रवाल तथा रामविचार नेताम भी पहुंचेंगे। यह भी जानकारी मिली है कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह, सांसद विजय बघेल से आमरण अनशन, धरना के साथ उनके स्वास्थ्य तथा यहां की परिस्थितियों के बारे में लगातार  जानकारी लेते रहे हैं तथा उन्होंने इस आंदोलन को उचित ठहराया है।इस दौरान उन्होंने यहां आने का वादा  किया था।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...