गनियारी लोक कला महोत्सव 27 फरवरी को... प्रदेश भर के राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकार देंगे प्रस्तुति, इस बार ज्यादा भव्य होगा आयोजन

गनियारी लोक कला महोत्सव 27 फरवरी को... प्रदेश भर के राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकार देंगे प्रस्तुति, इस बार ज्यादा भव्य होगा आयोजन  

February 22, 2021

भिलाई। गुरु घासीदास कला एवं साहित्य विकास समिति गनियारी के द्वारा 27 एवं 28 फरवरी को राज्य स्तरीय लोक कला महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें प्रदेशभर के राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकार प्रस्तुति देंगे।

आयोजक समिति के अध्यक्ष निर्मल कोसरे ने बताया कि प्रथम दिवस 27 फरवरी को सुबह 10:00 बजे से महोत्सव शुभारंभ होगा जिसमें दुख निवारण चौका पार्टी मटियाधाम बेमेतरा, नवज्योति आदर्श रामधुनी मंडली जगन्नाथपुर बालोद, जय सतनाम पंथी दल पेण्डीतराई, पंडवानी टोमीन निषाद, सरगुजा एवं बस्तर नृत्य संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़, चंदैनी रामाधार साहू, चिकारा वादन हेमलाल निर्मोही, छत्तीसगढ़ी नाचा छेड़िया बालोद एवं रात्रि कालीन महादेव हिरवानी कृत धरोहर की रंगारंग प्रस्तुति होगी।


द्वितीय दिवस 28 फरवरी को रामायण चंचल ज्योति मानस परिवार छुही धमतरी, कमार आदिवासी नृत्य गरियाबंद, राउत नाचा पार्टी माटेरा, जस झांकी अजय उपकार झांकी पोटिया दुर्ग, आदर्श सत के लहर पंथी पार्टी मुड़िया मुंगेली, गाढ़ा गाढ़ा जोहार रामायण कांकेर, छत्तीसगढ़ महतारी वंदना कु. आरू साहू, बांस गीत खंडवा महासमुंद, सतनाम भजन तारा कुलकर्णी बिलासपुर एवं युगल किशोर साहू कृत 'कारी बदरिया' की प्रस्तुति होगी।

इस महोत्सव में समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वाले कलाकार, समाजसेवियों, प्रशासनिक अधिकारियों का सम्मान किया जाएगा जिसमें प्रमुख रुप से पद्मविभूषण डॉ तीजन बाई, पद्मश्री डॉ आर. एस. बारले, पद्मश्री अनूप रंजन पांडे, अमृता बारले, गीता बंजारे, सावंतराम बांधे, बी.आर. बंजारे, रामजी ठाकुर, जानकी पुरस्ते, बी.एल कुर्रे, के.के. खेलवार, डॉ.सी.बी.एस. बंजारे, परमानंद करियारे, भागचंद मधुकर, दिनेश जांगड़े, खेमदास कुर्रे का शाल, श्रीफल एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मान किया जाएगा।






विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...