HY यूनिवर्सिटी दुर्ग और Govt दानवीर तुलाराम PG कॉलेज ने “इम्प्रूविंग न्यूट्रीशन थ्रो मिशन लाइफ” पर रखा वर्कशॉप… चीफ गेस्ट रही VC डॉ. अरूणा पल्टा, प्रिंसिपल राजेश पांडे ने की अध्यक्षता; प्रेजेंटेशन में रूंगटा R-1 कॉलेज फर्स्ट

  • मिलेट्स का उपयोग अपनी जीवन पद्धति में शामिल करें: कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा

दुर्ग। मिलेट्स को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ के साथ पुरे देश में मुहीम चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में जीवन पद्धति महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार हेमचन्द यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग एवं शासकीय दानवीर तुलाराम स्नातकोत्तर महाविद्यालय, उतई के संयुक्त तत्वावधान में महाविद्यालय में “इम्प्रूविंग न्यूट्रीशन थ्रो मिशन लाइफ” विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि हेमचन्द यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग की कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा थी।

डॉ. अरूणा पल्टा ने जानकारी दी कि अपने आहार में मिलेट्स का उपयोग अधिक से अधिक मात्रा में करें। उन्होंने कहा कि हमारी दिनचर्या यदि संयमित होगी तो हम हमेशा स्वस्थ रहेंगे। उन्होंने बताया कि हमारे लीवर के पाचन की प्रक्रिया रात्रि 11:00 बजे से 02:00 बजे के मध्य इस तरह से होती है कि वह हमारे शरीर के टॉक्सिक का डीटॉक्सिफिकेशन करता है, अतः संभव हो तो रात्रि 10:30 बजे तक अवश्य सो जावें। यदि पानी को तांबे के बर्तन में रखकर उसमें चांदी का सिक्का डाल दिया जावें तो यह अधिक शुद्ध होता है एवं उसके हानिकारक बैक्टीरिया समाप्त हो जाते है।

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजेश पांडे ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मिशन लाइफ को स्कूलों के पाठ्यक्रम सम्मिलित करने की कार्य योजना पर कार्य हो रहा हैं। डॉ. पांडे ने जानकारी दी कि प्लास्टिक का उपयोग कम से कम किया जाये क्योंकि प्लास्टिक में बिसफेनॉल-ए नाम का एक रसायन होता है जो कि कैंसर का एक कारण बनता है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि हेमचन्द यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग के छात्र कल्याण अधिष्ठाता, डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव थे। डॉ. श्रीवास्तव ने कहा कि बहुत छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर हम पानी का प्रबंधन कर सकते है जिससे अगली पीढ़ी को पानी की समस्या न हो। कार्यशाला में विभिन्न महाविद्यालयों के 34 प्रतिभागियों ने मॉडल एवं पोस्टर प्रस्तुत किये।

प्रस्तुतिकरण में जी.डी. रूगंटा कॉलेज, कोहका को प्रथम, शासकीय दानवीर तुलाराम स्नातकोत्तर महाविद्यालय, उतई एवं भिलाई मैत्री महाविद्यालय, रिसाली को द्वितीय तथा शासकीय दानवीर तुलाराम स्नातकोत्तर महाविद्यालय, उतई को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। कार्यक्रम का सफल संचालन महाविद्यालय की प्राध्यापक डॉ. रीता गुप्ता ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन होम सांइस की प्रभारी प्राध्यापक डॉ. पी. वसंत कला ने किया। कार्यक्रम महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक, अधिकारी एवं कर्मचारी, विभिन्न महाविद्यालय के प्रभारी प्राध्यापक तथा छात्र-छात्रायें उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

Durg Crime : दिनदहाड़े युवक की हत्या से इलाके...

दुर्ग। धमधा थाना क्षेत्र के ग्राम मुड़पार में दिनदहाड़े युवक की हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई है। धारदार हथियार से युवक पर...

दुर्ग क्षेत्र में लूट के आरोपी गिरफ्तार, चार दोस्तों...

भिलाई। उतई थाना क्षेत्र के महकाखुर्द में लूट की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही धर...

CG – नाबालिग प्रेमियों के प्यार का हुआ अंत:...

नाबालिग प्रेमियों के प्यार का हुआ अंत छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में नाबालिग लड़के ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया है। ये सुनते ही एक...

भिलाई स्टील प्लांट में घुसकर तोड़फोड़, सुरक्षा पर उठे...

भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट में तोड़फोड़ का मामला सामने आया है। सीआईएसएफ का सुरक्षा घेरा तोड़कर एक मानसिक रोगी प्लांट के अंदर घुस गया...

ट्रेंडिंग