Click to Get Latest Covid Updates

कोरोना के खिलाफ जंग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की लगी ड्यूटी...50 लाख रुपए का बीमा करने उठी मांग, विधायक वोरा ने भूपेश सरकार को लिखा पत्र, कहा-जान जोखिम में डालकर कर रहे ड्यूटी, बीमा जरूरी है

कोरोना के खिलाफ जंग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की लगी ड्यूटी...50 लाख रुपए का बीमा करने उठी मांग, विधायक वोरा ने भूपेश सरकार को लिखा पत्र, कहा-जान जोखिम में डालकर कर रहे ड्यूटी, बीमा जरूरी है  

April 18, 2021

भिलाई। कोरोना के खिलाफ जंग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की ड्यूटी सर्वे व अन्य कार्यों में लगी है। उनके इस योगदान को इग्नोर नहीं किया जा सकता। घर-परिवार से दूर रहकर काम कर रहे हैं। ऐसे में उनका बीमा नहीं कराना ये किसी नाकाफी से कम नहीं है। दुर्ग विधायक अरूण वोरा ने आज प्रदेश सरकार को खत लिखा है। इस खत में उन्होंने कार्यकर्ताओं का 50 लाख रुपए और सहायिकाओं का 25 लाख रुपए का बीमा करने की मांग की है।


आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कामिनी चंद्राकर की मांग पर दुर्ग विधायक वोरा ने तत्काल प्रदेश सरकार को पत्र भेजा है। जिसमें विधायक वोरा ने कहा है कि, छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ ने मेरे समक्ष उपस्थित होकर अवगत कराया है कि कोविड-19 के इस विषम परिस्थिति में कार्यकर्ता/सहायिका विभाग और शासन से सौंपे गए सभी कार्य को सीमित संसाधन और आर्थिक अभाव के बाद भी दबाव में आकर अपने परिवार के सदस्यों की जान जोखिम में डालकर ईमानदारी और सक्रियता के साथ कार्य का सम्पादन कर रहे हैं। संघ के द्वारा सुरक्षा के रूप में कार्यकर्ताओं का 50 लाख और सहायिकाओं का 25 लाख का बीमा की मांग की जाती रही है लेकिन अभी तक इसका लाभ नहीं मिलने से कार्यकर्ता/सहायिकाओं में भय का माहौल है।

जिले में लगभग 1500 कार्यकर्ता सहायिका कार्यरत है। वर्तमान समय में कोरोना के रोकथाम में वैक्सीन सर्वे व अन्य कार्य में लगे आधा दर्जन से ज्यादा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और उनके परिवार के सदस्य पॉजीटिव पाए गए और हाल ही में दुर्ग में शहरी परियोजना कार्यकर्ता की अकाल मृत्यु हो गई। इनको शासन की ओर से किसी भी प्रकार की कोई निःशुल्क मेडिकल सुविधा और ना ही बीमा राशि या आर्थिक सहायता नहीं मिलता है। छग आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका संघ की मांग कार्यकर्ताओं का 50 लाख का बीमा व सहायिकाओं को 25 लाख सुरक्षा बीमा कार्यकर्ता व सहायिकाओं को अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि देना, हालाहि में दुर्ग में हुए परियोजना कार्यकर्ता की मृत्यु पर मुआवजा राशि जिला या शासन की ओर से दिए जाने जैसी गंभीर समस्याओं पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने आपके समक्ष पत्र प्रेषित है।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...