Click to Get Latest Covid Updates

MSME उद्योग संघ की ये मांगें अगर SAIL चेयरमैन मान जाए तो संकट से उबर जाएंगे भिलाई के सारे उद्योग...प्रेसिडेंट KK झा ने प्वाइंट-टू-प्वाइंट चेयरमैन को बताई पूरी बात

MSME उद्योग संघ की ये मांगें अगर SAIL चेयरमैन मान जाए तो संकट से उबर जाएंगे भिलाई के सारे उद्योग...प्रेसिडेंट  KK झा ने प्वाइंट-टू-प्वाइंट चेयरमैन को बताई पूरी बात  

June 12, 2021

भिलाई। इस्पात भवन स्थित डायरेक्टर कॉन्फ्रेंस हॉल में सेल चेयरमैन सोमा मंडल ने 11 जून को एमएसएमई जिला उद्योग संघ के पदाधिकारियों से मुलाकात की.

संघ के अध्यक्ष केके झा ने स्पष्ट रूप से अपनी बात रखते हुए कहा कि एमएसएमई उद्योग संकट में है और अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहा है। इन्हें बचाने के लिए आपको आगे आना होगा. झा ने कहा कि एमएसएमई उद्योगों को क्षमता के आधार पर इंक्वायरी दी जाए. साथ ही अनुपातिक ढंग से काम दिया जाए.

चेयरमैन ने उनकी बातों को गंभीरता से सुना तथा एमएसएमई उद्योगों को कैसे बचाया जा सकता है उसके लिए संघ से ही सुझाव मांगा. चेयरमैन ने आश्वस्त किया कि आपके सुझाव पर अमल किया जाएगा और आपको राहत पहुंचाई जाएगी. किसी भी हालत में एमएसएमई उद्योगों पर संकट नहीं आने दिया जाएगा.

लगभग एक घंटे चली बैठक में सेल चेयरमैन सोमा मंडल के साथ सेल डायरेक्टर नंदी राय, डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता, इडी एमएम राकेश कुमार, जीएम इंचार्ज पारकर सहित मार्केटिंग एवं टेक्निकल डिपार्टमेंट के हेड उपस्थित थे.

संघ के अध्यक्ष के. के. झा एवं महासचिव अंकित मेहता ने सेल चेयरमैन सहित सभी अधिकारियों का स्वागत किया. तत्पश्चात अध्यक्ष श्री झा ने सेल चेयरमैन के समक्ष अपनी बात रखते हुए कहा कि वर्तमान में एमएसएमई उद्योग संकट में है और अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहा है.

एक तरफ जहां हर दिल में बसता है आपका सेल, उसी तरह राष्ट्र के निर्माण में एमएसएमई रीढ़ की हड्डी है. आज वह अपनी बातें सेल के सुप्रीमो के समक्ष रख रहे हैं. यदि ऐसी संकट की परिस्थिति में आप कोई हल नहीं निकालेंगी तो एमएसएमई उद्योग पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा और बंद हो जाएगा.

झा ने कहा कि भिलाई में एमएसएमई उद्योग पूरे भारत में सबसे स्ट्रांग स्थिति में है. हमने राष्ट्रीय स्तर पर अपना निर्माण कार्य पहुंचाया है. एमएसएमई सहायक उद्योग के रूप में काम कर रहा है जो आपको स्पेयर पार्ट्स पहुंचाता है. ऐसी स्थिति में हमारी तरफ आप नहीं देखेंगी तो कौन देखेगा?

झा ने कहा कि एमएसएमई उद्योगों को जो काम मिल रहा है वह पर्याप्त नहीं है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में स्टील की कीमतों में हुई बेतहाशा वृद्धि ने भी एमएसएमई उद्योगों की स्थिति खराब कर दी है.

संघ के उपाध्यक्ष मलय जैन ने बीएसपी के सेक्टर 9 स्थित मेन हॉस्पिटल की ओर ध्यान दिलाया. उनका कहना था कि कोविड में सेक्टर 9 हॉस्पिटल  ने बहुत अच्छा काम किया है. वर्तमान में हॉस्पिटल में आक्सीजनयुक्त बेड वाले वार्ड बनाए गए है जो प्रशंसनीय है. एमएसएमई के मालिकों को यहां इलाज में प्राथमिकता मिलनी चाहिए.

एटमास्को लि. के डायरेक्टर एस.स्वामीनाथन ने कहा कि प्राईज को लेकर हमारा तीन-चार माह का एग्रीमेंट होना चाहिए. इस दौरान किसी प्रकार से प्राइज नहीं बढ़नी चाहिए तभी हम काम कर पाएंगे. मेटॉल स्ट्रक्चर प्रा. लि. के डायरेक्टर  रजनीश बंसल ने कहा कि जिस माल की हमें जरूरत होती है वह हमें मिलता ही नहीं. और जिस माल की बात होती है वह काफी कम क्वांटिटी में होती है. ऐसा नहीं लगता कि हम सेल से बात कर रहे हैं.

संघ के अध्यक्ष झा ने अंत में कहा कि हम ना आपसे कोई डिमांड कर रहे हैं ना ही कोई रिक्वेस्ट कर रहे हैं. आप हमारी समस्याओं का निराकरण कीजिए. हमें सुझाव दीजिए कि हमें क्या करना है. बीएसपी के कई युनिट बंद हो चुके हैं. नए शॉप चालू हो रहे हैं ऐसे में हमारा काम बढ़ाइए. तत्पश्चात बैठक में कुछ देर शांति रही.

सेल चेयरमैन और अन्य अधिकारियों ने आपस में कुछ चर्चा की और स्पष्ट कहा कि यदि एमएसएमई उद्योगों को बचाना है तो आप ही सुझाव दीजिए. आप ही बताएं कि यह किस तरह से बचेंगे. उद्योगों को बचाने के लिए आप एक सुझाव पत्र दें, हम उस पत्र पर विचार करेंगे और आप को राहत पहुंचाने की कोशिश करेंगे.

हम किसी भी हालत में एमएसएमई पर संकट नहीं आने देंगे. हम से जो भी प्रयास होगा हम उसका समाधान निकालेंगे. हम एमएसएमई के साथ हैं. बैठक काफी सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई.

अंत में संघ के पदाधिकारियों ने सेल चेयरमैन सहित अन्य अधिकारियों को इस बैठक और सार्थक चर्चा के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया.



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...