Click to Get Latest Covid Updates

छत्तीसगढ़ में गैंगरेप के बाद हत्या: पति के एक्सीडेंट की बात कह साथ ले गए... तीन युवकों ने मिलकर महिला के साथ किया सामूहिक दुष्कर्म... फिर ब्लाउज से गला घोंट कर दी हत्या और शव को फेंक दिया नहर में

छत्तीसगढ़ में गैंगरेप के बाद हत्या: पति के एक्सीडेंट की बात कह साथ ले गए... तीन युवकों ने मिलकर महिला के साथ किया सामूहिक दुष्कर्म... फिर ब्लाउज से गला घोंट कर दी हत्या और शव को फेंक दिया नहर में  

October 14, 2021

जांजगीर चांपा। कुछ दिन पहले बोरियों में मिली महिला की लाश की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ़्तार किया है। तीनों आरोपियों ने महिला की गैंगरेप के बाद गला दबाकर हत्या कर दी थी और फिर लाश को बोरी में भरकर फेक दिया था। मृतक महिला मजदूरी करती थी और उसके दो बच्चे भी है।

जानकारी के मुताबिक, वार्ड नंबर 20 में रहने वाली महिला 9 अक्टूबर को काम पर जाने की बात कह कर घर से निकली थी। इसके बाद नहीं लौटी। पति ने गुमशुदगी दर्ज कराई और तीन युवकों के साथ जाने की आशंका जताई। इस बीच देर रात पुलिस को महिला का शव नहर में एक बोरी में मिला। वहीं पुलिस ने ग्राम तरौद निवासी चंद्रमणि वैष्णव, शिव महंत एवं सुरेंद्र श्रीवास को हिरासत में ले लिया।

टीआई मनीष परिहार ने बताया कि महिला के उसके ही गांव के रहने वाले चंद्रमणि से अवैध संबंध थे। वह जहां काम पर गई थी, वहां से सुरेंद्र उसे बाइक पर ले गया था। सुरेंद्र ने महिला को बताया कि उसके पति का एक्सीडेंट हो गया है। वह उसे लेकर चंद्रमणि के पास पहुंचा। वहां एक कमरे में दोनों ने दुष्कर्म किया। इसी बीच सुरेंद्र श्रीवास पहुंचा तो उसने भी रेप किया। महिला ने सब को बताने की धमकी दी तो आरोपियों ने ब्लाउज से गला घोंट दिया।

आरोपियों ने पहचान छिपाने के लिए पत्थर से महिला का चेहरा कुचल दिया और बोरी में भरकर नहर में फेंक आए। 5 दिन बीत जाने के कारण शव सड़ चुका था। चेहरा भी वीभत्स था। पुलिस ने महिला के पति को शिनाख्त के लिए बुलाया तो उसने साड़ी से शिनाख्त की। पोस्टमार्टम डॉ. जेआर आरमोर और डॉ. ललिता टोप्पो ने किया। डॉ. आरमोर ने बताया महिला के गले पर वार किया गया है।

9 साल पहले हुई थी शादी, 3 बच्चे भी
महिला की शादी पामगढ़ क्षेत्र के ग्राम पेंड्री निवासी युवक के साथ करीब नौ साल पहले हुई थी। युवक के पिता ने बताया कि शादी के करीब दो माह बाद ही बेटा अपनी पत्नी के साथ अकलतरा में रहने लगा था। पहले अपनी ससुराल में ही रहता था, बाद में उसने लेबर कॉलोनी में अलग कमरा बना लिया था। पति-पत्नी दोनों मजदूरी करते थे। दंपती के दो बेटी और एक बेटा है। बड़ी बेटी 7 साल, छोटी 5 साल की है, जबकि बेटा 3 साल का है।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

समाचार और भी...