Click to Get Latest Covid Updates

बड़ी खबर: बीजापुर मुठभेड़ में लापता जवान का नक्सलियों ने कर लिया है अपहरण, मीडिया को व्हॉट्सएप पर कॉल कर लापता जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने अपने पास रखने की बात कही...

बड़ी खबर: बीजापुर मुठभेड़ में लापता जवान का नक्सलियों ने कर लिया है अपहरण, मीडिया को व्हॉट्सएप पर कॉल कर लापता जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने अपने पास रखने की बात कही...  

April 5, 2021

रायपुर। बीजापुर मुठभेड़ के बाद लापता जवान की खबर मिल गई है। बता दें कि नक्सलियों ने पत्रकारों से संपर्क कर कहा है कि लापता जवान राकेश्वर सिंह मनहास उनके कब्जे में है। वे उसे किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। नक्सलियों ने व्हॉट्सएप कॉलिंग के जरिए इसकी जानकारी मीडिया को दी है। साथ ही यह भी कहा है कि वह जवान को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। उनके पास वह सुरक्षित है। SP कमललोचन कश्यप ने जवान की लोकेशन नहीं मिलने की पुष्टि की थी।


मुठभेड़ के दौरान 21 जवान लापता हो गए थे। इनमें से 20 जवानों के पार्थिव शरीर को रविवार को एयरफोर्स की मदद से रिकवर कर लिए गया, जबकि एक जवान का पता नहीं चला। लापता जवान कोबरा बटालियन के राकेश्वर सिंह मनहास बताए जा रहे हैं। तर्रेम क्षेत्र के जोनागुड़ा के पास शनिवार को नक्सलियों से मुठभेड़ में 20 से ज्यादा जवान शहीद हुए हैं।

मुठभेड़ में शामिल घायल ASI आनंद कुसाम ने बताया कि उनके साथ 450 जवानों की पार्टी थी। जिस ऑपरेशन के लिए भेजा गया था उसे खत्म कर लौट रहे थे। जब ऑपरेशन के लिए गए थे तब कोई नक्सली हलचल नहीं थी। लौटे तो फायरिंग हो गई। नक्सली 600 से 700 की संख्या में थे। सुबह 11 बजे मुठभेड़ शुरू हुई जो दोपहर 3 बजे तक चलती रही। वापसी में हमारी मदद के लिए जो बैकअप पार्टी आई वह हमें दो किलोमीटर पहले मिली।

मुठभेड़ में शहीद 23 जवानों में DRG के 8, STF के 6, कोबरा बटालियन के 8 और बस्तर बटालियन के 1 जवान शामिल हैं। इनमें कोबरा के एक इंस्पेक्टर और DRG के एक सब इंस्पेक्टर भी हैं। मुठभेड़ में 30 से ज्यादा जवान घायल हैं। इनमें 16 CRPF के हैं, जिनमें से 7 को रायपुर में भर्ती कराया गया है।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...