आयुष्मान के इलाज में खेल: जिला अस्पताल से रेफर कर SR हॉस्पिटल लेकर आए, कार्ड से इलाज नहीं होने का हवाला देकर थमा दिया 40 हजार का बिल, प्रबंधन ने कहा-मरीज की जान बचाने हमने वेंटिलेटर पर रखा

भिलाई। आयुष्मान कार्ड में खेल होता है। ये बात सबको पता है। अधिकांश अस्पताल इसमें संलिप्त है। ये बात भी सबको पता है। इसका सीधा असर मरीज और उनके परिजनों की जेब पर पड़ता है। पहले तो ये कहा जाता है कि आपका उपचार आयुष्मान कार्ड से फ्री में हो जाएगा। फिर पता नहीं, क्यों अस्पताल मैनेजमेंट अपनी ही बातों से मुकर जाते हैं। ताजा मामला एसआर अस्पताल चिखली का आया है। जहां परिजनों ने आरोप लगाया है कि आयुष्मान कार्ड में उपचार के नाम पर मरीज की भर्ती ली गई और उसके बाद भारी बिल थमा दिया गया। परिजनों ने इसकी शिकायत दुर्ग कलेक्टर से की है। वहीं अस्पताल मैनेजमेंट का कहना है कि, जिस इलाज को लेकर परिजन मरीज को लाए थे, वो पैकेज में ही नहीं है। एंबुलेंस चालक लेकर आया था। मरीज के परिजन झूठी शिकायत कर रहे हैं। ताकि दबाव बनाया जा सके।

इस मामले में पीड़ित परिजनों ने क्या शिकायत की है, यह भी जानिए…

वार्ड क्र. 56 बघेरा में रहने वाले, हिमांशु यादव एवं उनके परिजनों ने कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए बताया है कि, बीते दिनों मेरे पिता मोहन यादव का घर पर पैर स्लिप हो जाने से उनके नाक से काफी खून बहने लगा। गंभीर चोट की आशंका को देखते हुए मेरे परिजन द्वारा रात में एंबुलेंस की सहायता से शासकीय जिला अस्पताल दुर्ग लेकर गए। किंतु वहां उपस्थित डॉक्टर और वार्ड बॉय ने सिर पर लगे गंभीर चोट का जिला अस्पताल में ईलाज की सुविधा उपलब्ध नहीं होने की बात कही और वहां से किसी अन्य अस्पताल में रिफर करने को कहा गया। मैं एक समान्य गरीब परिवार से आता हूं, रोजी-मजदूरी का काम कर अपना और अपने परिवार का पालन पोषण करता हूं। मेरे परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण प्राइवेट अस्पताल का खर्च वहन करने में सक्षम नहीं हूं। इसलिए शासकीय हॉस्पिटल रायपुर रेफर करवाना चाह रहा था। तभी वहां मौजूद वार्ड बॉय ने खड़े एक अनजान व्यक्ति से बात चीत करने के बाद यह कहकर डराया गया कि उतने दूर मत लेके जाओ बहुत रिस्क है। तुम्हारे पिता नहीं बच पाएंगे। कहकर व्यक्ति ने मुझे अपना नाम आशीष मिश्रा बताया और मुझसे कहा गया कि आयुष्मान कार्ड पर मैं अपने परिचित के एस आर हॉस्पिटल रिसर्च सेंटर चिखली धमधा रोड दुर्ग में अपने देख रेख में अच्छे से इलाज करने की बात कहकर मेरे पिता को एंबुलेंस के द्वारा अपने परिचित के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

अब तक रात से सुबह हो जाने तक एक दिन बाद भी मेरे पिताजी की स्वस्थ में कोई सुधार नहीं हुआ और डॉक्टर द्वारा मुझे बताया गया की वेंटीलेटर के सहारे ही जिंदा है 99 % बचने की कोई संभावना नहीं है यह बात डॉक्टर द्वारा कही गई और मेरे से दवाई के नाम से अब तक 9000 से 11000 रुपए ले लिए गए। अब ईलाज में आए खर्च का पैसे जमा करके रेफर कही अन्य हॉस्पिटल ले जानें के लिए कहा। तब मैंने अपने बड़े भाई जो अभी टाटा नगर गए हुए थे उनसे फोन पर चिरंजीव यादव उर्फ सोनू से संपर्क कर घटना के संबंध में जा जानकारी दिया। हॉस्पिटल के द्वारा आयुष्मान कार्ड से ईलाज नहीं होगा यह कहके 1 दिन और 1 रात तक 40000 रुपए का बिल पटाने के लिए हम पर दबाव बनाया जा रहा है। जबकि मुझे यह कह कर लाया गया था पूरी ईलाज आयुष्मान कार्ड की सुविधा से मिलेगी। जिस व्यक्ति के द्वारा हॉस्पिटल की एंबुलेंस में लाया गया अब उनके द्वार टाल मटोल किया जा रहा। यहां हॉस्पिटल में स्मार्ट कार्ड एव आयुष्मान की सुविधा उपलब्ध नहीं होने की बात हॉस्पिटल प्रबंधक कह रहे है और अभी जो परिस्थित पिता का वह एक मुर्दे के सामान है। कोमो में चले गए है। ऐसा अस्पताल प्रबंधक कह रहे है अब अस्पताल के द्वारा मेरे पिताजी को बिना पैसे दिए नहीं ले जानें के लिए कहा जा रहा है।

इस मामले में एसआर अस्पताल के डायरेक्टर संजय तिवारी ने कहा कि, जिस उपचार के लिए मरीज को अस्पताल लाया गया है, वो आयुष्मान के पैकेज से बाहर है। मरीज के परिजन राशन कार्ड, आधार कार्ड तक नहीं दिए हैं। हमारी जिम्मेदारी मरीज का उपचार करने की है। हम कर रहे हैं। किसी प्रकार का गलत नहीं हुआ है। कलेक्टर के समक्ष उन्होंने झूठी शिकायत की है, शिकायत कॉपी में कोई रिसिविंग भी नहीं है। पैसे देने न पड़े इसके लिए दबाव बनाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में सरेराह चौक में मर्डर: गैंगस्टर मंत्री यादव...

दुर्ग। दुर्ग में एक बार फिर से हत्या का मामला सामने आया है। ये मामला गैंगवार का लग रहा है। कल रात दुर्ग शहर...

भीषण गर्मी में पक्षियों के लिए ये पहल अच्छी…...

भिलाई। ऊर्जा फाउंडेशन भिलाई द्वारा भीषण गर्मी में पक्षियों की फिक्र करते हुए मिट्टी के सकोरा का वितरण किया जा रहा है। चेयरमैन सरिता...

दुर्ग में ट्रैक्टर से अलग हुई ट्रॉली… हादसे में...

दुर्ग। दुर्ग जिले में हादसों का दौर जारी है। अहिवारा में मॉर्निंग वॉक पर निकले बुजुर्ग दंपति को ट्रैक्टर ने अपने चपेट में ले...

4 को लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती: छत्तीसगढ़...

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रत्याशियों एवं निर्वाचन अभिकर्ताओं को उपलब्ध कराया जाएगा कैल्कुलेटर रायपुर। 4 जून को लोकसभा चुनाव का मतगणना होना है। इसी कड़ी...

ट्रेंडिंग