महाराष्ट्र ही नहीं छत्तीसगढ़ सहित इन राज्यों में भी बढ़ रहे है कोरोना के मामले, टीकाकरण की रफ्तार को बढ़ा सकती है सरकार

महाराष्ट्र ही नहीं छत्तीसगढ़ सहित इन राज्यों में भी बढ़ रहे है कोरोना के मामले, टीकाकरण की रफ्तार को बढ़ा सकती है सरकार  

February 23, 2021

रायपुर/मुंबई। महाराष्ट्र में एक बार फिर से कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी ने जहां एक तरफ सुर्खियां बटोरी हैं, वहीं देश के कुछ और राज्य भी हैं जहां कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। देश के 36 राज्यों और केंद्र प्रशासित प्रदेशों में से 16 ऐसे हैं जहां बीते हफ्ते कोरोना के नए मामले बढ़े हैं। हालांकि, इनमें से सात-आठ राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे भी हैं जो सबसे ज्यादा टेंशन दे रहे हैं।

बीते हफ्ते की तुलना में महाराष्ट्र में जहां 81 प्रतिशत कोरोना के मामले बढ़े हैं तो वहीं मध्य प्रदेश में 43 प्रतिशत, पंजाब में 31 प्रतिशत, जम्मू कश्मीर में 22 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 13 प्रतिशत और हरियाणा में 11 प्रतिशत मामले बढ़े हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, चंडीगढ़ में कोरोना के नए मामले 43 प्रतिशत बढ़े हैं। हालांकि, यह आंकड़ा महज 187 था। दूसरी तरफ, कर्नाटक में 4.6 प्रतिशत और गुजरात में 4 प्रतिशत मामले बढ़े हैं। हालांकि, यहां कोरोना के नए मामलों का आंकड़ा ज्यादा है। 15 से 21 फरवरी के बीच कर्नाटक में 2 हजार 879 नए मामले आए। महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु के बाद कर्नाटक देश का चौथा राज्य है जहां कोरोना के सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। वहहीं, गुजरात में इस हफ्ते में 1 हजार 860 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं। दिल्ली में भी कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़े हैं। इस हफ्ते राजधानी में कोरोने के 954 नए केस आए हैं, जो कि 4.7 प्रतिशत ज्यादा है।
देश में सोमवार को 10 हजार 570 नए केस सामने आए हैं, जो कि बीते 6 हफ्ते के सोमवारों में सबसे ज्यादा हैं। आमतौर पर वीकेंड पर स्टाफ की कमी और कम टेस्टिंग की वजह से सोमवार को कोरोना के नए मामलों की संख्या कम होती है।

इन सबके बीच राहत की बात यह है कि देश में कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़े में बढ़ोतरी नहीं हो रही है। सोमवार को देश में कोरोना से 77 मौतें हुईं, जो कि बीते साल 3 मई के बाद सबसे कम है।

कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाए जाने को लेकर चर्चा हो रही है। खबरों के मुताबिक केंद्र सरकार अगले चार से छह हफ्तों में वैक्सीन की दर को 5 लाख वैक्सीन प्रतिदिन करने को लेकर योजना बना रही है।

भारत सरकार देश में 200 जगहों पर रोजोना किए जा रहे टीकाकरण की संख्या को दोगुना कर सकती है। बता दें कि ऐसा कदम तब उठाया जा रहा है, जब अगले महीने से 50 साल से ऊपर उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी चल रही है। बता दें कि अब तक यह वैक्सीन केवल फ्रंटलाइन वर्कर्स को ही दिया जा रहा था।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...