Click to Get Latest Covid Updates

तीसरी लहर की आहट के बीच PM मोदी की हाईलेवल मीटिंग: ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर बच्चों के बेड और दवाइयों का इंतजाम करने निर्देश...नए म्यूटेंट को लेकर कही बड़ी बात

तीसरी लहर की आहट के बीच PM मोदी की हाईलेवल मीटिंग: ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर बच्चों के बेड और दवाइयों का इंतजाम करने निर्देश...नए म्यूटेंट को लेकर कही बड़ी बात  

September 11, 2021

नई दिल्ली। क्या देश में तीसरी लहर की आहट है? क्या देश में हालात फिर से वैसे ही होने वाले हैं? ये सब निर्भर करता है लोगों की जागरूकता पर। लोग फिर से लापरवाही करने में जुट गए हैं। फिर तो हालात फर्स्ट और सेकंड वेव जैसे होंगे ही।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना के हालात और वैक्सीनेशन को लेकर शुक्रवार को हाई लेवल मीटिंग की। मीटिंग में प्रधानमंत्री ने कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए देशभर में ऑक्सीजन की सप्लाई को तेजी से बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने राज्यों से दवाइयों का बफर स्टॉक रखने को भी कहा।


मोदी ने तीसरी लहर में बच्चों पर असर की आशंका को देखते हुए देशभर के अस्पतालों में बच्चों के लिए पर्याप्त बेड तैयार रखने के निर्देश दिए। उन्होंने राज्यों से स्वास्थ्य सुविधाओं के बुनियादी ढांचे को फिर से डिजाइन करने को कहा। साथ ही ब्लैक फंगस के इलाज की दवाइयां भी तैयार रखने को कहा।


प्रधानमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर और PSA प्लांट की संख्या तेजी से बढ़ाई जाए। अभी देशभर में 961 लिक्विड मेडिकल स्टोरेज टैंक और 1450 मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम लगाए जा रहे हैं। हर जिले में ऑक्सीजन की कम से कम एक यूनिट लगाने का टारगेट रखा गया है।


हर ब्लॉक में एक एंबुलेंस पहुंचाने पर जोर
प्रधानमंत्री ने देशभर में ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने के काम की समीक्षा भी की। उन्होंने बताया कि अब तक राज्यों को एक लाख ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर और 3 लाख ऑक्सीजन सिलेंडर दिए जा चुके हैं। एंबुलेंस नेटवर्क का विस्तार किया जा रहा है, ताकि हर ब्लॉक में कम से कम एक एंबुलेंस उपलब्ध हो सके।


जीनोम सीक्वेंसिंग से नए म्यूटेंट की पहचान करें
मीटिंग में मोदी ने कहा कि वायरस के नए म्यूटेंट की पहचान के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग का काम लगातार किया जाना चाहिए। अफसरों ने मोदी को बताया कि देश के 433 जिलों में RT-PCR लैब बनाने के लिए केंद्र से मदद दी जा रही है। इससे टेस्टिंग में तेजी आ सकेगी।


गांवों में इलाज की सुविधाएं तैयार करें राज्य
कोविड इमरजेंसी रिस्पांस पैकेज 2 के तहत PM ने राज्यों को ग्रामीण इलाकों में कोरोना के इलाज की सुविधाओं के लिहाज से फेसिलिटी तैयार करने को कहा। प्रधानमंत्री ने अफसरों से कुछ राज्यों में कोरोना के बढ़ते केस को लेकर जानकारी ली। साथ ही देश में कोरोना टीकाकरण में अब तक हुई प्रगति को लेकर भी चर्चा की।


देश में 58% वयस्क आबादी को पहली डोज लगी
प्रधानमंत्री ने टीकाकरण में तेजी लाने को कहा। उन्होंने इस बात की तारीफ की है कि भारत की 58% वयस्क आबादी को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। वहीं, देश की करीब 18% वयस्क को सेकेंड डोज भी लग चुकी है।

प्रधानमंत्री को वैक्सीन पाइपलाइन और इसकी बढ़ी हुई सप्लाई के बारे में भी जानकारी दी गई। मीटिंग में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सेक्रेटरी, मुख्य वैज्ञानिक सलाहकर, स्वास्थ्य सचिव, नीति आयोग के मेंबर और कई महत्वपूर्ण अफसर मौजूद थे।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...