छत्तीसगढ़ में प्रैक्टिकल और प्रोजेक्ट के लिए फरवरी में खुल सकते हैं स्कूल...इधर भिलाई-दुर्ग में कोचिंग बंद होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित

छत्तीसगढ़ में प्रैक्टिकल और प्रोजेक्ट के लिए फरवरी में खुल सकते हैं स्कूल...इधर भिलाई-दुर्ग में कोचिंग बंद होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित  

January 25, 2021

भिलाई। कोरोना संक्रमण की वजह से शिक्षा व्यवस्था सबसे ज्यादा प्रभावित हुई। स्कूल और कोचिंग सेंटर्स बंद है। भिलाई में सबसे ज्यादा कोचिंग है। जिसे खोलने का ऑर्डर अब तक नहीं दिया गया है। कोचिंग बंद होने से पढ़ाई सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। कोचिंग संचालकों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। ऐसा नहीं कि संघ के लोगों ने शासन-प्रशासन को इस बात से अवगत नहीं कराया। कई दौर की मुलाकात हो चुकी है। लेकिन अब तक कोचिंग खोलने के लिए ऑर्डर नहीं आया है।
अब फरवरी में छात्रों के लिए स्कूल खुलने के संकेत मिल रहे हैं। लेकिन इसमें पहले की तरह नियमित कक्षाएं नहीं लगेगी। स्कूल प्रैक्टिकल एग्जाम और प्रोजेक्ट वर्क के लिए खुलेंगे। इस तरह से फरवरी में एक बार फिर स्कूलों में छात्रों को जमावड़ा लगेगा। सीजी बोर्ड के तहत 10 फरवरी से लेकर 10 मार्च तक स्कूलों में प्रैक्टिकल व प्रोजेक्ट वर्क की परीक्षाएं होगी। एक साथ बड़ी संख्या में छात्रों को नहीं बुलाया जाएगा। शिफ्ट के अनुसार प्रैक्टिकल एग्जाम व प्रोजेक्ट वर्क की परीक्षा होगी। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना होगा। इस संबंध में स्कूलों के लिए जल्द निर्देश जारी होंगे। शिक्षा विभाग से प्रैक्टिकल एग्जाम व प्रोजेक्ट वर्क परीक्षा के लिए तारीख तय कर दी गई है। लेकिन इस संबंध में अभी विस्तृत निर्देश जारी नहीं हुए हैं। इसके अनुसार स्कूलों में छात्रों को बुलाया जाएगा।

दसवीं-बारहवीं के प्रैक्टिकल एग्जाम व प्रोजेक्ट वर्क की परीक्षा इस बार स्कूल अपनी सुविधा के अनुसार आयोजित करेंगे। वे ही नंबर भी देंगे। इस बार प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए वाहय निरीक्षक (एक्सटर्नल) की अनिवार्यता खत्म की गई है। शिक्षाविदों का कहना है कि वाहय निरीक्षक की अनिवार्यता रहने से सब कुछ उनके समय पर निर्भर करता था। उनके समय के अनुसार ही स्कूल प्रैक्टिकल का आयोजन करते थे। लेकिन इस बार स्कूलों को राहत दी गई है।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...