विश्व पर्यावरण दिवस पर खास पहल: श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन ने दुर्ग में 100 स्कूलों में 600 औषधीय पौधों का किया वितरण… डॉ. मानसी गुलाटी ने कहा – “समाज को इसके बारे में जागरूक करने की कोशिश”

दुर्ग। श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन द्वारा दुर्ग में आज करीब 100 स्कूलों में 600 औषधीय पौधों का वितरण किया गया इसके बारे में डॉक्टर मानसी गुलाटी ने बताया की वो हमेशा पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी को सबको बताने की और समाज को इसके बारे में जागरूक करने की कोशिश करती है तथा इस बार का उनका प्रयास किया था कि औषधि पौधे निशुल्क वितरित किए जाएं ताकि लोग उन औषधीय पौधों को अपने घर पर लगाएं और जिससे पर्यावरण भी संतुलित हो सके वृक्षारोपण पर्यावरण को बेहतर बनाने में मदद करता है, वृक्ष हवा को शुद्ध करते हैं और पानी को संरक्षित रखते हैं जिससे हमारा पर्यावरण भी संतुलित बना रहता है। वृक्षारोपण का तात्पर्य वृक्षों के विकास के लिए पौधों को लगाना और हरियाली को फैलाना होता है।

पेड़ पौधे पक्षियों के साथ-साथ कई जानवरों के लिए भी एक आवास के रूप में सहायता करते हैं, तथा वृक्षारोपण से पृथ्वी परपारिस्थितिक संतुलन बना रहता है, हम सभी को वृक्षारोपण अधिक से अधिक करना चाहिए तथा वृक्षारोपण के लिए अपने आसपास के लोगों को भी प्रोत्साहित करना चाहिए।
यहाँ कुछ कारण हैं जो वृक्षारोपण को अत्यंत आवश्यक बनाते हैं:-

  1. स्वच्छ वायु: वृक्ष हमारे वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करके ऑक्सीजन छोड़ते हैं, जिससे हमें शुद्ध हवा मिलती है।
  2. जल संरक्षण: वृक्ष जल धारण क्षमता को बढ़ाते हैं, जिससे भूजल स्तर संतुलित रहता है और जल संकट कम होता है।
  3. मृदा संरक्षण: वृक्षों की जड़ें मिट्टी को मजबूती प्रदान करती हैं और कटाव को रोकती हैं, जिससे भूमि की उर्वरता बनी रहती है।
  4. जलवायु नियंत्रण: वृक्ष वातावरण को ठंडा रखते हैं और जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  5. जीव विविधता: वृक्ष विभिन्न प्रकार के वन्य जीवों का घर होते हैं, जिससे जैव विविधता को संरक्षण मिलता है।
  6. सौंदर्य और मानसिक स्वास्थ्य: हरे-भरे पेड़-पौधे हमारे पर्यावरण को सुंदर बनाते हैं और मानसिक शांति प्रदान करते हैं।

श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन द्वारा ग्रीन योर डिस्टिक प्रोजेक्ट के तहत दुर्ग जिले के 100 स्कूलों में बच्चों द्वारा वृक्षारोपण किए गए जिसमें औषधि पौधे निशुल्क वितरण किया गया जैसे जामुन, नीम, तुलसी ,अशोक ,अश्वगंधा जाम और मूंगा तथा बच्चों को अलग-अलग औषधि गुण के बारे में अवगत कराया गया जैसे
1.आंवला गुणकारी है मधुमेह दिल के मरीज एवं अपच तथा लीवर के लिए लाभकारी है l
2.जामुन खून बढ़ाने में शुगर के लिए गुणकारी है तुलसी तथा दोनों नेचुरल इम्यूनिटी बूस्टर सर्दी खांसी में रोकने के लिए काम आता है एंटी कैंसर की उसकी प्रॉपर्टी होती है l
3.शतावरी एवं अशोक स्त्री रोग संबंधी गुण उसमें सम्मिलित हैl

  1. नीम के गुण के बारे में भी बताया गया एवं पत्थरचट्टा जो की लीवर एवं गॉलब्लैडर के लिए उपयोगी हैl
    इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश की नई पीढ़ी स्वस्थ हो, मजबूत हो, निरोग हो तथा उनको भी ऑक्सीजन की कमी ना हो तथा विपरीत वातावरण का सामना न करना पड़े हमारे बच्चों को स्वस्थ लाइफस्टाइल के बारे में बताया गया एवं हर समय छोटी तकलीफों के लिए दवाई ना लेकर हम प्राकृतिक गुण से भरपूर औषधि पौधे के संपर्क में रहता कि हम कम बीमार पड़े और बच्चों घर जाकर माता-पिता से औषधि पेड़ लगाने की जिद करें l
    यह कार्यक्रम श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन फाउंडेशन द्वारा हर वर्ष किया जाता है और इसकी महत्ता के बारे में हमेशा डॉक्टर मानसी गुलाटी जी आगे रहती है और पर्यावरण बचाने में बहुत ही सक्रिय भूमिका निभाती है l संचालक ने बताया कि वह ऐसे संदेश हमेशा समाज तक पहुंचाने चाहती हैं जिससे हमारे पर्यावरण सुरक्षित रहे और ग्रीन योर डिस्ट्रिक्ट में एक बहुत ही सराहनीय पहल उन्होंने किया है इसके अलावा वन बेबी वन प्लांट नामक प्रोजेक्ट भी चलाती है जिससे उनके नर्सिंग होम में जो भी नवजात शिशु जन्म लेता है उसके डिस्चार्ज के टाइम उनके माता-पिता को वह पौधे एक उपहार के रूप में देती है ताकि वह पर्यावरण के प्रति अपना जो भी कर्तव्य उसको समझ सके और पर्यावरण को बचाने में अपनी योगदान दे सके l

इस पुनीत कार्य में श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन का बहुत बड़ा आभार व्यक्त करता है सबसे पहले जिला वन विभाग जिन्होंने निरंतर हमें पौधे प्रदान किए श्री संदीप नायडू की जो एक वालंटियर है उन्होंने हमेशा हमें पौधे दिए जिससे हमें पुनीत कार्य कर सके इस कार्य में बहुत सारे लोगों ने हमारी मदद की है जिसमें आर्य नगर की महिला मंडले शामिल है श्री रमेश चंद्र फाउंडेशन के बहुत सारे ऐसे वालंटियर है जो इसमें योगदान देते हैं और इन सभी के सहयोग से हम पुनीत कार्य कर पाते हैं।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

अब रायपुर में भी छात्र कर सकेंगे सिविल सर्विस...

नई दिल्ली। देश के सिविल सर्विस के टॉप कोचिंग इंस्टीट्यूट अब रायपुर में अपनी शाखा खोलेंगे, जिससे राज्य के अनुसूचित जाति, जनजाति अन्य पिछड़ा...

CG – पुलिस विभाग में तबादले: कई निरीक्षकों का...

पुलिस विभाग में तबादले डेस्क। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में प्रशासनिक कसावट लाने के लिए पुलिस कप्तान रजनेश सिंह ने शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के कुछ...

दुर्ग में खौफनाक वारदात: पहले पति ने अपनी पत्नी...

दुर्ग। दुर्ग जिले के उतई के पास खोपली गांव में शुक्रवार रात बड़ा कांड हो गया है। खोपली गांव के रहने वाले हेंगल बंजारे...

वर्ल्ड ब्लड डोनर डे पर सन्ना ब्लड सेंटर ने...

भिलाई। वर्ल्ड ब्लड डोनर डे 14, जून के उपलक्ष्य में सन्ना ब्लड बैंक के द्वारा मेगा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन 14 जून दिन...

ट्रेंडिंग