दुर्ग के पोटिया में हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी: दारू पार्टी के दौरान दोस्तों ने ही मिलकर कर दी दोस्त की हत्या… दुर्ग पुलिस ने एक को किया अरेस्ट, दूसरे आरोपी ने किया सरेंडर; जानिए मामला

दुर्ग। दुर्ग के पदमनाभपुर थाना क्षेत्र के पोटिया में हुए अंधे कत्ल की गुथी दुर्ग पुलिस ने सुलझा ली है। 17 मार्च रविवार को एक युवक को निर्मम तरीके से मौत के घाट उतार दिया गया था। मृतक की पहचान तोपचंद धृतलहरे के रूप में हुई थी। मृतक अपने दोस्तों के साथ संडे शाम दारू पार्टी करने पोटिया दुर्ग में मनीष पेट्रोल पंप के पीछे नाला के पास गया था। विवाद के चलते आरोपियों ने युवक की हत्या की थी। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी अनिल नौरंगे को गिरफ्तार कर लिया है और दूसरे आरोपी वीरू सतनामी ने कोर्ट में सरेंडर किया है। इन दोनों आरोपियों के द्वारा अपने दोस्त तोपचंद धृतलहरे को शराब के नशे में मौत के घाट उतारा गया था।

पुलिस के अनुसार, मृतक के बड़े भाई गौकरण धृतलहरे पिता स्व. विश्वनाथ धृतलहरे, उम्र-42 वर्ष, निवासी वार्ड 54, कुंदरापारा पोटिया चौक, थाना पदमनाभपुर ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि रविवार को इसका छोटा भाई तोपचंद धृतलहरे दोपहर करीबन 2.00 बजे अपने घर से निकला था। जो सोमवार सुबह तक घर वापस नहीं आया था। जिसका आसपास पता तलाश करने पर मोहल्लेवासियों के द्वारा उसे बताया गया कि मृतक तोपचंद धृतलहरे अपने साथी विष्णु साहू, राजा मारकण्ड़े, अनिल कुमार ठाकुर, अनिल नौरंगे, वीरू सतनामी के साथ मनीष पेट्रोल पंप के पीछे नाला के पास पोटिया दुर्ग में शराब पार्टी मनाने गये थे।

जहां पर सोमवार के सुबह 07.00 बजे जाकर देखा तो प्रार्थी का भाई मृत हालत में खेत पर पड़ा हुआ था। जिसके सिर में चोट थे और आस-पास खुन पड़ा हुआ था। पास में खुन लगे हुये पत्थर व सिमेंट पोल का टुकड़ा, शराब की शीशी, डिस्पोजल पड़ा हुआ था। प्रार्थी की रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर, पुलिस ने अपराध कमांक-124/2024, धारा 302 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया था। जांच के दौरान मुखबीर से पुलिस को सूचना प्राप्त हुई कि संदेही अनिल नौरंगे तिल्दा जाकर कर छुपा है, उक्त अपराध में अग्रिम विवेचना एवं धरपकड़ के लिये पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला द्वारा तत्काल एक विशेष टीम गठित कर नगर पुलिस अधीक्षक दुर्ग चिराग जैन (भापुसे) के नेतृत्व में थाना प्रभारी पदमनाभपुर अक्षय प्रमोद साबद्रा (भापुसे) तथा सिविल टीम के रवाना होकर मौके पर दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार करने कहा गया।

आरोपी अनिल नौरंगे पिता स्व/ जीवराखन नौरंगे, उम्र 23 वर्ष, निवासी कुंदरापारा, पोटिया चौक, दुर्ग, थाना पदमनाभपुर, जिला दुर्ग, (छग) को पुलिस ने पकड़ा और पुछताछ करने पर आरोपी के द्वारा अपने दोस्त वीरू सतनामी के साथ मिलकर घटना को कारित करना बताया। आरोपी अनिल नौरंगे द्वारा जुर्म कबूल करने पर आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर केन्द्रीय जेल दुर्ग भेजा किया गया। प्रकरण में फरार अन्य आरोपी वीरू सतनामी ने जिला न्यायालय दुर्ग में आत्मसमर्पण किया है। उपरोक्त सम्पूर्ण कार्यवाही में नगर पुलिस अधीक्षक दुर्ग चिराग जैन, (भापुसे) के नेतृत्व में थाना प्रभारी पदमनाभपुर अक्षय प्रमोद साबद्द्रा (भापुसे), सउनि रामस्वरूप कुरेशिया, प्र०आर०-446, आनंद तिवारी, आरक्षक-1362, प्यारे लाल साहू, आरक्षक – 990 देवेन्द्र राजपूत, आरक्षक- 131 भरथरी निषाद एवं सिविल टीम का विशेष योगदान रहा।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू कर रहे है लगातार विभिन्न...

दुर्ग। कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू ने आज दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में जनसंपर्क करते हुए चुनाव प्रचार किया। दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र...

CG – चरित्र शंका और मर्डर: कैरेक्टर पर शक...

चरित्र शंका और मर्डर क्राइम डेस्क। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक पति ने अपनी पत्नी का मर्डर कर दिया है। पति को पत्नी के...

छत्तीसगढ़ में ह्यूमन ट्रैफिकिंग गैंग का भंडाफोड़: जशपुर पुलिस...

जशपुर। जशपुर जिले के पुलिस कप्तान IPS शशि मोहन सिंह के नेतृत्व में जिला पुलिस ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग (मानव तस्करी) गैंग का भंडाफोड़ किया...

कांकेर मुठभेड़: नक्सलियों ने जारी की प्रेस विज्ञप्ति, कांकेर...

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर में 16 अप्रैल को हुई प्रदेश के इतिहास मे सबसे बड़ा नक्सल ऑपरेशन चलाया गया। इस एनकाउंटर 29 माओवादी मारे...

ट्रेंडिंग