Click to Get Latest Covid Updates

किसी फिल्म से कम नहीं शुभम मर्डर केस की ये कहानी ...गर्लफ्रेंड और पैसे के लिए गला रेत दिया, ढाई साल बाद नांदगांव पुलिस ने कैसे किया खुलासा, पढ़िए

किसी फिल्म से कम नहीं शुभम मर्डर केस की ये कहानी ...गर्लफ्रेंड और पैसे के लिए गला रेत दिया, ढाई साल बाद नांदगांव पुलिस ने कैसे किया खुलासा, पढ़िए  

April 3, 2021

राजनांदगांव। कल राजनांदगांव पुलिस ने ढाई साल पुराने केस को सॉल्व किया। केस मर्डर का था। जिसकी कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं थी। पुलिस ने इस मामले में युवती सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। शुभम और उसके पिता रेप के मामले में जेल में बंद थे। बाहर निकलने के लिए उन्होंने आरोपियों को 5 लाख रुपए दिए। जमानत पर छूटे तो दिए गए रुपए वापस करने का दबाव बनाने लगे। इससे परेशान होकर आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी थी।

आरोपियों तक पहुंचने के लिए पुलिस को काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। शव मिलने के बाद पुलिस ने करीब 300 लोगों से पूछताछ की और 2500 से ज्यादा कॉल डिटेल खंगाले। इसके बाद जब आरोपी हाथ लगे तो सुराग नहीं मिल रहा था। इस पर पुलिस ने संदेहियों का नारको टेस्ट कराने और ब्रेन मैपिंग टेस्ट कराने की अनुमति मांगी। टेस्ट पॉजिटिव आने पर 6 अफसरों की टीम बनाई गई और फिर साक्ष्य एकत्र कर आरोप की पुष्टि की गई।

पुलिस ने गौरी नगर निवासी नितिन लिम्बु, बसंतपुर निवासी दिनेश माहेश्वरी और सृष्टि कॉलोनी निवासी मेघा तिवारी को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने बताया कि शुभम व उसके पिता रावेंद्र रेप के आरोप में जेल में थे। तब मुंकु नेपाली व गोलू मारवाड़ी ने उनको जेल से बाहर निकलवाने के लिए 5 लाख लिया था। बाहर आने पर वह रकम लौटाने का दबाव बनाने लगे। साथ ही मुंकु नेपाली की मित्र मेघा तिवारी को भी शुभम मैसेज व कॉल करता।

इस पर आरोपियों ने शुभम की हत्या का षड्यंत्र रचा और गोलू मारवाड़ी ने सितंबर 2018 को वॉट्सएप कॉलिंग कर शुभम् को जय स्तंभ चौक बुलाया। उसे झांसा दिया कि रकम वापस कर देंगे और मेघा से मुलाकात कराएंगे। दूसरे दिन शाम को शुभम पहुंचा। उसके आने के बाद मेघा शराब पीने के बहाने कार से थोड़ा दूर ले गई। मौका देखकर मुंकू नेपाली कार की पिछले सीट पर बैठ गया। जैसे ही शुभम ड्राइविंग सीट पर बैठा वैसे ही मुंकू ने धारदार हथियार से एक झटके में उसका गला काट दिया गया।

इसके बाद शुभम कार चलाते हुए कुछ दूर तक गया और फिर होटल राज इंपीरियल के पास मदद के लिए रुका। सूचना मिलने पर लालबाग थाना पुलिस मौके पर पहुंची और उसे अस्पताल लेकर जा रही थी, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि आरोपी मुंकू नेपाली और गोलू मारवाड़ी बहुत ही शातिर है। दोनों पहले भी हत्या व हत्या के प्रयास के कई मामलों में जेल जा चुके हैं।



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...