Click to Get Latest Covid Updates

BSP में टूल डाउन मामला: प्रबंधन ने 2 कर्मियों का निलंबन बहाल किया, लेकिन बदले में ये सजा भी दे दी...

BSP में टूल डाउन मामला: प्रबंधन ने 2 कर्मियों का निलंबन बहाल किया, लेकिन बदले में ये सजा भी दे दी...  

October 14, 2021

भिलाई। बीएसपी प्रबंधन के बारे में लोगों की मानसिकता कभी-कभी एकदम सही लगती है। जैसा देता है, उससे ज्यादा ले लेता है। इस कहावत को आप पूरा होते भी देख लेंगे। बीएसपी टूल डाउन मामले में। बीएसपी में 24-25 अप्रैल को टूल डाउन कराकर प्रोडक्शन टप कराने के आरोप में निलंबित किए गए दो कर्मियों ओसीटी सुनील यादव व ओसीटी सुदीप का निलंबन वापस ले लिया गया है.

लेकिन इनका दो इन्क्रीमेंट डाउन कर दूसरे विभागों में ट्रांसफर भी कर दिया गया है. अब 14 में से केवल 5 कर्मियों का निलंबन वापस लेना बाकी है. ओसीटी सुनील यादव व ओसीटी सुदीप दोनों यूआरएम में कार्यरत थे.

अब निलंबन वापस लेने के साथ सुनील यादव का यूआरएम से नान वर्क्स एरिया में एमएम स्टोर में तथा सुदीप का ट्रांसफर प्रोजेक्ट में कर दिया गया है.

आज नवभारत में प्रकाशित खबर के मुताबिक, यूआरएम के ओसीटी अभिषेक सिंह, यूआरएम के ओसीटी काशीराम मांझी, यूआएम के ओसीटी प्रवीण यादव, पीएनबीएस के चार्जमैन कम सीनियर आपरेटर वासुदेव बनर्जी, पीएनबीएस के ही चार्जमैन कम सीनियर आपरेटर गया प्रसाद भास्कर का निलंबन सबसे पहले यानी 21 जुलाई को वापस ले लिया गया था.

इनके बाद 30 सितंबर को निलंबन वापस लेने के साथ सीईडी के ओसीटी रामकेश मीणा का तमिलनाडु तथा सीईडी के ओसीटी पवन देशवाल का केरल ट्रांसफर कर दो इन्क्रीमेंट भी रोक दिया गया.


अब इनकी बहाली भर रुकी है
पीबीएस 2 के ओसीटी सुनील शर्मा, पीबीएस 2 के ओसीटी निशांत सूर्यवंशी, पीबीएस 2 के ओसीटी ब्रजेश सिंह व उमेश दास की बहाली अब तक नहीं हो सकी है.

इनके विरुद्ध धारा 448, 186, 427, 34 के तहत भट्ठी थाने में प्रबंधन ने एफआईआर दर्ज कराया हुआ है. यानी इन पर ज्यादा गंभीर आरोप हैं. शायद यही वजह है कि इनकी बहाली अभी नहीं की गई है. इनके अलावा बीआरएम के ओसीटी नीरज की भी बहाली नहीं हो सकी है.



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

समाचार और भी...