Click to Get Latest Covid Updates

पति का नौकरी हड़पना चाहती थी महिला, आशिक संग मिलकर पत्नी ने कर दी हत्या, 24 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा

पति का नौकरी हड़पना चाहती थी महिला, आशिक संग मिलकर पत्नी ने कर दी हत्या, 24 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा  

August 1, 2021

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के चंद्रपुर में एक महिला ने पति को उसकी नौकरी हड़पने के लिए मौत के घाट उतरवा दिया. इस साजिश में उसका प्रेमी और मां भी शामिल थी.

महिला के प्रेमी ने पति की हत्या करने के बाद कोयला खदान के पास लाश फेंक दी. अज्ञात लाश की पुलिस ने पहचान कर मामले की जांच शुरू कर ​दी.

24 घंटे के अंदर ही पुलिस ने इस खौफनाक वारदात का पर्दाफाश करते हुए महिला और उसके प्रेमी के सा​थ चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

ये घटना चंद्रपुर के बल्लारपुर शहर की है. शहर के सास्ती रोड पर वर्धा नदी के किनारे पुलिस को अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली. पुलिस ने मृतक की शिनाख्त 34 वर्षीय मारोती काकड़े के रूप में कर ली.

मारोती वेस्टर्न कोल फ़ील्ड्स लिमिटेड की कोयला खदान में काम करता था. मृतक के शरीर पर घाव के निशान की वजह से पुलिस को शक हुआ कि ये कोई हादसा नहीं, ब​ल्कि हत्या है. पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई.

पुलिस ने बताया कि मारोती की हत्या की प्लानिंग उसकी ही पत्नी ने की थी. पुलिस के अनुसार मृतक मारोती काकड़े की 25 वर्षीय पत्नी प्राजक्ता के अपनी ही बहन के देवर संजय टिकले के साथ अवैध संबंध थे. वह संजय के साथ बाकी का जीवन व्यतीत करना चाहती थी, इसलिए उसने अपने पति को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया.

पुलिस ने बताया कि मारोती की शराब की लत को लेकर आए दिन पत्नी से विवाद होता रहता था. महिला पति की हरकतों से तंग आ चुकी थी, इसलिए अपनी मां कांता को भी पति की हत्या की साजिश में शामिल करने के लिए तैयार कर लिया.

वह चाहती थी कि पति की मौत एक हादसा लगे, जिससे पति की नौकरी उसे मिल जाए, लेकिन उसकी उम्मीदों पर तब पानी फिर गया, जब पुलिस ने इस मामले का खुलासा कर दिया.
 

हत्या की इस साजिश में महिला के प्रेमी संजय ने पैसों का लालच देकर अपने दोस्त विकास नागराले को शामिल कर लिया. इसके बाद विकास नागराले अनजानों की तरह मारोती के घर के सामने से गुजरता है और शराब के ठेके का पता पूछने का नाटक करता है. बातों ही बातों में वह उसके साथ नजदीकी बढ़ा लेता है और शराब पिलाने का लालच देकर उसे अपने साथ ले जाता है.

ठेके पर ले जाने के बाद विकास द्वारा मारोती को जमकर शराब पिलाई जाती है. जब मारोती खूब नशे में हो गया, तो वह उसे शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर एक नाले किनारे सुनसान जगह पर ले गया.

यहां पहले उसका गला दबाया गया, उसके बाद ब्लेड से उसका गला काटकर हत्या कर दी गई. इस दौरान महिला का प्रेमी संजय वहां आ जाता है.

मारोती की लाश को संजय और उसका दोस्त एक चार पहिया कार में डाल लेते हैं और लाश को वर्ध नदी के किनारे फेंक देते हैं. यहां से मारोती रोज अपने काम पर जाता था, इसलिए आरोपियों को विश्वास था, कि उसकी कोई न कोई शिनाख्त कर लेगा.

आरोपियों ने जैसा प्लान किया था, वैसा ही हुआ. पुलिस ने मृतक की शिनाख्त कर ली, लेकिन आरोपियों का अंतिम प्लान फेल हो गया. थानेदार उमेश पाटिल और पीएसआई विकास गायकवाड़ ने इस हत्याकांड के खुलासे के लिए कॉल डिटेल और अन्य सबूतों के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के दौरान पूरी घटना का खुलासा हो गया.



विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन


समाचार और भी...