घर का लाइट और पंखा ठीक करने आया था 50 साल का मिस्त्री, 22 साल की लड़की को कह दिया I Love U, फिर…

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में एक शादी की इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। इस शादी के केंद्र में 22 साल की जन्नत की हूर सी दिखने वाली साइमा और 50 साल के दिलदार इलेक्ट्रिशियन मंसूर हैं। इन दोनों के बीच प्यार का परवान तब शुरू हुआ जब मंसूर बिजली से जुड़ी मरम्मत करने को साइमा के घर पहुंचे। पहली बार दोनों की नजरें मिलीं और फिर पहली नजर का प्यार शुरू हो गया। कुछ समय बाद मंसूर ने साइमा से अपने प्यार का इजहार कर दिया जिसपर उसने हामी भी भर दी। जिसके बाद आगे चलकर दोनों ने शादी भी की।

हालांकि, इनकी प्रेम कहानी इतनी आसान नहीं है। परिवार से लेकर समाज तक इन दोनों की प्रेम कहानी में कई लोग दुश्मन बन कर खड़े थे। बकौल साइमा जब उन्होंने मंसूर से शादी की बात अपनी मां से कही तो उन्हें खूब डांट पड़ी।साइमा कहती हैं कि घर की लाइट्स और पंखे खराब थे। उन्हें ठीक करने के लिए इलेक्ट्रिशियन मंसूर को बुलाया गया। जब घर में मंसूर ने मुझे देखा तो मुस्कुरा दिए जिसके बाद वह शर्मा कर नजरें नीचें कर लीं। इसके बाद मंसूर कई दफा उनके घर बिजली ठीक करने उनके घर आए। इस दौरान इनके बीच प्यार का परवान चढा।

जब घर में मंसूर ने मुझे देखा तो मुस्कुरा दिए जिसके बाद उसने शर्म से नजरें नीचें कर लीं। इसके बाद मंसूर कई दफा उनके घर बिजली ठीक करने घर आए। इस दौरान इनके बीच प्यार का परवान चढने लगा। मंसूर उनके बहाने बना कर बातें करते जो उन्हें भी अच्छा लगता।

मंसूर कहते हैं कि उन्होंने पहली बार साइमा को आई लव यू कहा। हालांकि शुरुआत में साइमा ने वैसी प्रतिक्रिया नहीं दी लेकिन वह कोशिश करते रहे जिसके बाद अल्लाहताला की मदद से उनका प्यार सफल हो पाया। साइमा कहती हैं कि उन्हें इस प्यार के लिए बेहद ताने सुनने पड़े। आसपड़ोस की महिलाएं उनपर फब्तियां कसा करती थीं। घर में बहुत झगड़े हुए। पिता को मनाना बहुत मुश्किल था। लेकिन आखिरकार सब ठीक हो गया। साइमा कहती हैं कि पैसा, उम्र नहीं इंसान की नीयत देखनी चाहिए।

इस पर मंसूर कहते हैं, “मैं क्या करता ये तो दिन-रात मेरे ख्यालों में रहा करती थी। सुबह-शाम मुझे बस इनके बारे में ही सोचना अच्छा लगता था।” मंसूर कहते हैं कि उन्होंने पहली बार साइमा को आई लव यू कहा। हालांकि शुरुआत में साइमा ने वैसी प्रतिक्रिया नहीं दी लेकिन वह कोशिश करते रहे जिसके बाद ऊपरवाले की मदद से उनका प्यार सफल हो पाया।

साइमा कहती हैं कि उन्हें इस प्यार के लिए बेहद ताने सुनने पड़े। आसपड़ोस की महिलाएं उनपर फब्तियां कसा करती थीं। घर में बहुत झगड़े हुए। पिता को मनाना बहुत मुश्किल था। लेकिन आखिरकार सब ठीक हो गया। साइमा कहती हैं कि पैसा, उम्र नहीं इंसान की नीयत देखनी चाहिए। साइमा ने कहा हमने एक दूसरे के साथ रहने का मन बना लिया था। वो हर हाल में शादी करना चाहते थे और आगे चलकर उन्होंने ऐसा किया भी। साइमा कहती हैं कि शादी के बाद उनकी जिंदगी बेहद अच्छी चल रही है।

मंसूर कहते हैं कि साइमा से शादी के बाद उनकी जिंदगी में बेहद बरकत देखने को मिली है। अब वे कंपनी में ऊंचे ओहदे पर पहुंच गए हैं। साइमा कहती हैं कि मोहब्बत में धोखा नहीं देना चाहिए। अगर प्यार हुआ है तो उसे निकाह तक पहुंचाना चाहिए। मंसूर कहते हैं कि साइमा ने मेरी गरीबी में मेरा साथ दिया है, इसलिए मुझे लगता है कि मेरी पसंद सबसे अच्छी है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में सरेराह चौक में मर्डर: गैंगस्टर मंत्री यादव...

दुर्ग। दुर्ग में एक बार फिर से हत्या का मामला सामने आया है। ये मामला गैंगवार का लग रहा है। कल रात दुर्ग शहर...

भीषण गर्मी में पक्षियों के लिए ये पहल अच्छी…...

भिलाई। ऊर्जा फाउंडेशन भिलाई द्वारा भीषण गर्मी में पक्षियों की फिक्र करते हुए मिट्टी के सकोरा का वितरण किया जा रहा है। चेयरमैन सरिता...

दुर्ग में ट्रैक्टर से अलग हुई ट्रॉली… हादसे में...

दुर्ग। दुर्ग जिले में हादसों का दौर जारी है। अहिवारा में मॉर्निंग वॉक पर निकले बुजुर्ग दंपति को ट्रैक्टर ने अपने चपेट में ले...

4 को लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती: छत्तीसगढ़...

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रत्याशियों एवं निर्वाचन अभिकर्ताओं को उपलब्ध कराया जाएगा कैल्कुलेटर रायपुर। 4 जून को लोकसभा चुनाव का मतगणना होना है। इसी कड़ी...

ट्रेंडिंग