साय सरकार के पहले बजट पर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सरोज पांडेय का बड़ा बयान, बोली – यह बजट ‘आमजनो की समृद्धि के साथ-साथ बुनियादी ढांचे के विकास को प्रोत्साहित करने वाला बजट

दुर्ग। राज्यसभा सांसद एवं भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सरोज पांडेय ने छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय सरकार के पहले बजट को गरीब युवा अन्नदाता नई और ज्ञान की समृद्धि के साथ बुनियादी ढांचे के विकास को प्रोत्साहित करने वाला बजट बताते हुये कहा छत्तीसगढ़ विधानसभा में विष्णुदेव साय सरकार ने आज अपना पहला बजट पेश किया है । छत्तीसगढ़ सरकार का बजट वर्ष 2023 में प्रदेश में सरकार बनाने से पहले भाजपा ने जनता से कई अहम वादे किए थे।उन वादों को बजट में उतारने की कोशिश की गई है।

उन्होंने कहा साय सरकार की पहले बजट में महतारी वंदन से लेकर भूमिहीन कृषि मजदूर के लिए योजनाएं शामिल की गई है । छत्तीसगढ़ के वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने 1,47,446 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है। साय सरकार के पहले बजट में आम जनता के लिए किसी नए कर की घोषणा नहीं की गई है । छत्तीसगढ़ के वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने शुक्रवार को राज्य विधानसभा में 2024-25 के लिए 1,47,446 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। उन्होंने कहा कि इस बजट में 400 यूनिट तक बिजली बिल हाफ, कोई नया टैक्स नहीं… पहले ही बजट में वित्तमंत्री ने लाभ का पिटारा खोला है। उन्होंने कहा विष्णु देव साय के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के पहले बजट में किसी नए कर की घोषणा नहीं की गई। राज्य को विकासशील से विकसित राज्य में बदलने के उद्देश्य से इस साल 1 नवंबर को ‘अमृतकाल छत्तीसगढ़ विजन 2047’ नामक एक दस्तावेज लोगों को समर्पित किया जाएगा।

साय सरकार के बजट में कृषक उन्नति योजना के लिए 10,000 करोड़, पीएम आवास योजना के लिए 8,369 करोड़, जल जीवन मिशन 4,500 करोड़, हायर सेकेंड्री स्कूल 3,952 करोड़, मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना3,400 करोड़, श्री रामलला दर्शन 35 करोड़, महतारी वंदन योजना 3,000 करोड़, शहीद वीर नारायण सिंह आयुष्मान स्वास्थ्य योजना 1,526 करोड़, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन 1,820 करोड़, अमृत मिशन योजना 700 करोड़, दीनदयाल उपाध्याय भूमिहीन कृषि मजदूर 500 करोड़, पीएम ग्राम सड़क योजना 841 करोड़, शक्ति पीठ परियोजना 5 करोड़, और पांच सालों में छत्तीसगढ़ की जीडीपी को 5 लाख करोड़ से 10 लाख करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य है। इसके लिए 10 पिलर्स का निर्धारण किया गया है। जिसमें ज्ञान, गरीब युवा, अन्नदाता, महिला हमारे केंद्र में हैं।

छत्तीसगढ़ के इस बजट में महिलाओं को ₹12,000, मजदूरों को ₹10,000, रामलला के लिए ₹35 करोड़ का प्रावधान रखा गया है । प्राकृतिक संसाधनों के लाभ का समान वितरण आमजनों के हित में होगा। प्रस्तुत बजट में बताया गया कि नया रायपुर में आईटी हब विकसित किया जाएगा। कोरबा, रायगढ़, उरला, सिलतरा जैसे क्षेत्रों में उद्योगों को आगे बढ़ाया जाएगा, उस पर काम करेंगे। बजट में किसानों, युवाओं और व्यापारियों को बड़ी सौगात दी है । छत्तीसगढ़ की संस्कृति का विकास हमारा संकल्प है। उन्होंने कहा पीएम मोदी ने ‘बदलबो-बदलबो’ का नारा दिया था। यह नारा विकासशील छत्तीसगढ़ को विकसित बनाने के लिए है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

पूर्व CM की उपसचिव सौम्या चौरसिया की जमानत याचिका...

डेस्क। छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाला का मामला में जेल में बंद सौम्या चौरसिया की मुश्किलें कम होने नाम नहीं ले रही है। सुप्रीम कोर्ट...

CG – महिला से छेड़छाड़ का लगा आरोप… युवक...

महिला से छेड़छाड़ का लगा आरोप क्राइम डेस्क। छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में हत्या का मामला सामने आया है। यह मामला जिले के कुकदूर थाना...

छत्तीसगढ़ में 29 नक्सली ढेर: शंकर राव सहित कई...

कांकेर। छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के बीच सुरक्षा बालों और नक्सलियों के बीच बड़ी मुठभेड़ की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा...

डॉक्टर, वकील और टीचर्स की बैठक के बाद MLA...

भिलाई। दुर्ग जिले के वैशाली नगर विधानसभा से भाजपा को एक लाख से अधिक मतों के अंतर से लीड दिलाने विधायक रिकेश सेन और...

ट्रेंडिंग