Bhilai Times

दुर्ग संभाग में मिली महिला की जली हुई लाश; शव के पास मिट्टी तेल का कैन और कपड़ा भी मिला… एक दिन पहले मुंह में शव का हाथ दबाए घूम रहा था श्वान… हत्या की आत्महत्या? जाँच में जुटी पुलिस; पढ़िए

दुर्ग संभाग में मिली महिला की जली हुई लाश; शव के पास मिट्टी तेल का कैन और कपड़ा भी मिला… एक दिन पहले मुंह में शव का हाथ दबाए घूम रहा था श्वान… हत्या की आत्महत्या? जाँच में जुटी पुलिस; पढ़िए

– दुर्ग संभाग के बालोद जिले में मिली महिला की जली हुई लाश
– शव के पास से महिला का एक हाथ था गायब
– 1 दिन पहले कुत्ते के मुंह में देखा गया था इंसान का हाथ
– परिजनों ने बताया कुछ दिन पहले मृत महिला मायके आई थी
– ग्रामीणों ने बताया मानसिक रूप से बीमार थी महिला
– घरवालों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस के पास कराई थी दर्ज

बालोद। दुर्ग संभाग के बालोद जिले में महिला की जली हुई लाश मिली है। महिला की लाश के पास से मिट्टी तेल की बोतल और कुछ कपड़े भी बरामद हुए हैं। महिला की लाश मिलने से इलाके में सनसनी मच गई है। 1 दिन पहले इसी इलाके में एक श्वान (कुत्ते) के मुंह में इंसान का हाथ देखा गया था। अब ये पुष्टि हो गया है कि वह हाथ इसी महिला का था। क्योंकि जब महिला की जली हुई लाश मिली उसका एक हाथ गायब था। पुलिस हत्या और आत्महत्या के दोनों के एंगल से जांच कर रही है।

बताया जा रहा है कि, बालोद जिले के जवाहर पारा की रहने वाली एक महिला की मौत हुई है। इसकी खबर लोगों को तब लगी जब उसके शव का एक हाथ कुत्ते के मुंह में दबा हुआ लोगों ने देखा। ये देखकर लोग हैरान रह गए। गांववालों ने मामले की सूचना तुरंत पुलिस को दी। पुलिस ने आसपास लाश की तलाश की, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका।

DB डिजिटल की एक रिपोर्ट के अनुसार, रविवार को स्कूल की छुट्टी रहने पर कुछ बच्चे ग्राम देऊर तराई नहर के पास खेलने गए, लेकिन वहां से लगे खेत में एक महिला की जली हुई लाश देखकर घबरा गए और गांव में आकर लोगों को ये बात बताई। इसके बाद ग्राम देऊर तराई के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर बालोद थाना पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। वहां महिला के शव का हाथ गायब था, जिससे टीम तुरंत समझ गई कि शनिवार को जो हाथ कुत्ते के पास से मिली थी, ये वही लाश है।

पुलिस ने बताया कि मृत महिला की शिनाख्त किरण बाई नेताम के रूप में हुई है, जो जवाहर पारा में अपने पति और 2 बच्चों के साथ रहती थी। वहीं ग्राम देऊर तराई में उसका मायका है। उसका पति मजदूरी करता है। परिजनों से पूछताछ में पता चला है कि वो कुछ दिन पहले मायके आई हुई थी। 23 फरवरी को वो अपने मामा घर जाने की बात कहकर निकली थी। रात में मामा के घर फोन लगाकर किरण के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि वो तो यहां आई ही नहीं है। इसके बाद परेशान परिजनों ने उसकी तलाश अपने दूसरे रिश्तेदारों के यहां शुरू की, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका।

परिजनों ने महिला की गुमशुदगी की शिकायत पुलिस थाने में भी की थी और अब रविवार को उसकी जली हुई लाश मिली है। जिस जगह पर महिला की लाश मिली है, उस जगह से मिट्टी तेल का डिब्बा, पानी की बोतल और कुछ कपड़े मिले हैं। पुलिस ने कहा कि मिट्टी तेल का जो डिब्बा घटनास्थल से मिला है, वो उसके घर का ही है। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि वो पहले से आत्महत्या करने की नीयत से ही घर से निकली थी। इसके बाद वो नहर किनारे आई होगी और खुद पर केरोसिन डालकर आत्मदाह कर लिया होगा।

हालांकि पुलिस ने कहा कि आत्महत्या के अलावा हत्या के एंगल से भी जांच की जा रही है। पुलिस ने शव को पंचनामा कार्रवाई के बाद पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। वहीं घटनास्थल के पास ही महिला का खेत भी है। इस वजह से शव को पहचानने में ज्यादा समय नहीं लगा। मायकेवालों ने महिला के शव की शिनाख्त की। पुलिस ने बताया कि उन्हें 2 बार घटना की शिकायत मिली। एक बार शनिवार को तब शिकायत मिली थी, जब पास के गांव में कुत्ता शव का हाथ लेकर इधर-उधर घूम रहा था। तब गांववालों ने इसकी सूचना दी थी, लेकिन कल जांच के बाद भी शव नहीं मिल पाया था।

दूसरी बार रविवार को जब बच्चों ने लाश देखी और अपने परिजनों को बताया, तब उन्हें घटना की सूचना मिली। मृत महिला के परिजनों ने भी पुलिस को घटना की सूचना दी थी। लाश का हाथ गायब था, जिससे तुरंत ये अंदाजा हो गया कि यहीं से कुत्ता शव का हाथ नोचकर ले गया होगा। पुलिस ने कहा कि हत्या और आत्महत्या के एंगल से जांच की जा रही है। घटनास्थल से मिले सैंपलों को जांच के लिए भेजा गया है। शव का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की सही वजहों का पता चल सकेगा और आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इधर ग्रामीण चंद्रिका लाल सिन्हा ने बताया कि महिला मानसिक रूप से परेशान थी और कभी-कभी अजीबोगरीब हरकत करने लगती थी। हालांकि पुलिस इस बात की भी जांच करेगी कि महिला किस बात से मानसिक अवसाद में थी। कोई पारिवारिक मामला था या फिर कोई और बात महिला को परेशान कर रही थी। ऐसी क्या बात थी कि महिला अपनी जान देने को मजबूर हो गई।


Related Articles