फीचर स्टोरी: बारिश के मौसम में”KVP वायर्स एंड केबल्स” की डिमांड तेजी से बढ़ी, बीआईएस-आईएस- 694 लाइसेंस की गाईडलाइन मेंटेन, छत्तीसगढ़ में जबरदस्त मांग ,गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं

भिलाई। केव्ही पॉलिटेक द्वारा निर्मित “केव्हीपी वायर्स एंड केबल्स” की डिमांड बारिश के मौसम में तेजी से बढ़ी है। अपनी उच्च गुणवत्ता के कारण निर्मित यह वायर और केबल इस बारिश के मौसम में भी पूरी तरह सुरक्षित है। यह देखा गया है कि अन्य कंपनियों के वायर और केबल बारिश में अचानक फट जाते हैं या फिर उनमें आग लग जाती है। जिससे जान-माल की क्षति होने की आशंका बनी रहती है। इसके विपरीत केव्हीपी वायर और केबल पूरी तरह सुरक्षित है, जिसके कारण इसकी पूरे छत्तीसगढ़ में जबरदस्त मांग है। प्रदेश में “सीएसआईडीसी” एवं “जैम” के द्वारा इसकी मार्केटिंग तो हो ही रही है, लोकल मार्केट में भी इस वायर और केबल की भारी डिमांड हो गई है।

केव्ही पॉलिटेक ने अपने वायर और केबल के निर्माण में बीआईएस-आईएस- 694 (आईएसआई) लाइसेंस के गाईडलाइन को मेंटेन किया हुआ है। यह इकाई आईएसओ -9001/2015 से प्रमाणित है। प्रोडक्ट की गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाता। इसके निर्माण में जो भी तकनीकी की जरूरत है उन सारे मापदंडों से गुजर कर ही इसका निर्माण होता है। तत्पश्चात प्लांट के भीतर ही लैब में टेस्ट करने के बाद इसे मार्केट में भेजा जाता है। यदि गुणवत्ता में कहीं कोई कमी नजर आती है तो उस प्रोडक्ट को तत्काल स्क्रेप कर दिया जाता है।

केव्ही पॉलिटेक द्वारा सबमर्सिबल केबल, एल्यूमिनियम केबल, फ्रीज -टीवी में लगने वाले कॉपर कार्ड, एल्यूमिनियम के सर्विस वायर से लेकर 25 एमएम 4 कोर तक के रेंज का निर्माण किया जाता है।अब इस रेंज को और बढाने जा रहे हैं।, इसके अतिरिक्त आर्मड और अनार्मड केबल के सारे रेंज गुणवत्ता के आधार पर निर्मित किए जाते हैं।

वर्तमान में “केव्हीपी वायर एंड केबल” की डिमांड पूरे छत्तीसगढ़ में बनी हुई है। दुर्ग, भिलाई, चरोदा, राजधानी रायपुर, बिलासपुर, चांपा, रायगढ़, बालोद, बेमेतरा, कवर्धा, खैरागढ़, महासमुंद, धमतरी, नांदगांव, चौकी इत्यादि जगहों में केव्हीपी वायर्स एंड केबल की बहुत डिमांड है। डीलरों से भरपूर सहयोग के चलते यह सुखद परिणाम मिला है।

केव्हीपी पॉलिटेक के संचालकों को इस बात की संतुष्टि है कि जो हमने काम किया है उसकी डिमांड, गुणवत्ता के आधार पर ही मार्केट में हो रही है। “मेक इन इंडिया” के तहत छत्तीसगढ़ में इस प्रोडक्ट के निर्माण की शुरुआत की गई और छत्तीसगढ़ में इस कार्य को काफी अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। संचालकों ने विश्वास दिलाया है कि जो गुणवत्ता हमने बरकरार रखी है वही गुणवत्ता हमेशा रखेंगे।और हमारी सेवा में कोई कमी नहीं होगी।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

गोंडवाना एक्सप्रेस में शराब के नशे में धुत जवान...

डेस्क। दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से दुर्ग जा रही गोंडवाना एक्स्प्रेस में उस समय जमकर हंगामा हो गया, जब एक सेना के...

उत्तराखंड के बदरीनाथ हाईवे पर बड़ा सड़क हादसा: ट्रेवलर...

डेस्क। उत्तराखंड के बदरीनाथ हाईवे पर बड़ा सड़क हादसा हो गया है. जहां यात्रियों से भरा एक टेम्पो ट्रैवलर वाहन अनियंत्रित होकर अलकनंदा नदी...

ओडिशा की नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में...

रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णु देव साय आज शाम भुवनेश्वर के जनता मैदान में आयोजित ओडिशा के नये मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी के शपथ ग्रहण समारोह...

विदेशी महिला हुई ठगी का शिकार: 300 रुपये की...

विदेशी महिला हुई ठगी का शिकार डेस्क। जयपुर में एक विदेशी महिला से 6 करोड़ रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। यहां की...

ट्रेंडिंग