BSP में DGM सस्पेंड, जांच के लिए 6 सदस्यीय कमेटी: इधर शव लेने मर्च्यूरी पहुंचे परिजन…यूनियन नेता भी परिजनों के साथ डटे

भिलाई। कल बीएसपी के ब्लास्ट फर्नेस 7 में बुधवार को एसजीपी के एथर लिफ्टिंग चेम्बर नंबर 2 में वेल्डिंग के दौरान अचानक आग भड़क गई। इसमें झुलसे ठेका श्रमिक राहुल उपाध्याय (32 वर्ष) पिता केशव उपाध्याय की मौत हो गई।

एक अन्य ठेका अमिक परमेश्वर सिका (26 वर्ष) पिता बैसाखु 90% झुलस गया जिसका सेक्टर 9 हॉस्पिटल के बर्न यूनिट में उपचार किया जा रहा है।

इधर शव लेने के लिए परिजन मर्च्यूरी पहुंच गए हैं। हिंदुस्तान इस्पात ठेका श्रमिक यूनियन सीटू के योगेश सोनी, कांग्रेस नेता अरूण सिंह सिसोदिया, जेपी नायर समेत अन्य डटे हुए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार ब्लास्ट फर्नेस 7 को बंद कर 18 अगस्त 2021 से कैपिटल रिपेयर में लिया गया है। कल कैपिटल रिपेयर के दौरान दोपहर 12 बजे एसजीपी के एयर लिफ्टिंग चेम्बर नंबर 2 में ठेका अमिक राहुल उपाध्याय और परमेश्वर वैष्णव करीब 13 मीटर गहराई में एक बड़े हुक को वेल्डिंग करने उतरे थे।

बताया जाता है कि जैसे ही परमेश्वर सिका ने वेल्डिंग करना शुरु किया कि अचानक आग भड़क गई। इसने परमेश्वर सिका को अपनी चपेट में ले लिया। अपने साथी को जलता देख राहुल उपाध्याय उसे बचाने गया लेकिन खुद आग में फंस गया।

सूत्रों के अनुसार या तो वह के अपना सेफ्टी बेल्ट नहीं खोल पाया था फिर उसका पैर फंस गया। वह आग में बुरी तरह जल गया। इन दोनों श्रमिकों के साथ दो अन्य श्रमिक भी काम करने उतरे थे। ये दोनों सुरक्षित बाहर निकल गए। इनमें से एक ठेका श्रमिक का कहना है कि हल्के धमाके की जाएगी।

बीएसपी मैनेजमेंट ने इस मामले में लापरवाही के लिए त्वरित कार्रवाई करते हुए विभाग के डीजीएम मेकनिकल केएसएनआर रमेश को तत्काल सस्पेंड कर दिया है। दोनों ठेका श्रमिकों को पहले मेन मेडिकल पोस्ट लाया गया लेकिन यहां डॉक्टरों ने राहुल उपाध्याय को मृत घोषित कर दिया। परमेश्वर सिका को सेक्टर-9 हॉस्पिटल के बर्न यूनिट में भर्ती किया गया है।

90% झुलसने के कारण उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है। दोनों ठेका श्रमिक मेसर्स अमन कंस्ट्रक्शन के तहत काम कर रहे थे। ठेका श्रमिक राहुल उपाध्याय स्टोरपारा पुरैना चरोदा और परमेश्वर सिका 99 शिवाजी नगर, वार्ड 28 सेक्टर 11, खुर्सीपार के निवासी बताए जाते हैं।

कुछ यूनियन नेताओं का कहना है कि यह हादसा सेफ्टी में लापरवाही का नतीजा है। कायदे से गैस मानिटर का उपयोग किया जाना था जो नहीं किया गया। इसके अलावा यहां पर आग बुझाने का कोई इंतजाम नहीं था।

बीएसपी के जनसम्पर्क विभाग के अनुसार सीजीएम कांट्रेक्ट सेल एमके राणा के नेतृत्व में छह सदस्यीय जांच कमेटी बनाई गई है जो कि रिपोर्ट देगी। फर्नेस विगत 8 माह से बंद था इसके बावजूद आग का भबका उठने के कारणों की जांच होगी।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

छत्तीसगढ़ में बॉयफ़्रेंड ने अपने दोस्तों से करवाया गर्लफ़्रेंड...

जशपुर। जशपुर में प्यार नाम के शब्द को शर्मसार करने वाला घिनौना मामला सामने आया हैं। दरहसल एक प्रेमी ने ही अपनी प्रेमिका का...

गजब मामला: एक ही बच्चे का दो अलग-अलग बर्थ...

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई में संचालित आधार कार्ड सेंटर में आज एक मामला सामने आया है। दरहसल गोकुल कुमार कुशवाहा अपने बच्चे का...

सड़क पर पानी बहाना पड़ा महंगा: लोगों के शिकायत...

दुर्ग। दुर्ग में सुमित बाजार द्वारा सड़क पर पानी का बर्बादी करना महंगा पड़ गया। नगर पालिक निगम सीमा क्षेत्र अंतर्गत सुमीत बाजार परिसर...

बारिश से पहले भिलाई में नाली-नालों की सफाई: जल...

भिलाई। भिलाई में बारिश के मौसम में कहीं भी जल भराव ना हो इसके लिए युद्ध स्तर पर सफाई अभियान चल रहा है। इसी...

ट्रेंडिंग