दुर्ग कलेक्टर ने की समीक्षा बैठक: नगरीय निकायों में बिना इजाजत नहीं करा सकेंगे नलकूप खनन… निगम अमले द्वारा जलापूर्ति के दौरान टूल्लू पंप चलाने पर होगी कार्रवाई… निर्माणाधीन शासकीय भवनों में गोबर पेंट से होगी पुताई

दुर्ग। नगरीय निकायों में बिना प्रशासनिक अनुमति के नागरिक नलकूप खनन नहीं करा सकेंगे। निगम द्वारा जलापूर्ति के दौरान टुल्लू पंप चलाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान निगम अमला मानिटरिंग करेगा ताकि सभी को जलापूर्ति सुनिश्चित की जा सके। एसडीएम भी इस संबंध में टीम बनाकर कार्रवाई करेंगे। कलेक्टर ने आज गर्मी को देखते हुए पेयजल व्यवस्था की स्थिति के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने नगरीय निकायों में इसके लिए किये जा रहे कार्यों के बारे में पूछा। नगरीय निकाय के अधिकारियों ने बताया कि पानी के प्रेशर को बढ़ाने के लिए खराब पाइप बदले जा रहे हैं और वाल्व भी नये लगाये जा रहे हैं। कलेक्टर ने उन क्षेत्रों के लिए विशेष रूप से कार्ययोजना बनाने कहा, जहां पेयजल संकट की आशंका हमेशा बनी रहती है। उन्होंने कहा कि पाइपलाइन की मरम्मत के साथ ही खराब पड़े नलकूपों की मरम्मत भी करें। उन्होंने कहा कि पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था अच्छी होनी चाहिए और इसके लिए अभी से तैयारियों में जुट जाएं। बैठक में नगर निगम आयुक्त रोहित व्यास तथा अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

फाइट द बाइट कैंपेन पर हो रहा तेजी से काम- कलेक्टर ने मलेरिया उन्मूलन पर कराये जा रहे कार्यों की विशेष रूप से समीक्षा की। अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए घर-घर सर्वे किया जा रहा है और तालाबों की साफसफाई का व्यापक रूप से कार्य किया जा रहा है। घर घर पहुंच से मच्छरों के रोकथाम में मदद मिल रही है। कलेक्टर ने नगरीय निकायों के अधिकारियों से इसकी लगातार मानिटरिंग के लिए कहा।

असहाय पशुओं की चिकित्सा के लिए बनेगा ट्रामा सेंटर- उतई में असहाय पशुओं की चिकित्सा के लिए ट्रामा सेंटर स्थापित किया जाएगा। इस संबंध में भूमि के चिन्हांकन के लिए कलेक्टर ने सीएमओ को निर्देश दिये। कलेक्टर ने गौठानों में उन्नत नस्ल के गायों के पालन के लिए की गई कार्रवाई के बारे में भी जानकारी ली। साथ ही सभी गौठानों में यूरिया ट्रीटमेंट युक्त पैरा उपलब्ध कराने के लिए कहा।

सभी बाड़ियों को जैविक बाड़ियों में किया जाएगा अपग्रेड- कलेक्टर ने बैठक में कहा कि अभी 60 से अधिक बाड़ियों में जैविक खाद से सब्जी उत्पादन हो रहा है। धीरे-धीरे सभी बाड़ियों को जैविक बाड़ियों में परिवर्तित करें। इसके लिए आवश्यक तैयारियां कर लें। जिला पंचायत सीईओ अश्विनी देवांगन ने बताया कि अभी बाड़ियों में मोनोक्रापिंग हो रही है। साथ ही रोपणी से पौधे दिये जा रहे हैं। जैविक बाड़ियों को विकसित करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

निर्माणाधीन शासकीय भवनों में भी गोबर पेंट से होगी पुताई, इसके लिए साल भर की खपत की जानकारी ली गई- निर्माणाधीन शासकीय भवनों में भी गोबर पेंट से पुताई होगी। कलेक्टर ने सभी निर्माण एजेंसियों से उनके चल रहे काम की जानकारी ली तथा इसके लिए लगने वाले गोबर पेंट की खपत के बारे में पूछा। उन्होंने कहा कि इसके मुताबिक गोबर पेंट यूनिटों द्वारा आपूर्ति की जाएगी।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में PM आवास योजना के घटक मोर मकान-मोर...

दुर्ग। दुर्ग निगम क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के घटक मोर मकान-मोर आस अंतर्गत पात्र/अपात्र की सूची तैयारी किया गया है। आपत्ति दावा प्रकाशन...

टाउनशिप में अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ बिग एक्शन: पुलिस...

भिलाई। सेल के भिलाई इस्पात संयंत्र के नगर सेवाएं विभाग के प्रवर्तन अनुभाग द्वारा लगातार अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ बेदखली की कार्रवाई की जा...

चिटफंड के फ्रॉड डायरेक्टर्स के खिलाफ होगी ताबड़तोड़ कार्रवाई:...

दुर्ग। दुर्ग रेंज के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (IGP) रामगोपाल गर्ग (IPS) ने सोमवार को एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें चिटफंड के...

CM विष्णु देव की अच्छी पहल: छत्तीसगढ़ की पबिया,...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने भारत सरकार को छत्तीसगढ़ की पबिया, पविया, पवीया जाति को ST की सूची में पाव जाति...

ट्रेंडिंग