Bhilai Times

सिंप्लेक्स कास्टिंग के कर्मचारी हलाकान, विधायक देवेंद्र के पास पहुंचे समस्या बताने: 10 सूत्रीय मांगों को पूरा करने ज्ञापन दिया, कर्मी बोले-विरोध प्रदर्शन करने होंगे मजबूर

सिंप्लेक्स कास्टिंग के कर्मचारी हलाकान, विधायक देवेंद्र के पास पहुंचे समस्या बताने: 10 सूत्रीय मांगों को पूरा करने ज्ञापन दिया, कर्मी बोले-विरोध प्रदर्शन करने होंगे मजबूर

भिलाई। छग मेटल एण्ड इंजीनियरिंग वर्कर्स यूनियन ने सभी पदधिकारी व सदस्य अपनी समस्याओं और अपनेे अधिकार की मांग लेकर भिलाईनगर विधायक देवेंद्र यादव के कार्यालय पहुंचे। जहां सिम्पलेक्स कास्टिंग एंड लिमिटेड भिलाई और भिलाई इंजीनियरिंग कारपोरेशन के संयुक्त मिटिंग हुई। सभी कर्मचारियों ने अपने केंद्रीय अध्यक्ष आदित्य सिंह महासचिव अरविंद श्रीवास्तव, सिम्प्लेक्स के अध्यक्ष रामसिंह ठाकुर, बीसी के अध्यक्ष जे हरिकृष्णा सहित सभी सदस्य व पदाधिकारी मिटिंग में शामिल हुए।

यहां भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव की अध्यक्षता में सभा का आयोजन किया गया। यहां यूनियन के पदाधिकारियों ने बारी-बारी से अपने सभी कर्मचारियों की समस्याओं को सार्वजनिक रूप से खुलकर विधायक के समक्ष रखा और यह भी बताया कि कंपनी संचालक कैसे मजदूरों व कंपनी के कर्मचारियों का हक मार रहे हैं।

उन्हें उनका अधिकार नहीं दे रहे हैं। सभा को संबोधित करते हुए अध्यक्ष ने बताया कि सिम्प्लेक्स और बीसी कंपनी में हमारे यूनियन की 95 प्रतिशत श्रमिक सदस्य है। कपंनी के उत्पादन में वृद्धि एवं प्राप्त आर्डर को समय पर पूरा करने श्रमिकों द्वारा ईमानदारी से कार्य कर व अनुशासन का पालन करने से कंपनी प्रबंधन को हमेशा ही लाभ पहुंचाया है।

श्रमिकों द्वारा कंपनी के हित को देखते हुए ओवर टाइम डयूटी भी किया जाता था, समय-समय पर प्रबंधन व यूनियन की मध्य मिटिंग में श्रमिकों की समस्याओं पर चर्चा कर याद दिलाया जाता था परन्तु प्रबंधन ने मजदूरी की समस्याओं के विभिन्न विषय पर सिर्फ आश्वासन ही देते रहा है।

प्रबंधन मजदूरों से अपने कंपनी के प्रोडक्शन बढ़ाने में ध्यान दे रहा है। लेकिन मजदूरों की समस्याओं पर प्रबंधन गंभीर नजर नहीं आ रही है, औद्योगिक अशांति की स्थिति प्रबंधन की मंशा दिख रही है, श्रमिक युनियन कभी नहीं चाहता औद्योगिक अशांति की स्थिति निर्मित हो।

मजदूरों ने विधायक देवेंद्र यादव को बताया कि यदि जल्द ही कंपनी प्रबंधन उनकी विभिन्न समस्यों पर शीघ्र ही पहल नहीं किया तो वे सब कोविड-19 को देखते हुए लोकतांत्रिक तरीके से विरोध प्रदर्शन करने पर मजबूर हो जाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी प्रबंधन व शासन एवं प्रशासन की होगी।

संघ के पदाधिकारियों ने विधायक देवेंद्र यादव को यह भी बताया कि उन्होंने अपने विभिन्न समस्याओं की शिकायत श्रममंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, श्रमायुक्त रायपुर, जिलाधीश दुर्ग, सहायक श्रमायुक्त दुर्ग, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा अधिकारी व कार्मिक प्रबंधक सिम्प्लेक्स और बीसी कंपनी से की है। इसके अलावा यूनियर के पदाधिकारियों ने समस्याओं की एक प्रति विधायक देवेंद्र यादव को भी सौंपी।

मजदूरों की ये भी समस्याएं
1. फरवरी 2018 से दिसंबर 2018 की ओवर टाइम की भुगतान शीघ्र किया जाए।
2. लगभग 22 से 25-माह की भविष्य निधि की बकाया अंशदान शीघ्र जमा किया जाए।
3. निकाले गये श्रमिको की गेजुवेटी दिया जाए।

4. एक वर्ष पूर्ण किये गये श्रमिको को पीएफ एवं ईएसआईसी का लाभ सुविधा दिया जाए।
5. प्रबंधन द्वारा किसी भी श्रमिको को ठेकादार नहीं बनाया जाए।
6. श्रम कानून को कड़ाई से पालन किया जाए।
7. श्रमिको के दबाव पूर्वक ओवर टाइम नहीं कराया जाए।

8. श्रमिकों का नया वेतन समझौता अप्रेल 2021 से तत्काल किया जाए।
9. सेफ्टी शू एवं यूनिफार्म समय पर दिया जाए।
10. व्हीआर स्कीम लागू किया जाए।


Related Articles