दुर्ग जिले में शुद्ध और सुरक्षित पेयजल देने के लिए जिला प्रशासन को गेल CSR मद से मिले 25 लाख रूपए, कलेक्टर ऋचा को गेल इंडिया के महाप्रबंधक ने सौंपा चैक

दुर्ग। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी से गेल (इंडिया) के महाप्रबंधक नजीब कुरैशी ने मुलाकात की। गेल (इंडिया) लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी प्राकृतिक गैस कंपनी है और एशिया में शीर्ष गैस उत्पादकों में से एक है। यह एक महारत्न कंपनी है जो व्यवसायिक गतिविधियां जैसे गैस प्रोसेसिंग एवं तरलीकृत पेट्रोकेमिकल्स के उत्पादन और विपणन का कार्य करती है।

देश के कई राज्यों के आर्थिक विकास में गेल महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इसके तहत राज्य के प्रमुख जिलों एवं शहरों को ट्रंक लाइन से जोड़ा जा रहा है जिससे औद्योगिक वाहनों और घरेलू खपत के लिए प्राकृतिक गैस की पंहुच को आगे बढ़ाया जा सकेगा। इसी कड़ी में दुर्ग जिले में शुद्ध एवं सुरक्षित पेयजल प्रदान करने के उद्देश्य से गेल (नागपुर-रायपुर-झाड़सूगुडा) पाइपलाइन के अन्तर्गत कॉर्पाेरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सी.एस.आर.) के तहत 21 ग्रामों के स्कूल, अस्पताल, पंचायत भवन एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों में परियोजना संचालित की जा रही है। जिसके लिए गेल (इंडिया) के महाप्रबंधक नजीब कुरैशी ने 50 लाख की परियोजना में पहली किस्त स्वरूप 25 लाख रूपए की राशि कलेक्टर चौधरी को प्रदान की। इस दौरान बाला चंद्रा उप महाप्रबंधक गेल (इंडिया) लिमिटेड एवं सौरभ सिंह मुख्य प्रबंधक गेल (इंडिया) लिमिटेड मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू कर रहे है लगातार विभिन्न...

दुर्ग। कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू ने आज दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में जनसंपर्क करते हुए चुनाव प्रचार किया। दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र...

CG – चरित्र शंका और मर्डर: कैरेक्टर पर शक...

चरित्र शंका और मर्डर क्राइम डेस्क। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक पति ने अपनी पत्नी का मर्डर कर दिया है। पति को पत्नी के...

छत्तीसगढ़ में ह्यूमन ट्रैफिकिंग गैंग का भंडाफोड़: जशपुर पुलिस...

जशपुर। जशपुर जिले के पुलिस कप्तान IPS शशि मोहन सिंह के नेतृत्व में जिला पुलिस ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग (मानव तस्करी) गैंग का भंडाफोड़ किया...

कांकेर मुठभेड़: नक्सलियों ने जारी की प्रेस विज्ञप्ति, कांकेर...

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर में 16 अप्रैल को हुई प्रदेश के इतिहास मे सबसे बड़ा नक्सल ऑपरेशन चलाया गया। इस एनकाउंटर 29 माओवादी मारे...

ट्रेंडिंग