रामनगर में डायरिया: स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ वार्ड और अस्पताल में पहुंचे चेयरमैन लक्ष्मीपति राजू…बेहतर उपचार के दिए निर्देश

भिलाई। भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव एवं महापौर नीरज पाल के निर्देश पर आज स्वास्थ्य प्रभारी लक्ष्मीपति राजू ने उल्टी दस्त से पीड़ित मरीजों का हाल जानने लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला पहुंचे। वहां उन्होंने पीड़ितों के स्वास्थ्य को लेकर चिकित्सकों से चर्चा की और बेहतर स्वास्थ्य मुहैया कराने कहा।

वही स्वास्थ्य प्रभारी ने मरीजों से मुलाकात कर उनका कुशलक्षेम पूछा और जल्द स्वास्थ होने की कामना की। कई पीड़ित स्वस्थ होकर घर भी लौट चुके हैं। पीड़ितों में लोकनाथ साहू, लक्ष्मी साहू, मुकेश वर्मा, धनेश्वरी सिदार, ढाल सिंह साहू, लीलाबाई, जीत राम देवांगन एवं ललित श्रीवास आदि है।

इस दौरान स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा एवं जन स्वास्थ्य अधिकारी अंकित सक्सेना मौजूद रहे। इससे पूर्व स्वास्थ्य प्रभारी ने बारिश से जलभराव की संभावनाओं को देखते हुए शहर का अधिकारियों के साथ जायजा लिया।

इधर निगम आयुक्त लोकेश चंद्राकर के निर्देश पर जल जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए नगर पालिक निगम भिलाई एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम वार्ड 19 रामनगर व राजीव नगर मंत्री बाड़ी पहुंची।

उल्टी, दस्त से प्रभावित क्षेत्र का सघन निरीक्षण करते हुए यहां के लोगों को जल जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए जागरूक किया गया तथा इससे संबंधित पंपलेट का वितरण किया गया। लोगों को पानी उबालकर, छानकर पीने की अपील की गई।

वहीं कई क्षेत्रों से पानी का सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है। निगम की टीम ने शिव मंदिर लाइन, जंघेल भवन, कॉपरेटिव लाइन, ग्राहक सेवा केंद्र के आसपास के सभी घरों में गृहभेट एवं छिड़काव का कार्य किया। स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने बताया कि सोडियम हाइपोक्लोराइट के घोल से पानी का उपचार किया जा रहा है।

निगम के द्वारा घर-घर क्लोरीन टेबलेट का वितरण किया जा रहा है और 20 लीटर पानी में 1 टेबलेट के अनुपात में संग्रहित किए गए जल पात्र में डाल कर 1 घंटे के बाद सेवन करने की सलाह दी जा रही है।

बरसात के मौसम में गर्म एवं ताजा भोजन करने एवं सड़े गले फल, सब्जी भोज्य पदार्थ का सेवन नहीं करने की सलाह भी दी गई। राष्ट्रीय वेक्टर जनित डेंगू, मलेरिया, मच्छर जनित रोगों से बचाव हेतु अपने घरों एवं बाग, बगीचों में बरसाती पानी जमा नहीं होने देने तथा खिड़खियो में लगे कूलर जो उपयोग नहीं किए जा रहे हैं

उन्हें उतारकर रखने, घर के सभी टंकी, पात्र जिसमें उपयोग किए जाने हेतु पानी संग्रहित कर रखा जाता है इसे समय-समय पर सफाई करने की सलाह भी दी गई, टेमीफास् का वितरण भी घर-घर किया जा रहा है और इसके उपयोग के तरीके बताए जा रहे है। ब्लीचिंग पाउडर का भी छिड़काव प्रभावित क्षेत्र में किया गया।

प्रभावित क्षेत्र में आज जोन आयुक्त पूजा पिल्ले, प्रभारी कार्यपालन अभियंता कुलदीप गुप्ता, प्रभारी सहायक अभियंता अरविंद शर्मा, उप अभियंता निर्मलकर, जोन स्वास्थ्य अधिकारी अनिल मिश्रा ने मोहल्ले का भ्रमण कर लोगो को जल जनित बीमारियों के प्रति जागरूक किया।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

भिलाई में अब होगा मॉडर्न GIS सर्वे: ड्रोन से...

भिलाई। भिलाई निगम क्षेत्र में अब ड्रोन की मदद से आधुनिक तरीके से GIS सर्वे होगा। नगर निगम भिलाई द्वारा अपने भवनों और भूमियों...

सड़क पर रेत का ढेर रखना पड़ा महंगा… नगर...

दुर्ग। दुर्ग में नगर निगम द्वारा सड़क किनारे रखी निर्माण सामग्री के मालिकों पर कार्रवाही शुरू हो गई है। भवन निर्माण सामग्री के कारण...

भिलाई कुरुद के ढौर तालाब का सफाई कार्य जल्द...

भिलाई। भिलाई के वार्ड 22 कुरुद बस्ती में स्थित ढौर तालाब की सफाई विगत कई वर्षों से नहीं हुई थी। तालाब में जलकुंभी, तालाब...

IIT भिलाई कैंपस से निगम ने नसबंदी के लिए...

भिलाई। भिलाई में स्ट्रीट डॉग्स नसबंदी अभियान में लापरवाही का मामला सामने आया है। दरहसल IIT भिलाई कैंपस में आवारा कुत्तों की संख्या लगातार...

ट्रेंडिंग