भिलाई के सेक्टर-9 अस्पताल में आंतरिक संसाधनों से बनकर तैयार है नया पार्किंग स्टैंड… ED वर्क्स ने किया शुभारंभ, BSP के “गो ग्रीन” अभियान को मिलेगी मजबूती

भिलाई। भिलाई के सेक्टर-9 जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र में आंतरिक संसाधनों से एक लाख स्क्वायर फिट से भी अधिक एरिया में बने नवनिर्मित पार्किंग स्टैंड का शुभारंभ, संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनी कुमार द्वारा 08 जून 2024 को किया गया। इस अवसर पर जेएलएन अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रभारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवांए) डॉ एम रविन्द्रनाथ सहित मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (आयरन) =तापस दासगुप्ता, मुख्य महाप्रबंधक (एमआरडी) सुशील कुमार, मुख्य महाप्रबंधक (पर्यावरण प्रबंधन) डी एल मोई‌त्रा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवांए) डॉ विनीता द्विवेदी, महाप्रबंधक प्रभारी (पर्यावरण प्रबंधन) उमा कटोच, महाप्रबंधक (ईडी-सचिवालय) अजय कुमार विशेष रूप से उपस्थित थे।

इस कार्य का शुभारंभ करते हुए, कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) श्री अंजनी कुमार ने जेएलएन अस्पताल के मेंटेनेस सर्विसेस टीम के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा, कि बीएसपी के “गो ग्रीन” अभियान को मजबूती प्रदान करते हुए, फोर व्हीलर एवं टू व्हीलर के पार्किंग हेतु नवनिर्मित इस स्टैंड के निर्माण में भिलाई इस्पात संयंत्र के सेल ग्रीन टाइल्स प्लांट (एसजीटीपी) द्वारा संयंत्र के वेस्ट प्रोडक्ट से निर्मित पेवर ब्लॉक का उपयोग किया गया है। इसके साथ ही अस्पताल के मेंटेनेस सर्विसेस टीम के सदस्यों ने आंतरिक संसाधनों का उपयोग कर इसका निर्माण किया है, इससे संयंत्र को लाखों की बचत हुई है। इनका यह कदम अनुकरणीय है। उन्होंने संपूर्ण अस्पताल की टीम को बधाई दी।

अस्पताल के सफाई कर्मचारी तथा सिविल मेंटेनेंस के कार्मिक तथा अस्पताल के पेस्ट कंट्रोल के श्रमिकों ने अपने नियमित दायित्व के साथ-साथ अपने बचे समय का सदुपयोग करते हुए, इस स्टैंड के कार्य को पूर्ण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) श्री अंजनी कुमार ने इन सभी कार्मिकों के योगदान को रेखांकित करते हुए इन्हें पुरस्कृत व सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन शाहिद अहमद द्वारा किया गया।

आंतरिक संसाधनों के उपयोग से बीएसपी को 76 लाख रुपए की बचत
जेएलएन अस्पताल के मेंटेनेंस सर्विसेस के महाप्रबंधक श्री शाहिद अहमद ने नवनिर्मित पार्किंग स्टैंड की विशेषता का उल्लेख करते हुए बताया, कि इस नवनिर्मित वाहन स्टैंड का निर्माण आंतरिक संसाधनों से किया गया है। जिसके फलस्वरुप संयंत्र को लगभग 76 लाख रुपए की बचत हुई है।

मिलेगी बेहतर पार्किंग सुविधाएँ
बीएसपी के चिकित्सालय प्रबंधन ने सदैव ही मरीजों तथा उनके परिजनों एवं कार्मिकों को बेहतर सुविधा देने का प्रयास किया है। इसी कड़ी में जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवम् अनुसंधान केन्द्र, भिलाई में वाहन पार्किंग की सुविधा का विस्तार किया गया है। विदित हो कि सेक्टर-9 अस्पताल के पार्किंग स्थल के पास की खाली जमीन पर बरसात के दिनों मे जल भराव होता था, कीचड़ की समस्या के कारण कर्मचारियों तथा मरीजों के परिजनों को वाहन पार्किंग में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता था। इस समस्या से निजात दिलाने हेतु, मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ एम रवींद्रनाथ के कुशल नेतृत्व तथा एस एम शाहिद अहमद के मार्गदर्शन में अस्पताल की मेंटेनेंस टीम ने वाहन पार्किंग सुविधा में विस्तार करने के कार्य को बारिश के पूर्व पूर्ण करने मे सफलता प्राप्त की है।

नये पार्किंग में 500 से अधिक गाड़ियां खड़ी हो सकेंगी
जेएलएन अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉक्टर एम रविंद्रनाथ ने इस प्रोजेक्ट की विशेषता बताते हुए कहा, कि इस नयी पार्किंग व्यवस्था से जहां मरीजों तथा उनके परिजनों को नई पार्किंग की सुविधा प्राप्त होगी वहीं अस्पताल के विजिटर्स के लिए भी पार्किंग की सुगम व्यवस्था की जा सकेगी। यह पार्किंग बारिश के दिनों में कीचड़ व गंदगी से भी निजात दिलाएगा। इस एक लाख स्क्वायर फीट से भी बड़े पेवर ब्लॉक लगे पार्किंग में लगभग 500 से अधिक वाहन खड़ी की जा सकेंगी।

पर्यावरण हितैषी पार्किंग की व्यवस्था
शाहिद अहमद ने भिलाई इस्पात संयंत्र के पर्यावरण हितैषी कार्यों को रेखांकित करते हुए बताया, कि एमआरडी द्वारा दिए गए सुझाव के अनुरूप इस नए पार्किंग के निर्माण में रेत की जगह जीरो से 5 एमएम वाले एलडी स्लैग के चूरे का उपयोग किया गया है। इसके प्रयोग से पर्यावरण संरक्षण में भी मदद मिलेगी। इस एलडी स्लैग को बिछाने के पश्चात इसके ऊपर संयंत्र के सेल ग्रीन टाइल्स प्लांट (एसजीटीपी) द्वारा वेस्ट प्रोडक्ट से बने बेहतरीन क्वालिटी वाले पेवर ब्लॉक का उपयोग किया गया है।

सुरक्षित पार्किंग व्यवस्था से लोगों में हर्ष
उल्लेखनीय है कि इस पार्किंग सुविधा के विस्तार से जहां अस्पताल के कर्मचारियों को सुरक्षित पार्किंग व्यवस्था प्राप्त होगी, वहीं मरीजों के परिजनों को बरसात तथा गर्मी के दिनों मे होने वाली वाहन पार्किंग की असुविधा से भी निजात मिलेगी। इस उत्कृष्ट कार्य से जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवम् अनुसंधान केन्द्र में मरीजों व कार्मिकों को बेहतर पार्किंग व्यवस्था प्राप्त होने से लोगों ने खुशी जाहिर की है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

CG – पुलिस विभाग में तबादले: कई निरीक्षकों का...

पुलिस विभाग में तबादले डेस्क। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में प्रशासनिक कसावट लाने के लिए पुलिस कप्तान रजनेश सिंह ने शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के कुछ...

दुर्ग में खौफनाक वारदात: पहले पति ने अपनी पत्नी...

दुर्ग। दुर्ग जिले के उतई के पास खोपली गांव में शुक्रवार रात बड़ा कांड हो गया है। खोपली गांव के रहने वाले हेंगल बंजारे...

वर्ल्ड ब्लड डोनर डे पर सन्ना ब्लड सेंटर ने...

भिलाई। वर्ल्ड ब्लड डोनर डे 14, जून के उपलक्ष्य में सन्ना ब्लड बैंक के द्वारा मेगा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन 14 जून दिन...

छत्तीसगढ़ में पुलिस और नक्सलियों के बीच एनकाउंटर: 8...

File Photo नारायणपुर। छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर सामने आ रही है। मिली जानकारी के अनुसार, छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र राज्य की सीमा...

ट्रेंडिंग