Bhilai Times

रस्तोगी कॉलेज मामले में HITEK अस्पताल भी रडार में आया…नगर निगम भिलाई ने भेजा नोटिस, पूछा-ये उल्लंघन क्यों?

रस्तोगी कॉलेज मामले में HITEK अस्पताल भी रडार में आया…नगर निगम भिलाई ने भेजा नोटिस, पूछा-ये उल्लंघन क्यों?

भिलाई। रस्तोगी एजुकेशन सोसायटी द्वारा स्मृति नगर भिलाई स्थित वेद हॉस्टल में डीडीयूजीकेवाई स्किल ट्रेनिंग कोर्स की पढ़ाई करने आए छात्राओं की तबीयत बिगड़ने के मामले में पुलिस के बाद नगर निगम भिलाई ने भी कार्रवाई की है। नगर निगम भिलाई ने हाइटेक अस्पताल को नोटिस जारी किया है। निगम ने नोटिस जारी कर अस्पताल प्रबंधन को कई मामलों में भी जिम्मेदार ठहराया है।

निगम ने नोटिस में क्या लिखा है…
विषयांतर्गत लेख है कि जोन क्रं. 01 नेहरू नगर अन्तर्गत स्मृति नगर स्थित रस्तोगी नर्सग सोसायटी द्वारा संचालित वेद हास्टल में निवासरथ 39 विद्यार्थीयों के स्वास्थ्य खराब होने की सूचना प्राप्त हुई। तद्संबंध में उच्चाधिकारियों के उपस्थिति में पंचनामा किया गया। पंचनामा में यह पाया गया की उनके द्वारा विद्यार्थियों के लिए पेयजल हेतु वाटर कुलर का उपयोग किया जा रहा था जो क्षतिग्रस्थ व खराब था जिससे गंदे पानी पीने के कारण उक्त विद्यार्थी बीमार पड़े।


वेद हास्टल में वार्डन की उपस्थिति पंजी अनुसार 227 विद्यार्थी निवासरथ है। जिसमें से 39 विद्यार्थी उल्टी दस्त के शिकायत पाए जाने के कारण क्रमबद्ध तरीके से हाईटेक मल्टी स्पेशलीस्ट हॉस्पिटल में दिनांक 29/07/2022 से 31/07/2022 तक लगातार तीन दिवस तक विद्यार्थियों को उपचार हेतु हास्टल के संचालको द्वारा भर्ती कराया जाता रहा। किन्तु आपके द्वारा नगर पालिक निगम भिलाई अथवा जिला प्रशासन को सही समय पर तत्काल सूचित करना अनिवार्य था।

किन्तु आपके द्वारा ऐसा नहीं किया गया। जो कि नर्सिंग होम एक्ट का उलंघन है। साथ ही वहां के हास्टल में अन्य विद्यार्थी निवासरथ थे उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड किये जाने का कार्य आपके द्वारा किया गया। उक्त संबंध में आपके द्वारा सही समय पर अवगत कराया जाता तो हास्टल प्रबंधन द्वारा की गई लापरवाही का उचित कार्यवाही कर होने वाले गंभीर समस्या को रोकने हेतु उपाय किया जा सकता था। आपके इस कृत्य से सैकड़ो विद्यार्थियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया गया है। जिसके लिए आप स्वयं जिम्मेदार है।

अतः आप पत्र प्राप्ति के तीन दिवस के भीतर आपके द्वारा की गई गैर जिम्मेदारी व लापरवाही के संबंध में स्पष्टिकरण अधोहस्ताक्षरकर्ता को प्रस्तुत करे। निर्धारित समयावधि में संतुष्टिपूर्ण स्पष्टिकरण नही प्रस्तुत करने की स्थिति में आपके हास्पिटल को निगम द्वारा जारी अनुज्ञप्ति लाइसेंस निरस्तीकरण हेतु कार्यवाही की जावेगी व उच्चाधिकारियों एवं जिला प्रशासन को नर्सग होम एक्ट का पालन नहीं किये जाने के संबंध में कार्यवाही किये जाने हेतु प्रस्तुत किया जावेगा। जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी आपकी स्वयं की होगी।

आज ही एफआईआर हुई है…
रस्तोगी कालेज प्रबंधन की लापरवाही उजागर होने के बाद जांच रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने हास्टल प्रबंधन के खिलाफ अपराध कायम किया है। एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सौंपे गए रिपोर्ट के आधार पर स्मृति नगर पुलिस ने धारा 265, 270, 337, 304 ए के तहत कार्रवाई किया है। इस दौरान पुलिस ने परिजनों की शिकायत और उनके बयान के बाद कार्रवाई किया गया है।

जांच रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि हास्टल प्रबंधन ने छात्रों के खान पान में अव्यवस्था फैला कर रखा था। इसके अलावा पीने के पानी के जगह पर भी साफ सफाई नहीं होने के कारण छात्राएं उल्टी दस्त के चपेट में आई थी। गौरतलब हो कि 29 जुलाई को रस्तोगी कालेज के वेद हस्टल के स्किल डेव्लेपमेंट की छात्राएं उल्टी दस्त की चपेट में आने के बाद एच छात्रा की मौत बालोद में होने से खुलासा हो पाया था। बीते तीन दिनों से प्रबंधन ने मामले को दबाकर रखा हुआ था।

कल कलेक्टर और एसपी ने किया था निरीक्षण
रस्तोगी कॉलेज में आवासीय छात्रावास में कुछ छात्राओं की उल्टी दस्त होने की शिकायत के बाद हाईटेक अस्पताल में भर्ती होने की सूचना मिलने पर कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा एवं एसपी डॉ अभिषेक पल्लव हाइटेक हॉस्पिटल पहुंचे। इससे पूर्व अस्पताल प्रबंधन ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को इसकी जानकारी दी थी एवं उनकी टीम ने भी मौके पर पहुंच कर छात्राओं की तबीयत की स्थिति जानी थी।

कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा ने हॉस्पिटल में व्यवस्थाओं की जांच के निर्देश दिए थे। जांच में पाया गया कि वाटर कूलर और आरओ खराब स्थिति में थे जिसकी वजह से पानी खराब था और छात्राओं की तबीयत खराब हुई। जांच में पाया गया कि पानी खराब होने की वजह से छात्राओं की तबीयत खराब हुई। कलेक्टर ने बताया कि इस संबंध में हॉस्टल प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। एक छात्रा की मृत्यु भी हुई है। इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

कॉलेज मैनेजमेंट का पक्ष भी जानिए…

  • रस्तोगी एजुकेशन सोसायटी द्वारा स्मृति नगर भिलाई स्थित वेद हॉस्टल में डीडीयूजीकेवाई स्किल ट्रेनिंग कोर्स में बच्चों के ठहरने की व्यवस्था की गई है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • मॉडल टाउन भिलाई में संचालित मेस में भोजन तैयार करके वेद हॉस्टल एवं अन्य तीन हॉस्टल के बच्चों के लिए भोजन व्यवस्था की जाती है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • दिनांक 29 जुलाई को वेद हॉस्टल के 5-6 बच्चों को उल्टी दस्त की शिकायत होने पर उन्हें स्मृतिनगर स्थित हाईटेक हॉस्पिटल में उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • 30 व 31 जुलाई को और 40 बच्चों को भी उल्टी दस्त की शिकायत होने पर उन्हें भी उपचार के लिए हाईटेक हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • जहां बच्चों का उपचार जारी है। एवं 10-12 बच्चे ठीक होकर वापस हॉस्टल आ गए है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • एक अन्य लड़की कामिनी को बुखार की शिकायत होने पर दि. 29 जुलाई को उसके परिवार वाले आवेदन देकर अपने घर ले गए थे: कॉलेज मैनेजमेंट
  • बाद में पता चला कि 31 जुलाई रात को तबीयत खराब होने पर राजनांदगांव हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां उपचार के दौरान कामिनी की मृत्यु हो गई: कॉलेज मैनेजमेंट
  • प्रबंधन द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य खराब होने पर तत्काल उपचार के लिए समूचित व्यवस्था की गई है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • प्रबंधन द्वारा लापरवाही नहीं की गई है: कॉलेज मैनेजमेंट
  • कॉलेज मैनेजमेंट की ओर से श्रीनू नायर, जनरल मैनेजर, डीडीयूजीकेवाई स्किल ट्रेनिंग ने अपनी बातें रखी है

Related Articles