भिलाई में शिव शक्ति सेवा समिति द्वारा शिवमहापुराण: पहले दिन कथावाचिका आराध्य शर्मा ने सुनाया महात्मय अध्याय… भरी गर्मी में जुटे भक्त, अतिथियों का हुआ सम्मान

भिलाई। भिलाई के कैम्प-1 शिव संतोषी मंदिर, तीन दर्शन मंदिर में शिव शक्ति सेवा समिति द्वारा शिवमहापुराण कथा का आयोजन किया जा रहा है। कथा के पहले दिन 1 मार्च 2024 शुक्रवार को भक्तों के अंदर भरी गर्मी में गजब का उत्साह देखने को मिला। राष्ट्रिय कथावाचिका किशोरी आराध्या शर्मा ने प्रथम दिवस की कथा में भगवान के ही प्रत्यक्ष स्वरूप श्री शिवमहापुराण सबका कल्याण करने वाली पापों का शमन करने वाली मोक्ष प्रदायनी कथा में प्रथम दिवस शिवपुराण के महात्मय के बारें में बताया। 24 हजार श्लोक वाली इस अद्भुत रहस्यमई कथा 18 पुराणों में चतुर्थ क्रम का पुराण है जिसे सबसे श्रेष्ठ महापुराण कहा गया है।

महात्मय की चर्चा में एक बिंदुक नाम के ब्राह्मण की चर्चा हुई जो अपने कर्तव्यों से विमुख पराई स्त्री का संग कर काम वासना में लिप्त रहता था। जिनको नर्क की गति मिली। उनकी पत्नी थी चंचूला जो उनके व्यवहार से व्यथित थी। कालांतर में वो भी वही कार्य करने लगी। एक समय चंचूला प्रभाष क्षेत्र के किसी मंदिर में गई जहां शिवमहापुराण की कथा हो रही थी। उन्हे कथा का फल ऐसा मिला की प्रेत योनि में उनके पति गए थे नर्क में उसको सद्गति मिली। शिवमहापुराण कथा श्रवण करने के नियम भी कथा में बताए गए। भगवान के सहज कृणारूप का वर्णन एवं शिवअष्टक स्त्रोत का गायन किया गया। मंगल आरती के साथ कथा का विराम हुवा।

आयोजकों ने बताया कि, कथा का सीधा प्रसारण यूट्यूब चैनल पर जीनियस विडियो द्वारा निरंतर सात दिनों तक किया जायेगा। जिनका आप सभी प्रेम सुधा रस चैनल पर श्रवण लाभ लें सकते है। आज के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बंटी जलाराम राजीव चौबे (राष्ट्रीय एनएसएस अध्यक्ष,) संदीप गुप्ता आयुष जैन। शिव शक्ति सेवा समिति के द्वारा अतिथियों का मोमेंटो देकर सम्मान किया गया।

ये होगा शेड्यूल
आयोजक शिव शक्ति सेवा समिति ने कहा कि, जिले के सभी नागरिक ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस कथा में अपनी भागीदारी दें और कार्यक्रम को सफल और भव्य बनाने में मदद करें। समिति द्वारा 29 फरवरी को डेढ़ से दो किलोमीटर लंबी विशाल कलश यात्रा निकाली गई। जिसके पश्चात 1 मार्च से 7 मार्च तक राष्ट्रिय कथा वाचिका किशोरी आराध्या शर्मा के द्वारा शिव महापुराण की शुरुआत हुई। 7 मार्च को ही हवन एवं महाआरती का आयोजन रखा गया है। 8 मार्च को सुबह 8 बजे शिवा जी का रुद्राभिषेक और शाम 3 बजे से बाबा महाकाल जी की भव्य पालकी यात्रा निकाली जाएगी। जो पिछले साल से भी अधिक भव्य होगा। इसके पश्चात 10 मार्च रविवार को महाभंडारा के साथ आयोजन समाप्त होगा।

पहले दिन भक्तो में दिखा भारी उत्साह
आयोजक शिव शक्ति सेवा समिति ने बताया कि, बाबा महाकाल जी की असीम कृपा से हर साल की तरह इस साल भी बाबा की पालकी एवं शिव महापुराण कार्यक्रम रखा गया है। कथा के पहले ही दिन शिव भक्तों में गजब का उत्साह देखने को मिला। मैं सभी जिलेवासियों से अनुरोध करता हूँ की इस आयोजन में सह परिवार शामिल होए और बाबा महाकाल की भक्ति में लीन हो जाए। हमें आसपास की महिलाओं का भी बहुत योगदान प्राप्त हुआ। हमें बहुत खुशी हुई कि हमारे साथ हमारी माता-बहनों सभी शामिल हुए। इस साल बाबा महाकाल जी की पालकी यात्रा एवं शिव महापुराण बहुत ही ज्यादा भव्य होने वाली है। लोगों में इस आयोजन को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है, मैं और शिवा शक्ति सेवा समिति की पूरी टीम इस आयोजन को सफल बनाने के लिए समर्पित है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

15 अप्रैल को नामांकन भरेंगे दुर्ग लोकसभा प्रत्याशी राजेंद्र...

दुर्ग। 7 मई को होने जा रहे मतदान के लिए दुर्ग लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू कल यानी 15 अप्रैल को अपना नामांकन...

कांग्रेस की आमसभा के दौरान PM मोदी के खिलाफ...

बिलासपुर। मस्तूरी क्षेत्र के भदौरा में कांग्रेस के एनएसयूआइ के राष्ट्रीय प्रभारी व राष्ट्रीय प्रवक्ता कन्हैया कुमार की सभा के बाद मीडिया से चर्चा...

दुर्ग में डायल 112 पर बदमाशों का हमला: अकेले...

दुर्ग। दुर्ग में पुलिस के ऊपर हमला करने वाले चार आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े है। चारों के खिलाफ धारा IPC की धारा 294,...

शासकीय संयुक्त कर्मचारी संघ ने मनाया डॉ. भीमराव अंबेडकर...

रायपुर। नवा रायपुर अटल नगर में आज शासकीय संयुक्त कर्मचारी संघ द्वारा बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर...

ट्रेंडिंग