दुर्ग में तालाबों के बदलेंगे स्वरुप: तालाब का निरीक्षण करने पंहुचे आयुक्त… हर दिन सफाई करने के दिए निर्देश; गंदगी फैलाने वालों से जुर्माना होगा वसूल

दुर्ग। दुर्ग निगम आयुक्त लोकेश चन्द्राकर निगम स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली, उप अभियंता विकास दमाहे व अमला के साथ तालाबों के निरीक्षण करने पंहुचे। नगर निगम क्षेत्र के तालाबों को संवारने का काम किया जा रहा है। इसी के तहत आज पोलसाय पारा तालाब की साफ सफाई के निर्देश अधिकारी को दिए। सोमवार को निगम आयुक्त लोकेश चंद्राकर ने पोलसायपारा तालाब एवं क्षेत्र सहित स्टेशन रोड का निरीक्षण कर जायजा लिया। गौरतलब है कि आयुक्त लोकेश चन्द्राकर ने दुर्ग निगम क्षेत्र अंतर्गत आने वाले तालाबों को बेहतर बनाने की दिशा में कार्य करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली को दिए हैं।आयुक्त लोकेश चंद्राकर ने वार्ड क्रमांक 27 पोलसायपारा तालाब परिसर पहुंचे। वहां उन्होंने तालाब के आसपास के पूरे परिसर की सघन सफाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

उन्होंने कहा तालाब परिसर के आस पास विशेष सफाई कर पौधे लगाए ताकि पौधे बड़े होकर छांव प्रदान करे। उन्होंने प्रतिदिन शहर क्षेत्र के सभी तालाबो के आसपास के पूरे परिसर की सघन सफाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा तालाबो की साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखें ताकि घूमने आने वालों को परेशानियों का सामना न करना पड़े। लोग यहां घूमने के लिए आ सकें।सफाई को लेकर लोगों से फीडबैक भी लिए।आयुक्त ने तालाब के निरीक्षण के दौरान घूमने आए हुए लोगों से भी सफाई को लेकर चर्चा की और फीडबैक लिया। लोगों से उन्होंने पूछा कि क्या यहां नियमित रूप से सफाई की जाती है।वहीं लोगों की शिकायत पर उन्होंने अधिकारियों को व्यवस्था दुरुस्त कराने के निर्देश दिए।निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि सड़क किनारे विद्युत पोल सहित चौक चौराहो से अवैध बैनर,पोस्टर निकलवाये साथ ही आयुक्त ने कहा कि नालियों की गैंग लगाकर सफाई कराई जाए। दुकानदार द्वारा गंदगी फैलाने वालों से जुर्माना की कार्रवाही भी किया जाये।

आयुक्त लोकेश चन्द्राकर ने कहा कि सड़क किनारे वार्डो के भीतर सरकारी सड़क पर भवन निर्माण सामग्री या मलबा सड़क पर डाला तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा बल्कि सामग्री को जब्त कर जुर्माना लगाया जाएगा।भवन निर्माण सामग्री डालकर सड़क को घेरने वाले स्थानों को चिन्हित करने का काम भी कर्मचारियों को सौंपा गया। किसी का घर टूट रहा हो या फिर नए निर्माण हो रहे हो तो मलबे और भवन निर्माण सामग्री को सड़क पर डाल दिया जाता है।आमतौर पर यह नजारा शहर की हर गली और सड़क पर मिल जाती है। सड़क को अपनी प्रापर्टी समझने वालों के लिए निगम अब सख्ती से कार्रवाही करेंगी।निगम ने साफ हिदायत दी कि सड़क पर मलबा या भवन निर्माण सामग्री मिले तो शुल्क वसूला जाए।निरीक्षण के दौरान राजू सिंह स्वास्थ्य विभाग अमल भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

15 अप्रैल को नामांकन भरेंगे दुर्ग लोकसभा प्रत्याशी राजेंद्र...

दुर्ग। 7 मई को होने जा रहे मतदान के लिए दुर्ग लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू कल यानी 15 अप्रैल को अपना नामांकन...

कांग्रेस की आमसभा के दौरान PM मोदी के खिलाफ...

बिलासपुर। मस्तूरी क्षेत्र के भदौरा में कांग्रेस के एनएसयूआइ के राष्ट्रीय प्रभारी व राष्ट्रीय प्रवक्ता कन्हैया कुमार की सभा के बाद मीडिया से चर्चा...

दुर्ग में डायल 112 पर बदमाशों का हमला: अकेले...

दुर्ग। दुर्ग में पुलिस के ऊपर हमला करने वाले चार आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े है। चारों के खिलाफ धारा IPC की धारा 294,...

शासकीय संयुक्त कर्मचारी संघ ने मनाया डॉ. भीमराव अंबेडकर...

रायपुर। नवा रायपुर अटल नगर में आज शासकीय संयुक्त कर्मचारी संघ द्वारा बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर...

ट्रेंडिंग