ये है कलयुगी माता-पिता: Reels बनाने का ऐसा लगा चस्का कि IPhone खरीदने के लिए 8 महीने के बच्चे को बेच दिया… फिर करने लगे शौक पूरा… ऐसे हुआ मामले का खुलासा, 7 साल की बेटी को भी बेचने की कोशिश की

डेस्क। पूत कुपूत सुने हैं लेकिन, माता सुनी न कुमाता… भजन की ये पंक्तियां आपको याद होंगी… लेकिन इस कलयुग में माता-कुमाता भी हो सकती है. आज फोन के लिए पागलपन इस हद तक आगे बढ़ चुका है कि लोग इसके लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं. और फिर बात IPhone की हो तो किडनी बेचने की खबरें तो आपने सुनी ही होंगी. हम बात कर रहे हैं एक ऐसे माता-पिता की, जिन्हें रील्स बनाने का शौक है और उन्होंने इस शौक को पूरा करने के लिए IPhone लेने की ठानी. इतना महंगा फोन खरीदने के लिए रुपये नहीं थे तो अपने 8 महीने के बच्चे को ही बेच दिया और फिर Reels बनाने लगे.

कहां का है यह मामला
यह चौंकाने वाला मामला पश्चिम बंगाल का है. यहां के एक जोड़ें को कथित तौर पर शॉर्ट वीडियो बनाने का चस्का लग गया. अच्छे वीडियो शूट करने के लिए अच्छे कैमरे वाले फोन की जरूरत थी. ऐसे में उन्होंने अपने 8 महीने के बच्चे को ही बेचने का फैसला कर लिया. पैसे की तंगी और रील्स का चस्का ये दोनों विपरीत चीजें थीं, IPhone 14 निश्चित रूप से अच्छा फोन है. बस फिर क्या था, रील्स तो बनानी ही हैं, कपल ने IPhone 14 खरीदने और अपने रील्स के शौक को पूरा करने के लिए बच्चे को बेच दिया. मामला पश्चिम बंगाल में नॉर्थ 24 परगना जिले का है. पुलिस ने बेचे गए बच्चे को बरामद कर लिया है और उसकी मां को भी गिरफ्त में लिया है.

बच्चा बेचने के बाद रील्स बनाकर शौक पूरा कर रहे थे
पुलिस के अनुसार बच्चे के माता-पिता अपने बच्चे को किसी और के हाथों बेचकर मजे से रील्स बना रहे थे. पुलिस के अनुसार बच्चे को खरीदने वाली महिला का नाम प्रियंका घोष है. पुलिस ने प्रियंका और बच्चे की मां दोनों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने बताया कि बच्चे का पिता जयदेव अब भी फरार है. पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है और जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा. जब से लोगों को इस घटना के बारे में पता चला है, लोग हैरान हैं. लोग सोशल मीडिया के जरिए भी इस पति-पत्नी पर अपना गुस्सा निकाल रहे हैं. कमेंट में उन्हें खूब भला-बुरा कहा जा रहा है.

कैसे हुआ मामले का खुलासा?
समझदार और जागरुक पड़ोसियों की वजह से इस पूरे मामले का खुलासा हुआ. उन्होंने देखा कि पिछले कुछ दिनों में पति-पत्नी के व्यवहार में काफी बदलाव आया है. उन्होंने यह भी पाया कि उनका 8 महीने का मासूम भी कुछ दिनों से नहीं दिख रहा है. शक की मुख्य वजह यह थी कि उस घर में पैसों की भारी तंगी थी, उन्हें दो वक्त के खाने के बारे में भी सोचना पड़ता था… और अचानक उनके पास इतना महंगा IPhone 14 देखकर पड़ोसियों के दिमाग में घंटी बजी. ऐसे में उन्हें शक हुआ और उन्होंने पुलिस को इस संबंध में सूचना दे दी.

7 साल की बेटी को भी बेचने की कोशिश की
पड़ोसियों की शिकायत पर पुलिस ने मामले की जांच की और मां से उसके बच्चे के बारे में पूछा. शुरुआत में तो वह पुलिस को भी गुमराह करती रही, लेकिन फिर पुलिस की सख्ती के आगे टूट गई. महिला ने बच्चे को बेचने के अपने गुनाह को कबूल कर लिया. उसने पुलिस को जो बताया, उससे पुलिसकर्मियों के पैरों तले भी जमीन खिसक गई. उसने बताया कि बच्चे को बेचकर IPhone 14 खरीदा और फिर बाकी बचे पैसों से पश्चिम बंगाल में अलग-अलग जगहों पर जाकर रील्स बनाए. यही नहीं, पता चला कि इससे पहले पिता जयदेव ने अपनी 7 साल की बेटी को भी बेचने की कोशिश की थी. जयदेव फिलहाल फरार है और पुलिस उसकी बड़ी ही सरगर्मी से तलाश कर रही है.

खबरें और भी हैं...
संबंधित

छत्तीसगढ़ में साय कैबिनेट के अहम फैसले: छत्तीसगढ़ बेवरेज...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय महानदी भवन में कैबिनेट की बैठक आयोजित की गई। बैठक में...

सीनियर IPS ऑफिसर रतन लाल डांगी बने डॉक्टर: हेमचंद...

रायपुर, दुर्ग। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग के शोधार्थी स्तन लाल डांगी (वरिष्ठ आई. पी. एस) ने आज विश्वविद्यालय के टैगोर हॉल में अपने शोध-प्रबंध...

कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्री पद से बृजमोहन अग्रवाल...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है। साय कैबिनेट की बैठक चल रही थी इसी दौरान्बृजमोहन...

नई दिल्ली में रिपब्लिक डे परेड में शामिल कैडेट्स...

अनुशासन, साहस और निस्वार्थ भाव से सेवा के लिए प्रेरित करता है एनसीसी: मुख्यमंत्री विष्णु देव साय रायपुर। नई दिल्ली में रिपब्लिक डे परेड में...

ट्रेंडिंग