CG – दो कांस्टेबल सस्पेंड: सिख बस ड्राइवर से दुर्व्यवहार करना पुलिसकर्मियों को पद गया महंगा, शिकायत के बाद SSP ने लिया एक्शन

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक सिख बस चालक के साथ दुर्व्यवहार करने का मामला सामने आया है। ये दुर्व्यवहार दो कांस्टेबल ने किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस जवानों ने बस ड्राइवर की पगड़ी खींचकर उसके साथ पहले तो मारपीट की इसके बाद उसे जबरन थाने लाने के बाद पट्टे से पीटा गया। इसके बाद भी जब मन शांत नही हुआ तो पीड़ित चालक को जेल भेज दिया गया। इस पूरे मामले में बस ड्राइवर संघ और सिख समाज ने नाराजगी जताते हुए मामले की शिकायत की थी। जिस पर एसएसपी संतोष सिंह ने मामले की जांच के बाद एक्शन लेते हुए दोनों पुलिस कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया है।एसएसपी ने पुरानी बस्ती डीएसपी को जांच के आदेश दिये थे। जांच रिपोर्ट आने के बाद दोनों आरक्षकों को दोषी पाया गया। एसएसपी संतोष सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुये तत्काल प्रभाव से टिकरापारा थाना में पदस्थ आरक्षक चन्द्रभान भदौरिया और सुरजीत सिंह सेंगर को निलंबित कर दिया है।

क्या था पूरा मामला –

बस ड्राइवर के साथ मारपीट का ये पूरा मामला टिकरापारा थाना क्षेत्र का है। पीड़ित बस के चालक ने बताया कि वह महिंद्रा ट्रेवल्स में ड्राइविंग का काम करता है। 8-9 जून की दरमियानी रात वह महिंद्रा बस लेकर रायपुर पहुंचा था। ड्यूटी से वापस आकर वह बस स्टैंड के बरामदे में सो रहा था। तभी ड्यूटी में तैनात टिकरापारा थाना के दो कांस्टेबल चंद्रभान भदोरिया और सुरजीत सिंह सेंगर वहां पहुंचे। उन्होंने बस के चालक बहादुर सिंह को डंडे से ढकेलते हुए वहां सोने की वजह पूछी। बहादुर सिंह ने बस स्टैंड में ही सोने की जानकारी दी गयी। इसके बाद बहादुर ने उन्हें दुर्व्यवहार करने से मना किया।

इस बात पर दोनों कांस्टेबल भड़क गए और तैश में आकर पहले पगड़ी फिर बाल खींचकर मारपीट करने लगे। बताया जा रहा है कि वर्दी का रौब दिखाते हुए दोनों कांस्टेबल ने बहादुर सिंह को घसीटते हुए बस स्टैंड से थाने ले गए। फिर थाने में चालक की पट्टे से बुरी तरह पिटाई कर दी। आरोप है कि इन सारी मनमानी के बाद भी जब पुलिसकर्मियों का मन शांत नहीं हुआ, तो उन्होंने बहादुर सिंह के खिलाफ अगले दिन प्रतिबन्धात्मक धाराओं के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया। जेल से जमानत लेकर जब बहादुर सिंह वापस आया,तो उसने इसकी जानकारी बस कर्मचारी संघ के अध्यक्ष और सिख समाज को दी।

इस मामले के सामने आने के बाद बस कर्मचारी संघ ने घटना पर कड़ी आपत्ति दर्ज की। वहीं दूसरी तरफ सिख समाज ने भी दुर्व्यवहार को लेकर पुलिस के बड़े अधिकारियों समेत रायपुर कलेक्टर को इस घटना की शिकायत की गयी। मामला संज्ञान मेें आने के बाद रायपुर एसएसपी संतोष सिंह ने जांच का आदेश दिया गया। जांच में शिकायत सही पाये जाने पर टिकरापारा थाने के कांस्टेबल चंद्रभान भदोरिया और सुरजीत सिंह सेंगर पर तत्काल एक्शन लेते हुए सस्पेंड कर दिया है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

Durg Crime : दिनदहाड़े युवक की हत्या से इलाके...

दुर्ग। धमधा थाना क्षेत्र के ग्राम मुड़पार में दिनदहाड़े युवक की हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई है। धारदार हथियार से युवक पर...

दुर्ग क्षेत्र में लूट के आरोपी गिरफ्तार, चार दोस्तों...

भिलाई। उतई थाना क्षेत्र के महकाखुर्द में लूट की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही धर...

CG – नाबालिग प्रेमियों के प्यार का हुआ अंत:...

नाबालिग प्रेमियों के प्यार का हुआ अंत छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में नाबालिग लड़के ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया है। ये सुनते ही एक...

भिलाई स्टील प्लांट में घुसकर तोड़फोड़, सुरक्षा पर उठे...

भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट में तोड़फोड़ का मामला सामने आया है। सीआईएसएफ का सुरक्षा घेरा तोड़कर एक मानसिक रोगी प्लांट के अंदर घुस गया...

ट्रेंडिंग