अशोका बिरयानी के गटर में मिली दो लाश: दोनों युवक गांव से रोजी-रोटी कमाने आए थे शहर… होटल में कर रहे थे काम, कैसे हुई दोनों की मौत…?, होटल प्रबंधन ने पत्रकारों से की मारपीट

रायपुर। इस वक्त की बड़ी खबर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से निकल सामने आ रही है। जहां GE रोड के किनारे स्थित मशहूर अशोका बिरयानी के गटर में दो लोगों की लाश मिली है। दोनों मृतक होटल के कर्मचारी बताए जा रहे है। मिली जानकारी के अनुसार दोनों मृतक नीलकुमार पटेल और डेविड साहू अशोका बिरयानी में इलेक्ट्रीशियन का काम करते थे। खबर लगते ही इलाके में सनसनी फैल गई है साथ ही होटल में काम करने वाले अन्य कर्मचारी भी सहमे हुए है। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और जांच शुरू की। ये घटना तेलीबांधा थाना क्षेत्र का है। खबर मिलते ही मौके पर पहुंचे पत्रकारों ने कवरेज शुरू की तो अशोका बिरियानी का प्रबंधन सवालों से बौखला गया। इस दौरान पत्रकारों से मारपीट की गई। निजी चैनल के कैमरामैन का कैमरा भी तोड़ दिया गया।

गटर मै कैसे पहुंचे दोनों ?
दोनों के शव गटर में मिलने के बाद सबके मन में यही सवाल आ रहा है कि आखिर दोनों गटर में पहुंचे कैसे? क्या ये हत्या है या हादसा? चर्चा है की गटर की सफाई करते वक्त दोनों जहरीली गैस की चपेट में आ गए, जिस वजह से दोनों का दम घूट गया। अगर ऐसा है तो एक सवाल उठता है की जब दोनों इलेक्ट्रीशियन थे तो उनसे गटर की सफाई क्यों करवाई जा रही थी? क्या होटल प्रबंधन एक्सपर्ट स्वीपर को सफाई के लिए नहीं बुला सकता था? तो शायद इन दोनों नौजवानों के मौत नहीं होती। फिलहाल पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। PM रिपोर्ट आने पर मौत का कारन साफ हो जाएगा।

पुलिस ने क्या बताया?
पुलिस के अनुसार गटर सफाई के दौरान दोनों कर्मचारी गटर में फस गए और बेहोश हो गए थे। जब वे काफी देर तक बाहर नहीं आए, तो होटल में काम करने वाले दूसरे कर्मचारी गटर के पास गए। आवाज लगाने पर कोई जवाब नहीं आया। जिसके बाद कुछ कर्मचारियों ने गटर में उतरकर दोनों को बाहर निकाला। कर्मचारियों ने फौरन डायल 112 को सूचना दी और पुलिस टीम मौके पर पहुंची । उन्हें गटर से निकालने के बाद निजी हॉस्पिटल भेजा गया जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

गांव से रोजी-रोटी कमाने आए थे शहर
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, 30 वर्षीय नीलकुमार पटेल जांजगीर-चांपा के खुटादरहा और 19 वर्षीय डेविड साहू धमतरी के खामहरिया का रहने वाला था। दोनों अपने गांव से शहर काम करने आए थे। परन्तु उन्हें क्या पता था यहां उनकी मौत हो जाएगी। पुलिस ने बताया कि दोनों के परिवार वालों से संपर्क किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

छत्तीसगढ़ के डिप्टी CM शर्मा ने तमिलनाडु पहुंचकर बस्तर...

कोयंबटूर, रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने बस्तर रेंज पुलिस IG पी सुंदरराज के पिता को श्रद्धांजलि देने तमिल नाडु पहुंचे। पुलिस के...

भिलाई में युवती ने किया सुसाइड: प्रापर्टी खरीदी-बिक्री करने...

भिलाई। भिलाई में एक युवती ने मौटी को गले लगा लिया है। प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी में कार्य करने वाली युवती ने रविवार को सुसाइड कर...

डिप्टी CM शर्मा ने PCC चीफ बैज से किया...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के उप मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री विजय शर्मा ने कहा कि आज बस्तर नक्सल उन्मूलन की दिशा में बहुत आगे बढ़ चुका है।...

बेमेतरा बारूद ब्लास्ट में 8 मजदूर लापता… रेस्क्यू ऑपरेशन...

बेमेतरा। शनिवार सुबह बेमेतरा के बारूद फैक्ट्री में ब्लास्ट की खबर ने पुरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया, जब पता चाल की फैक्ट्री...

ट्रेंडिंग