Bhilai Times

दुर्ग में कांवड़ यात्रियों का NSUI ने किया फूलों से स्वागत: कांवड़ियों के जत्थे को स्वल्पाहार भी कराया…शिवभक्त विधायक देवेंद्र संग पैदल चल रहे NSUI के कार्यकर्ता

दुर्ग में कांवड़ यात्रियों का NSUI ने किया फूलों से स्वागत: कांवड़ियों के जत्थे को स्वल्पाहार भी कराया…शिवभक्त विधायक देवेंद्र संग पैदल चल रहे NSUI के कार्यकर्ता

भिलाई। सावन के तीसरे सोमवार को दुर्ग शिवनाथ नदी से कांवड़ यात्रा प्रारंभ हुई जो प्राचीन मंदिर देवबलोदा पहुंची। एनएसयूआई दुर्ग के पदाधिकारियों ने कांवड़ यात्रियों का स्वागत किया। जय हनुमान सेवा वाहिनी समिति भिलाई द्वारा कांवड़ यात्रा निकाली गई है। जिसका स्वागत एनएसयूआई दुर्ग के पदाधिकारियों ने किया।


विधायक देवेंद्र यादव इस कांवड़ यात्रा का नेतृत्व कर रहे थे। कांवड़ियों का स्वागत दुर्ग एनएसयूआई के पदाधिकारियों ने किया। प्रदेश उपाध्यक्ष सोनू साहू के नेतृत्व में कांवड़ यात्रियों का फूलों से स्वागत किया गया।

समिति के सदस्यों सहित करीब 200 श्रद्धालुओं ने पैदल चलकर देवबलौदा के प्राचीन शिव मंदिर में जल अर्पित करने के लिए कावड़ यात्रा का प्रारंभ हुआ। जिसमें कांवड़ियों का दुर्ग शहर आगमन पर दुर्ग NSUI के तत्वधान में छत्तीसगढ़ प्रदेश एनएसयूआई के उपाध्यक्ष सोनू साहू के नेतृत्व में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं द्वारा फूल मालाओं से स्वागत कर इस कावड़ यात्रा में पैदल चलने वाले शिव के भक्त विधायक देवेंद्र यादव को भगवान शिव के प्रतिमा भेट किया गया।

भिलाई महापौर नीरज पाल, भिलाई कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश चंद्राकर, आयोग की उपाध्यक्ष नीता लोधी, भिलाई निगम के सभापति गिरिवर बंटी साहू और विधायक प्रतिनिधि एवम् भिलाई नगर निगम के पीडब्ल्यूडी मेंबर एकांश बंछोर सहित भिलाई निगम के बहुत से पार्षद MIC सदस्य सहित कांग्रेस पार्टी के बहुत से पदाधिकारी श्रद्धालु यात्रा में शामिल हुए।

इस दौरान यात्रा का जिला अस्पताल दुर्ग के समीप पहुंचे पर यात्रियों को जलपान चाय पानी का वितरण कर सोनू साहू ने शिव की महिमा एवं कांवड़ यात्रा के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे आयोजन से लोगों में धर्म के प्रति स्थापना होती है।

यहां पर सभी कावड़ यात्रियों ने भगवान भोलेनाथ का जयकारा लगाकर यात्रा शिव शक्ति मंदिर देवबलोदा के लिए प्रस्थान हुई। इस कांवड़ यात्रा स्वागत कार्यक्रम में प्रमुख रूप से हरीश देवांगन,अमन दुबे, राहुल यादव, रवि साहू, दाऊ, देवेश सिंह राजपूत, राज देवांगन, चुनेश नेताम, विकाश साहू, शाश्वत, कान्हा, खिलेश्वर, हिमांशू ठाकुर, सोनू एवं दुर्ग एनएसयूआई के पदाधिकारी सहित अन्य लोगों का भी विशेष सहयोग रहा।

Related Articles