Bhilai Times

गंजपारा दुर्ग में 9 कुंडीय शतचंडी महायज्ञ का आयोजन: 18 भुजा वाली मां दुर्गा की विशाल प्रतिमा होगी स्थापित… श्री सत्तीचौरा माँ दुर्गा मंदिर समिति की इस बार खास तैयारी; पढ़िए

गंजपारा दुर्ग में 9 कुंडीय शतचंडी महायज्ञ का आयोजन: 18 भुजा वाली मां दुर्गा की विशाल प्रतिमा होगी स्थापित… श्री सत्तीचौरा माँ दुर्गा मंदिर समिति की इस बार खास तैयारी; पढ़िए

दुर्ग। धार्मिक नगरी कहे जानी वाली दुर्ग में माता जी के विशेष पर्व कुंवार नवरात्र के अवसर पर श्री सत्तीचौरा माँ दुर्गा मंदिर समिति, गंजपारा, दुर्ग द्वारा इस वर्ष 9 कुण्डीय शतचंडी महायज्ञ कराया जा रहा है। जिसमें अलग-अलग राज्यों एवं जिलों के विद्वान यज्ञाचार्यो एवं पंडितों द्वारा महायज्ञ कराया जाएगा। जिसकी तैयारी जोरों से चल रही है।

श्री सत्तीचौरा माँ दुर्गा मंदिर समिति ने प्रेस वार्ता में क्या कुछ जानकारी दी पढ़िए;

महायज्ञ यज्ञाचार्य दैवज्ञ पं. दिवाकर शास्त्री जी याज्ञिक, डिडवाना, राजस्थान के सानिध्य में होगा। विगत 2 वर्षों से कोरोना महामारी के कारण किसी प्रकार का आयोजन नही किया गया। इस वर्ष कुंवार नवरात्र पर्व के अवसर पर दुर्ग जिले के सभी धर्मप्रेमियों को माता जी के प्रभावशाली एवं सर्वसिद्ध शतचण्डी महायज्ञ का सीधा लाभ मिलेगा। दिनाँक 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से 12 बजे एवं दोपहर 3 बजे से 6 बजे तक यज्ञ होगा, जिसमें सभी पुरुष वर्ग धोती पहनकर ही यज्ञ स्थल पर प्रवेश कर सकेंगे एवं महिलाएं नीली या काली साड़ी पहनकर प्रवेश नही कर सकेंगी।

महायज्ञ में छत्तीसगढ़ सहित राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश के प्रसिद्ध विद्वान आचार्यों को आमंत्रित किया गया है। यज्ञ के प्रथम दिवस दिनाँक 26 सितंबर दिन- सोमवार को प्रातः 8 बजे शिवनाथ नदी तट से भव्य कलश यात्रा बाजा-गाजा के साथ निकाली जाएगी। कलश यात्रा में इस वर्ष कुंवार नवरात्र पर्व में विराजमान की जाने वाली माता जी की मूर्ति की शोभायात्रा भी साथ-साथ होगी जिसमें हजारों की संख्या में महिला एवं पुरुष उपस्थित होंगे, प्रथम दिवस कलश यात्रा के पक्ष पश्चात प्रथम प्रहरी में पूजा अर्चना होगी ततपश्चात हवन पूजन प्रारंभ होगा।

कुंवार नवरात्र के अवसर पर 26 सितंबर से सिद्ध शतचंडी महायज्ञ का शुभारंभ किया जाएगा। महायज्ञ की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। यज्ञ के लिए आकर्षित बॉस एवं पैरा की कुटिया बनाई जा रही है, यज्ञ में प्रदेश भर से धर्मप्रेमियों को देखते हुए पूरी व्यवस्था की जा रही है। यज्ञ के प्रथम दिवस कलश यात्रा निकाली जावेगी जिसकी तैयारी शहर के बहुत से सक्रिय पार्षद, समाज सेवी, विभिन्न समाज के पदाधिकारियों द्वारा की जा रही है।

समिति के अशोक राठी ने कहा कि कलश यात्रा हेतु सभी महिलाओं को निःशुल्क कलश वितरण भी दुर्गा मंदिर से किया जा रहा है, महिलाएं लाल पीली साड़ी पहनकर ही कलश उठा सकेंगे, कलश यात्रा शिवनाथ नदी से गंजपारा भ्रमण करते हुए यज्ञ स्थल पहुँचेगी, जहां सभी कलस की पूजा अर्चना की जाएगी। दिनाँक 26 सितंबर से 3 अक्टूबर तक यज्ञ का समय प्रातः 9 बजे से 12 बजे एवं दोपहर 3 बजे से 6 बजे तक होगा, दिनाँक 4 अक्टूबर को हवन, पूर्णाहुति, आरती होगी। समिति के योगेन्द्र शर्मा बंटी ने कहा कि दिनाँक 5 अक्टूबर दिन- बुधवार को प्रदेश का सबसे बड़ा एवं ऐतहासिक कन्या भोज का आयोजन किया जाएगा। जिसमें पूरे शहर से छोटी-छोटी कन्या माताओं को आमंत्रित किया जा रहा है, जिसके लिए शहर के बहुत से पार्षद, स्कूल के शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं अन्य धर्मप्रेमियों द्वारा तैयारी की जा रही है। सभी अपने अपने वार्ड, एवं समाज की छोटी छोटी कन्या माताओं को टोली टोली बनाकर श्री दुर्गा धाम पुरानी गंजमण्डी, गंजपारा दुर्ग लाएंगे, जहाँ सभी कन्यामाताओं के श्रृंगार समित्ति एवं शहर के महिलाओं द्वारा किया जावेगा।

ततपश्चात सभी कन्यामाताओ को भव्य शोभायात्रा निकाली जावेगी जो कि गंजपारा भ्रमण करते हुए दुर्गा मंदिर, गंजपारा दुर्ग पहुचेगी, दुर्गा मंदिर झलके सामने सत्तीचौरा में सभी कन्यामाताओ को एक साथ, एक समय, एवं एक स्थान पर बैठाकर कन्या भोज कराया जावेगा, ततपश्चात सभी कन्या माताओं को भेंट स्वरूप कॉपी, पेन, गिफ्ट डब्बे, चॉकलेट का वितरण किया जावेगा। इस वर्ष भी सत्तीचौरा में 18 भुजा वाली मां दुर्गा जी की विशाल प्रतिमा स्थापित की जावेगी, जिसका प्रतिदिन श्रृंगार बदला जावेगा, जो कि पूरे छत्तीसगढ़ के एक मात्र स्थान में होता है।

इस बड़े आयोजनों के साथ साथ दिनाँक 30 सितंबर को माता जी की महाआरती एवं 3 अक्टूबर को 56 भोग का आयोजन रखा गया है। यज्ञ के यज्ञाचार्य पण्डित दिवाकर शास्त्री ने यज्ञ का महत्व एवं परिक्रमा के नियम बताये, किस व्यक्ति को किस परेशानी एवं समस्या को दूर करने के लिए किस वस्तु या समाग्री से यज्ञ की परिक्रमा करनी चाहिए ये भी बताया। प्रेस वार्ता में समिति के अशोक राठी, राजेन्द्र साहू, अजय शर्मा, राजेश शर्मा, योगेन्द्र शर्मा बँटी, मनोज भूतड़ा, नरेंद्र गुप्ता, सुरेश गुप्ता, कुलेश्वर साहू, बसंत शर्मा, राहुल शर्मा, मोनू शर्मा, रमेश गुप्ता, अर्जित शुक्ला, आशीष मेश्राम, प्रकाश कश्यप, महेश गुप्ता, सुजल शर्मा, सोनल सेन, एवं अन्य उपस्थित थे।


Related Articles