Bhilai Times

दुर्ग फ्लिपकार्ट फ्रॉड में बड़ा अपडेट: भिलाई की महिला समेत तीन फरार आरोपी अरेस्ट… एक अब भी फरार; 45 लाख रूपए, 112 शिपमेंट… पढ़िए पूरी क्राइम स्टोरी

दुर्ग फ्लिपकार्ट फ्रॉड में बड़ा अपडेट: भिलाई की महिला समेत तीन फरार आरोपी अरेस्ट… एक अब भी फरार; 45 लाख रूपए, 112 शिपमेंट… पढ़िए पूरी क्राइम स्टोरी

दुर्ग-भिलाई। दुर्ग में पिछले दिनों फ्लिपकार्ट से लाखों का सामान ऑर्डर करके गबन करने का मामला सामने आया था। जिसमें कई आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इसी मामले में धमधा पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने एक महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी में शादीशुदा महिला सीता वर्मा (31) कोहका की रहने वाली है। वही दूसरा आरोपी अमर मंडल (23) जामुल और तीसरा आरोपी लोकेश कुमार साहू (29) खुर्सीपार निवासी है। पुलिस के अनुसार इस मामले में एक और आरोपी अब तक फरार है। जिसे पुलिस जल्द पकड़ने का दावा कर रही है।

आपको बता दें, दुर्ग पुलिस ने 27 मई को इस मामले का खुलासा किया था। दुर्ग जिले में फ्रॉड का नया और अनोखा मामला सामने आया था। यहां डिलीवर बॉय का काम करने वालों ने करीब 45 लाख रूपए का फ्रॉड किया है। दरहसल इनके द्वारा फ्लिपकार्ट से अलग-अलग आईडी से 112 शिपमेंट आर्डर किया गया था। जिसमें मोबाइल, घड़ी, कैमरा, जुटे और लैपटॉप शामिल है। ये सभी सामान आरोपियों ने ही आर्डर किया और बिना पैसा दिए सारा सामान लेकर गाड़ी में भरकर फरार हो गया। डिलीवरी के बाद जब कूरियर कंपनी में पैसा नहीं पहुंचा तो संचालक ने इसकी शिकायत धमधा थाने में की। पुलिस ने अपराध दर्ज करने के 72 घंटे के अंदर 95 प्रतिशत माल बरामद कर 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एक मोनिका मौर्या नाम की लड़की भी शामिल है। अब इस मामले तीन और लोगों कप गिरफ्तार किया गया है और वहीँ 1 आरोपी अभी भी फरार है।

क्राइम रिकॉल

  • आरोपी अमर और आरोपी अरविंद ने एक महीने पहले इस वेयरहाउस में काम इसी मंशा से शुरू किया था कि यहां गबन करेंगे
  • दीपक, मनीष, मोनिका और लोकेश को भी पूरे प्लान में शामिल किया गया था
  • 6 लोगो ने स्वयं और अपने दोस्त, परिवार को मिलाकर 50 से ज्यादा अकाउंट से 120 महंगे मोबाइल और लैपटॉप कैश ऑन डिलीवरी ऑर्डर करवाए,
  • अमर ने अपने दोस्त राहुल का आधार कार्ड इस्तेमाल कर उसकी जानकारी के बिना उसको वेयरहाउस का डिलीवरी बॉय बनाया।
  • राहुल के नाम से सारा समान लेकर 21 के रात को ये लोग मोनिका केंघट गए और सब सामान का टेक्निकल डिलीवरी स्कैन किया।
  • ये लोग छोटे स्तर पर ऐसा फेक ऑर्डर और फेक डिलीवरी करके मार्केट में मोबाइल दुकानों में थोड़ा महंगा बेचकर हमेशा दो चार हजार कमाते थे।
  • फ्लिपकार्ट से आनलाईन आर्डर कर लाखो का सामान गवन करने वाले अरोपियों को धमधा पुलिस ने पकड़ा। पुलिस था

धमधा पुलिस ने बताया कि, प्राथी पवन यादव, निवासी टाटीबंध रायपुर की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 86/2023 धारा 406, 408, 420, 120बी, 411 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है। देवागंन पारा चमचा में फ्लिपकार्ट कूरियर कंपनी के चेंडर कंपनी पाटलीपुत्र लॉजिस्टिक कोरियर कंपनी का ऑफिस है, जहां से आरोपियो के द्वारा अपने मित्रगणों को बेवकूफ बना करके ऑनलाईन सामान आर्डर बुक कराये गये सामानों का वितरण किया जाता था।

कंपनी के धमधा ऑफिस में कार्यरत इन्चार्ज अमर मण्डल निवासी जामुल, दुर्ग को ऑफिस इन्चार्ज के पद पर एवं अरविंद कुमार वर्मा निवासी रायपुर नाका दुर्ग के द्वारा 115 पार्सल सामान पैकेटों मोबाईल फोन लोगों को वितरण ना कर दिनांक 22.05.2023 को सुबह करीबन 06.00 बजे धमधा से सामानों को बोरियों में भरकर अफरा तफरी कर गबन कर लिया गया है।

थाना धमधा एवं एसीसीयू के अधिकारी कर्मचारियों की टीम गठित कर प्रकरण में पूर्व के पांच आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार किया गया था। जिनसे 78 पार्सल सामानों को बरामद कर ज्युडिश्यल रिमांड पर न्यायालय पेश किया गया हैं एवं प्रकरण के फरार आरोपियों को दिनांक 13.06-2023 व दिनांक 14.06.2023 को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किया गया। जिन्होंने पूर्व में पांच आरोपियों से मिलकर योजनाबद्ध तरीके से पार्सल सामानों को गबन करना स्वीकारा। उक्त तीनो आरोपियो से 23 नग मोबाईल, लैपटाप एवं घड़िया बरामद किया गया। प्रकरण के तीनो आरोपियो को विधिवत गिरफ्तार कर ज्युडिशियल रिमांड पर न्यायालय दुर्गे भेजी जा रही है।

पढ़िए इससे जुड़ी ये खबर :-

दुर्ग में फ्रॉड करने बन गए Flipkart डिलीवरी बॉय, फिर सोच से परे कारनामा कर दिया… दुर्ग SP रहते डॉ. अभिषेक पल्लव ने आखिरी बार 45 लाख के गबन मामला का किया खुलासा… मास्टरमाइंड समेत कुछ फरार; जानिए मामला


Related Articles