Bhilai Times

BSP खो खो क्लब की बैठक संपन्न: आने वाले समय में एक्टिविटी को लेकर हुई चर्चा… स्कूल स्तर पर टूर्नामेंट करवाने की प्लानिंग

BSP खो खो क्लब की बैठक संपन्न: आने वाले समय में एक्टिविटी को लेकर हुई चर्चा… स्कूल स्तर पर टूर्नामेंट करवाने की प्लानिंग

भिलाई। BSP खो खो क्लब की बैठक संजय शर्मा, अध्यक्ष खो-खो क्लब एवम महाप्रबंधक पर्यावरण विभाग, भिलाई इस्पात संयंत्र की अध्यक्षता में दिनाँक 15 जनवरी 2024 को आयोजित किया गया। जिसमें क्लब द्वारा आगामी सत्र में होने वाली खो खो की गतिविधियों व अन्य कार्यक्रमों की रूपरेखा पर चर्चा हुई। क्लब में अधिक से अधिक खिलाड़ियों को शामिल कराने व उनको राज्य स्तर व राष्ट्रीय स्तर के लिए तैयार करने हेतु सुझाव दिए गए। नये खिलाड़ियों का अधिक से अधिक संख्या में खो खो खेल के प्रति रुझान बढ़ाने के लिए भिलाई के अंतर्गत आने वाले स्कूल स्तर पर टूर्नामेंट आयोजित किया जाना ताकि नए खिलाडी मिल सकें।

अध्यक्ष संजय शर्मा ने उपस्थित सभी गणमान्य सदस्यों से क्लब के लिए अपना कुछ समय ग्राउंड में देने व अगली बैठक में आवश्यक रूप से शामिल होने हेतु निवेदन किया । उन्होंने कहा कि शीघ्र ही बी एस पी खो खो क्लब की नई कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। इस बैठक में तरुण शुक्ला महासचिव, छत्तीसगढ़ एमेच्योर खो खो संघ, अजय साहू जी उपमहाप्रबंधक विद्युत विभाग, भिलाई इस्पात संयंत्र, रघुनंदन गुप्ता, डॉ लता देवांगन जॉइंट डायरेक्टर सेक्टर 9 हॉस्पिटल, अब्दुल रहीम खान, फ़िरोज़ रहमान, शाहबुद्दीन, संदीप रात्रे, अविनाश आचार्य, कुलेश्वर जोशी, दिलीप नवरंगे, ठाकुर, शिखा रॉय, संदीप रात्रे, ज़फ़र सिद्दीकी, सी एच जगदीश, सुमित बंजारे, श्यामसुंदर, सचिन डोंगरे व क्लब के सभी पदाधिकारियों व सदस्यों ने अपनी शुभकामनाएं दी।

तरुण शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा कि पहले जब भी छत्तीसगढ़ में खो-खो की बात आती थी तो भिलाई का नाम सबसे सामने आता था भिलाई यह ऐसा स्थान था जहां पर खिलाड़ियों को अच्छे से ट्रेनिंग दी जाती थी वह यहां के खिलाड़ियों ने स्टेट और नेशनल स्तर पर भिलाई छतीसगढ़ का प्रतिनिधित्व भी किया है। इसकी बदौलत इन खिलाड़ियों की नौकरी अलग-अलग कंपनी में लगी है । लेकिन अभी कुछ समय से खोखो के प्रति रुझान कम हो गया है । ऐसे में यह फिर से हम सब लोगों को प्रयास करना है कि किस प्रकार से इस खेल को बढ़ावा दिया जाए । लता देवांगन ने कहा कि हमको ज्यादा से ज्यादा कोच लड़कियों को कमेटी में जोड़ना है । संजय शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा की खो-खो खेल का गौरवपूर्ण इतिहास रहा है। बीएसपी में पहले यह खेल बीएसपी के प्राथमिक खेल में शामिल था, इसी के तहत 2010 में बीएसपी खो-खो क्लब ने स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट के साथ मिलकर नेशनल्स गेम्स आयोजित किये थे। लेकिन कुछ सालों से यहां पर खो-खो की गतिविधियां कम हो गई है अभी इस खेल को और इस खेल के प्रति बच्चों की जागरूकता को बढ़ाने के लिए काम करना होगा। हमें जरूरत है की ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस खेल से जोड़ें । पुराने खिलाड़ी, कोच, रेफरी को भी इस खेल से जुड़ने की आवश्यकता है ।

उन्होनें कहा कि, भिलाई में रहने वाले वे सभी व्यक्ति जो खेल प्रेमी है या पूर्व में कभी खो खो खेल चुके हो या इससे जुड़ना चाहते हो उन सभी को सेक्टर 4 में बीएसपी के खो-खो मैदान में शाम को आमंत्रित किया जाता है । उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया की नित्य प्रति खो खो ग्राउंड में कोच उपलब्ध रहें और बच्चों को अपने सुझाव दें व उनको प्रोत्साहित करें । इस साल की प्राथमिकता में खो खो मैदान में सी.एस.आर. की मदद से एक बड़ा शेड बनाना है । साथ ही खोखो के खिलाडियों के खेलने के लिए खोखो मैट्स उपलब्ध कराना है । यह बात जानने की है की आजकल सभी स्टेट व नेशनल गेम्स खो खो मैट्स पर ही होते हैं । इससे खिलाडियों में चोट लगने की संभावना कम हो जाती है । इस साल विभिन् स्कूल के बच्चों के लिए विभिन्न प्रतियोगिता कराई जायेगी । इस खेल से जुड़ने के लिए सभी को धन्यवाद दिया ।


Related Articles