Bhilai Times

ब्रेकिंग – CG में शराब घोटाले मामले में ED ने एक और को उठाया: फरार चल रहा ट्रांसपोर्टर अरविंद सिंह को ईडी ने भिलाई मुक्तिधाम से लिया हिरासत में, मां के अंतिम संस्कार में हुआ था शामिल

ब्रेकिंग – CG में शराब घोटाले मामले में ED ने एक और को उठाया: फरार चल रहा ट्रांसपोर्टर अरविंद सिंह को ईडी ने भिलाई मुक्तिधाम से लिया हिरासत में, मां के अंतिम संस्कार में हुआ था शामिल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में ईडी लगातार अपना शिकंजा कस रही है। इसी कड़ी में आज ईडी ने अरविंद सिंह को हिरासत में लिया है। बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने शराब घोटाले मामले में लगातार बड़े अधिकारीयों एवं ठेकेदारों को गिरफ्तार कर रही है। आपको बता दे कि छत्तीसगढ़ में 2000 करोड़ के शराब घोटाले के मुख्य किरदार CSMCL के एमडी अरुणपति त्रिपाठी को ED ने मुंबई से गिरफ्तार कर रायपुर कोर्ट में पेश किया था। जिसके बाद आज उनके अघोषित असिस्टेंट अरविंद सिंह को हिरासत में लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक शराब घोटाले के मामले में फरार चल रहे ट्रांसपोर्टर अरविंद सिंह को भिलाई के रामनगर मुक्तिधाम सुपेला से ईडी ने पकड़ कर ले गई। अरविंद सिंह की मां कलावती देवी का रविवार को निधन हो गया था और सोमवार को अंतिम संस्कार किया गया। रामनगर मुक्तिधाम में अरविंद सिंह ने अपनी मां को मुखाग्नि दी। इसके बाद वहां पर सीआरपीएफ के साथ पहुंचे ईडी के अफसरों ने बलपूर्वक ने अरविंद सिंह को पकड़ा।

इस दौरान ईडी के द्वारा अरविंद सिंह को अंतिम संस्कार के पश्चात 2 मिनट के श्रद्धांजलि भी अर्पित करने का अवसर नहीं दिया जा रहा था परंतु अंतिम संस्कार में शामिल शहर के बड़े राजनीतिक हस्तियों के आग्रह पर ईडी के द्वारा अरविंद सिंह को श्रद्धांजलि सभा में शामिल होकर 2 मिनट मौन रखने की स्वीकृति दी गई। परंतु परिजनों के आग्रह के बाद भी अरविंद सिंह को कपड़े बदलने तक का अवसर नहीं दिया गया। ईडी अपने साथ अंतिम संस्कार के दौरान पहने गए वस्त्रों के साथ उठाकर ले गई।

रामनगर मुक्तिधाम में जब मां के अंतिम संस्कार में कलश में पानी लेकर चिता के जब अरविन्द सिंह फेरे ले रहा था। तभी ईडी की टीम लगभग सवा 12 बजे राम नगर मुक्तिधाम पहुंच गई और चिता को आग देने के बाद ईडी अधिकारी ने अरविंद सिंह से कुछ बात की और अपने साथ ईडी दफ्तर ले गई। मुक्तिधाम में ईडी के अफसर एवं सीआरपीएफ के जवानों सहित करीब 15 की संख्या में थे।

आपको बता दें कि अरविंद सिंह की माता के अंतिम संस्कार में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रेम प्रकाश पांडेय, विधायक देवेंद्र यादव सहित अनेक राजनीतिक लोग और ट्रांसपोर्टर्स शामिल हुए थे। अंतिम संस्कार के रिवाज हो रहे थे तभी ईडी टीम सीआरपीएफ जवानों के साथ रामनगर भिलाई मुक्तिधाम पहुंची और आपत्ति बाद ईडी अफसर ने बंद करने का आदेश सीआरपीएफ जवानों को दिया।

बता दें कि इससे पहले शराब घोटाले के मामले में एक और बड़े कारोबारी सूर्यकांत तिवारी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की गई थी। उसी से मिले इनपुट के आधार पर अरविंद सिंह को भी ईडी ने अपने रडार पर लिया और फिर उसके खिलाफ सबूत जुटाने के बाद मामले में उसकी संलिप्तता की पुष्टि की गई। अब उसी के आधार पर उसे पकड़ा गया है।

आपको बता दें कि भिलाई का शराब ट्रांसपोर्टर अरविंद सिंह भिलाई इस्पात संयंत्र का 9 मई को ईडी ने अरविंद सिंह के ठिकानों के आलावा होटल ग्रैंड ढिल्लन के मालिक त्रिलोक सिंह ढिल्लन के ठिकानों पर भी जांच की थी। बीएसपी कर्मी अरविंद सिंह ने व्यवसाय करने के लिए बाकायदा भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन से 3 वर्ष का अवकाश भी ले रखा है।

बताया जा रहा है कि आबकारी विभाग के अधिकारी एपी त्रिपाठी के सिंडिकेट में शामिल हो बड़ा शराब ट्रांसपोर्टर बन चुके अरविंद के भिलाई स्थित सूर्या अपार्टमेंट स्थित निवास पर ईडी के द्वारा मई में दबिश दी गई थी। बीएसपी सूत्रों के मुताबिक अरविंद सिंह ट्रांसपोर्ट एंड डीजल डीएनडी डिपार्टमेंट में मास्टर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है। अरविंद सिंह के द्वारा 1 अप्रैल 2020 को व्यवसाय करने के लिए 36 महीने अर्थात 3 वर्ष के लिए अवकाश लिया गया था। उसे 31 मार्च 2023 को ड्यूटी जॉइन करनी थी परंतु अभी तक जॉइनिंग नहीं की गई है। इसके लिए बीएसपी मैनेजमेंट ने अरविंद सिंह को नोटिस भी भेजा था।


Related Articles