Bhilai Times

दुर्ग-भिलाई और नांदगांव के लड़कों ने ढाबा में मचाया उत्पात, संचालक का पैर तक तोड़ दिए: चाय पीने को लेकर बवाल…सांसद पहुंचे मुलाकात करने, पुलिस पर भड़के

दुर्ग-भिलाई और नांदगांव के लड़कों ने ढाबा में मचाया उत्पात, संचालक का पैर तक तोड़ दिए: चाय पीने को लेकर बवाल…सांसद पहुंचे मुलाकात करने, पुलिस पर भड़के

भिलाई। दुर्ग-भिलाई समेत राजनांदगांव के लड़कों ने आज सुबह-सुबह खूब उत्पात मचाया है। दरअसल, ये सभी लड़के दुर्ग-राजनांदगांव जिले की सीमा से लगे देवादा स्थित ढाबे में खूब बवाल किया। जमकर ईंट-पत्थर फेंके गए। वहां रखी कुर्सियां और अन्य सामान तोड़ डाला। उपद्रवियों ने ढाबा संचालक और उसके भाई पर धारदार हथियार से भी वार किया।

दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है। राजनांदगांव सांसद संतोष पांडेय देवादा पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। उनके परिजनों से मेल-मुलाकात की और घटना के संबंध में विस्तृत बातचीत की। वहीं सोमनी थाने की पुलिस से इस पूरे मामले में क्या कार्रवाई की गई है, यह भी पूछा।

बताया गया है कि 10 से ज्यादा लड़कों के खिलाफ में कार्रवाई की जा रही है। जिनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। कुछ देर में नाम सामने आ जाएंगे। बताया जा रहा है कि अधिकांश लड़के दुर्ग-भिलाई और राजनांदगांव के हैं। सभी राजनांदगांव में चल रहे एक धार्मिक आयोजन में शामिल होने पहुंचे थे।

जानकारी के मुताबिक, राजनांदगांव-दुर्ग नेशनल हाईवे पर दीपक यादव का ‘हमारा ढाबा’ के नाम से ढाबा संचालित होता है। सुबह करीब 5.30 बजे 15-20 युवक ढाबे पर चाय पीने के लिए पहुंचे थे। चाय पीने के बाद जब बिल दिया गया तो युवक भड़क गए। ढाबा संचालक से ज्यादा रुपए लेने की बात कहते हुए विवाद शुरू हो गया। ढाबा संचालक दीपक ने बिल सही होने की बात कही। इसके बाद युवक रुपए देकर चले गए और मामला शांत हो गया।
बताया जा रहा है कि करीब डेढ़-दो घंटे बाद 150 से 200 लोगों की भीड़ पहुंची और ढाबे पर हमला कर दिया। इससे पहले कि ढाबा संचालक दीपक और उसका भाई गौरव कुछ समझ पाते भीड़ ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। इतने सारे लोगों को एक साथ देख ढाबे में काम कर रहे कर्मचारियों के होश उड़ गए। वह जान बचाकर वहां से भाग निकले। इस दौरान लोगों ने संचालक दीपक और उसके भाई को पकड़ लिया। दोनों को जमकर पीटा और धारदार हथियार से वार किया।

हमले की सूचना सोमानी थाना पुलिस को काफी देर बाद लगी। इस पर फोर्स को भेजा गया। हालांकि तब तक मामला शांत हो चुका था। दोनों भाइयों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ढाबे पर स्पेशल फोर्स के जवान तैनात किए गए हैं। बताया जा रहा है कि शहर के नजदीक ही एक धार्मिक आयोजन में लोग शामिल होने के लिए आए थे। उन्हीं में से कुछ लोग चाय पीने गए। इसके बाद उपद्रवियों ने ढाबे पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस समझौते के प्रयास में लगी है।

Related Articles