Bhilai Times

संस्कारी चोर: चोरी करने के पहले चोर ने की पूजा-अर्चना… फिर बैंक से गोल्ड और कैश लूटकर फरार हो गया… पर्ची भी छोड़ा, लिखा – ‘मैं बहुत खतरनाक हूं, मेरा पीछा मत करना’

संस्कारी चोर: चोरी करने के पहले चोर ने की पूजा-अर्चना… फिर बैंक से गोल्ड और कैश लूटकर फरार हो गया… पर्ची भी छोड़ा, लिखा – ‘मैं बहुत खतरनाक हूं, मेरा पीछा मत करना’

नई दिल्ली। आमतौर पर भारतीय नया बिजनेस शुरू करने से पहले या फिर घर या कार जैसी नई चीजें खरीदने के बाद पूजा करते हैं। यह एक अच्छा शगुन माना जाता है। लेकिन क्या आपने कभी ऐसे चोर के बारे में सूना है, जो चोरी से पहले पूजा करता हो? नहीं सुना… तो केरल की यह घटना आपको चौंका देगी!

दरअसल, यहां के कोल्लम (Kollam) जिले में चोरों ने बैंक लूटने से पहले शराब और पान के पत्तों के साथ विधिवत पूजा की, फिर 30 लाख रुपये का सोना और 4 लाख रुपये की नकदी चुरा ले गए।

नगदी और सोने के 100 सिक्के चुरा ले गए
‘मनोरमा ऑनलाइन’ की रिपोर्ट के अनुसार, चोरों ने यह लूट पठानपुरम में जनता जंक्शन के ‘पठानपुरम बैंकर्स’ (Pathanapuram Bankers) नामक एक प्राइवेट फाइनेंसियल इंस्टीट्यूशन में की। इस चोरी की जानकारी फाइनेंसियल इंस्टीट्यूशन के मालिक रामचंद्रन नायर ने दी। दरअसल, जब वो सोमवार की सुबह 9 बजे फर्म पहुंचे तो उन्होंने पाया कि दो लॉकर्स में रखी नगदी और सोने के 100 सिक्के गायब थे।

‘मैं बहुत खतरनाक हूं, मेरा पीछा मत करना’
मालिक की शिकायत पर जब पुलिस छानबीन के लिए घटनास्थल पर पहुंची तो उन्होंने पाया कि जिन लॉकरों में सोना और नगदी रखी थी, उसके पास पूजा की गई थी। वहां एक देवता की तस्वीर थी, शराब की बोतल, पान के पत्ते, पीला धागा, नींबू और छोटे से त्रिशूल जैसी कई चीजें मौजूद थीं। इनके साथ ही एक पर्ची भी थी जिस पर लिखा गया था, ‘मैं बहुत खतरनाक हूं, मेरा पीछा मत करना।’

गुमराह करने के लिए किया ये काम…
रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से लिखा है कि चोरों ने पुलिस डॉग्स को गुमराह करने के लिए कमरे में चारों तरफ इंसानी बाल फैला रखे थे। जाहिर है, लुटेरे छत के रास्ते तीन मंजिला इमारत की पहली मंजिल पर पहुंचे। मुख्य द्वार पर लोहे की ग्रिल तोड़ने के बाद, उन्होंने जबरदस्ती दरवाजा खोल दिया। दावा किया गया कि लुटेरों ने लॉकर खोलने के लिए कटर का इस्तेमाल किया था।



Related Articles