Bhilai Times

छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन एग्जाम की फिर से बढ़ गई उम्मीदें: NSUI के प्रदेश अध्यक्ष नीरज ने CM भूपेश से की मुलाकात, ज्ञापन सौंपने के बाद क्या बोले सीएम, पढ़िए खबर

छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन एग्जाम की फिर से बढ़ गई उम्मीदें: NSUI के प्रदेश अध्यक्ष नीरज ने CM भूपेश से की मुलाकात, ज्ञापन सौंपने के बाद क्या बोले सीएम, पढ़िए खबर

भिलाई/रायपुर। प्रदेशभर के कॉलेज स्टूडेंट्स लगातार ऑनलाइन एग्जाम की डिमांड कर रहे हैं। ये खबर उन्हें एक उम्मीद दे सकती है। क्योंकि सत्ता सरकार में काबिज कांग्रेस सरकार के छात्र विंग एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष नीरज पांडेय ने आज सीएम भूपेश बघेल से मुलाकात की। सीएम से मुलाकात कर नीरज ने एक ज्ञापन सौंपा है। इस ज्ञापन में उन्होंने मांग की है कि ऑनलाइन एग्जाम किया जाए।

दरअसल, प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन प्रणाली से परीक्षा कराने की मांग को लेकर एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष नीरज पांडेय के नेतृत्व में छात्र नेताओं ने देर शाम मुख्यमंत्री निवास पहुंचकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ज्ञापन सौंपकर ऑनलाइन प्रक्रिया से परीक्षा कराने की मांग की।

एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष नीरज पांडेय ने कहा कि कोरोना काल के कारण प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के महाविद्यालयों में ऑनलाइन प्रक्रिया से पढ़ाई हुई है। इसलिए जैसी शिक्षा वैसी परीक्षा के तहत परीक्षा प्रक्रिया भी ऑनलाइन कराई जाए। नीरज पांडे ने कहा कि दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षा एवं ग्रेजुएशन की परीक्षा में अंतर है।

दसवीं एवं बारहवी के विद्यार्थियों को भविष्य में उनके मार्कशीट एवं मान्यता को लेकर कही कोई व्यवधान उत्पन्न ना हो और उनके परीक्षा विधि की मान्यता छत्तीसगढ़ समेत अन्य प्रदेशों में भी बनी रहे जिसको ध्यान में रखते हुए उनकी ऑफलाइन परीक्षा ली जानी आवश्यक है। परंतु ग्रेजुएशन के विद्यार्थियों का विषय एवं हायर सेकेंडरी/सेकेंडरी का विषय भिन्न है।

कोरोना संक्रमण के चलते पूर्व सत्र की भांति इस सत्र में भी कालेज में पढ़ाई शून्य रही जिसके चलते किसी भी छात्र को पाठ्यक्रम तक की सही से जानकारी नहीं रही।

उस दौरान पढ़ाई को लेकर उच्च शिक्षा विभाग अथवा प्रशासन द्वारा भी बल नहीं दिया गया। जिसके चलते आज यह विकट परिस्थिति विद्यार्थियों के समक्ष उत्पन्न हुई है। ऐसे में ऑनलाइन एग्जाम करवाया जाना आवश्यक है।

इस दौरान एनएसयूआई पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा, एनएसयूआई प्रदेश उपाध्यक्ष अमित शर्मा, प्रदेश महासचिव अख्तर अली, राष्ट्रीय संयोजक हनी बग्गा, विनोद कश्यप, कृष्णा सोनकर, निखिल बंजारी, महताब हुसैन, विशाल राजपूत, केशव सिन्हा, जयंत बघेल समेत छात्र नेता मौजूद थे।

दुर्ग यूनिवर्सिटी की परीक्षा
इधर, दो दिन पहले ही हेमचंद यादव दुर्ग यूनिवर्सिटी ने स्पष्ट कर दिया है कि परीक्षा ऑफलाइन ही होगी। इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है।

दुर्ग यूनिवर्सिटी की ओर से जारी नोटिफिकेशन और टाइम-टेबल में कहा गया है कि, वार्षिक परीक्षा-2022 के अंतर्गत आयोजित होने वाली स्नातक, नियमित, प्राइवेट, भूतपूर्व, पूरक की परीक्षा के लिए टाइम-टेबल जारी कर दिया गया है।

बीए, बीएससी, बीकॉम, बी.लिब, बीसीए, बीएससीबीएड, बीएबीएड कक्षाओं की परीक्षा होने वाली है।द्ध 16 अप्रैल से परीक्षाएं आयोजित की जाएगी। परीक्षा ऑफलाइन होगी। पहली पाली सुबह 7 बजे से सुबह 10 बजे तक आयोजित होगी।

इस पाली में बीएससी, बीएससी गृहविज्ञान, बीएससी बीएड, बीसीए, बी.लिब के छात्र परीक्षा देंगे। वहीं दूसरी पाली सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक सिर्फ बीकॉम के छात्र एग्जाम देंगे। सबसे आखिरी पाली तीसरी पाली में बीए और बीएएएड के छात्र एग्जाम देंगे।

दुर्ग यूनिवर्सिटी ने यह भी बताया है कि परीक्षा केंद्रों/उपकेंद्रों की सूची विवि की वेबसाइट पर उपलब्ध है। सभी परीक्षा केंद्रों व उपकेंद्रों में कोविड गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। परीक्षार्थियों द्वारा एडमिट कार्ड 1 अप्रैल से डाउनलोड कर सकेंगे।


Related Articles