कोल घोटाले मामले में MLA देवेंद्र यादव की एंटीसिपेटरी बेल अर्जी खारिज, वकील ने झूठा मुकदमा होने की दी थी अपील… जेल में बंद निलंबित IAS समेत 7 आरोपी हुए स्पेशल कोर्ट में पेश, सौम्या चौरसिया ने…

  • सौम्या चौरसिया ने मेडिकल लगाकर कोर्ट आने में असमर्थता जताई

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बहुचर्चित कोयला घोटाले मामले में राजधानी रायपुर की स्पेशल कोर्ट में भिलाई नगर कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद विशेष न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत ने अर्जी खारिज की है। आपको बता दें, शनिवार को इस मामले में जेल में बंद आरोपियों को भी कोर्ट में पेश किया गया था। इनमें सस्पेंडेड IAS समीर विश्नोई, कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, सुनील अग्रवाल, शिवशंकर नाग, लक्ष्मीकांत तिवारी और दीपक टांक समेत राजेश चौधरी शामिल हैं। राज्य प्रशासनिक सेवा की निलंबित अधिकारी सौम्या चौरसिया ने मेडिकल लगाकर कोर्ट आने में असमर्थता जताई।

आपको बता दें, ED कोर्ट में कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान उनके वकील संजय श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया कि जो इनकम टैक्स का मुकदमा है, वही गलत है। ED का पूरा केस इनकम टैक्स के मुकदमे पर आधारित है। जब इनकम टैक्स का मुकदमा ही गैरकानूनी है तो ED का केस भी नहीं चलना चाहिए। वकील का कहना है कि यह चीज बाद में आएगी। जमानत पर कोर्ट के फैसले के बाद कानून के जो रास्ते हैं उसमें हम आगे बढ़ेंगे। आज कोर्ट में चार अहम आवेदन पत्रों पर सुनवाई हुई है। जिसमें प्रमुख रूप से विधायक देवेंद्र यादव की जमानत अर्जी जिस पर सुनवाई हुई। दूसरा आवेदन पत्र अरविंद सिंह का है जो शराब घोटाले में आरोपी है। उसकी तरफ से भी जमानत आवेदन आया। वहीं, विधायक देवेंद्र यादव के वकील का कहना था कि जो चैट और D यादव और D नवाज का नाम आया है उसमें से यह प्रूफ नहीं होता है कि यह पैसा देवेंद्र यादव तक पहुंचा है। ना ही कोई डायरेक्टर लिंक साबित होने के सबूत हैं। उन्होंने पहले चैट का जिक्र करते हुए कहा कि इसमें पैसों के लेन-देन का कोई जिक्र नहीं हुआ है।

इसके अलावा कोल स्कैम से जुड़े जो 10 आरोपी जो जेल में है उनके भी सेक्शन-50 स्टेटमेंट को आगे बढ़ते हुए आवेदन पेश किया गया है। ED के वकील सौरभ पांडेय ने बताया कि घोटाला वैसे तो 540 करोड़ का है लेकिन अब तक 220 करोड़ का पता चला है। इसलिए आगे कुछ सवाल जवाब की परमिशन के लिए हमने अर्जी दी है। वकील सौरभ पांडेय ने बताया कि हमने एक और आवेदन पत्र डाला है, जिसमें कोर्ट से आरोपी राम गोपाल अग्रवाल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की अपील की गई है।

इनपुट – दैनिक भास्कर डिजिटल

खबरें और भी हैं...
संबंधित

BSP वर्कर्स यूनियन की बैठक में सभी कर्मचारियों ने...

भिलाई। बीएससी वर्कर्स यूनियन ने अध्यक्ष उज्जवल दत्ता के नेतृत्व में बीएसपी वर्कर्स यूनियन के केन्द्रीय कार्यालय में बैठक कर सर्वसम्मति से सांसद विजय...

छत्तीसगढ़ में भाजपा विधि प्रकोष्ठ के प्रादेशिक सम्मेलन संपन्न…...

शिवप्रकाश बोले- कांग्रेस ने केवल गरीबी हटाओ का नारा दिया, मोदी सरकार ने 25 करोड़ लोगो की गरीबी से बाहर निकाला रायपुर। छत्तीसगढ़ में रविवार...

CG – भीषण सड़क हादसा: आमने-सामने दो बाइक की...

आमने-सामने दो बाइक की हुई जबरदस्त भिड़त बलरामपुर। छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में हुए भीषण सड़क हादसा हुआ है। हादसे में दो लोगों की जान...

शिव शक्ति सेवा समिति भिलाई की नेक पहल: 50...

भिलाई। शिव शक्ति सेवा समिति भिलाई के द्वारा एक नेक पहल की गई। भिलाई के कैम्प-1 में हीरा देवी नाम की महिला को उन्होंने...

ट्रेंडिंग